Saturday, 4 December, 2021
होमदेशपिंक लाइन पर ड्राइवरलेस मेट्रो शुरू, दुनिया में चौथे स्थान पर पहुंची दिल्ली मेट्रो

पिंक लाइन पर ड्राइवरलेस मेट्रो शुरू, दुनिया में चौथे स्थान पर पहुंची दिल्ली मेट्रो

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलााश गहलोत ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संयुक्त रूप से चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखायी.

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (डीएमआरसी) ने अपने नाम एक और उपलब्धि जोड़ते हुए बृहस्पतिवार को मेट्रो की 59 किलोमीटर लंबी पिंक लाइन पर चालक रहित ट्रेन संचालन शुरू किया.

अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही अब डीएमआरसी का चालक रहित मेट्रो का नेटवर्क 97 किलोमीटर लंबा हो गया है, जिससे दिल्ली मेट्रो दुनिया में ऐसे नेटवर्क के मामले में चौथे नंबर पर पहुंच गयी है.

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलााश गहलोत ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संयुक्त रूप से चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखायी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 28 दिसंबर को दिल्ली मेट्रो की मैजेंटा लाइन पर भारत के पहले चालक रहित ट्रेन संचालन का उद्घाटन किया था. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि पूर्ववर्ती सरकारों से अलग उनकी सरकार ने बढ़ते शहरीकरण को एक अवसर के तौर पर लिया है और मेट्रो ट्रेन सेवाओं को 2025 तक 25 शहरों तक बढ़ाया जाएगा, जो अभी 18 शहरों में है.

पुरी ने इस अवसर पर कहा, ‘एक साल से भी कम समय में हम डीएमआरसी नेटवर्क पर चालक रहित ट्रेन का दूसरा संचालन शुरू कर रहे हैं. मैंने दुनियाभर के प्रमुख शहरों में कई मेट्रो प्रणालियों को देखा है और मैं कह सकता हूं कि दिल्ली मेट्रो की तुलना दुनिया की सबसे अच्छी मेट्रो ट्रेन से की जा सकती है.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, ‘मुझे बताया गया कि कुआलालम्पुर में मेट्रो 97 किलोमीटर से थोड़े ही अधिक नेटवर्क पर चालक रहित ट्रेन संचालन के मामले में दुनिया में तीसरे स्थान पर है. डीएमआरसी के लिए मैजेंटा लाइन और पिंक लाइन पर कुल 97 किलोमीटर लंबे रास्ते पर चालक रहित मेट्रो के साथ दिल्ली मेट्रो विश्व में चौथे स्थान पर है और मलेशिया की राजधानी से थोड़ा ही पीछे है.’


यह भी पढ़े: रुपये की गिरावट जारी- अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 15 पैसे टूटा, सेंसेक्स 100 अंक नीचे


share & View comments