scorecardresearch
Thursday, 20 June, 2024
होमदेशराहुल गांधी के आवास पर पहुंची दिल्ली पुलिस, पवन खेड़ा और गहलोत समेत कई नेता भी मौजूद

राहुल गांधी के आवास पर पहुंची दिल्ली पुलिस, पवन खेड़ा और गहलोत समेत कई नेता भी मौजूद

राहुल गांधी के आवास के बाहर मौजूद कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा, 'पुलिस किस नियम के तहत 45 दिन पहले हुई भारत जोड़ो यात्रा का ब्यौरा लेने के लिए राहुल गांधी के आवास पर आ रही है. सरकार सोचती है कि वे जब चाहें हमारे घरों पर पुलिस भेज सकते हैं?'

Text Size:

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी के दिल्ली आवास पर दिल्ली पुलिस के अधिकारी रविवार को पहुंचे. स्पेशल सीपी लॉ एंड ऑर्डर सागर प्रीत हुड्डा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के आवास पर उन कथित यौन उत्पीड़न पीड़ितों के बारे में जानकारी मांगने के लिए पुलिस द्वारा दिए गए नोटिस के सिलसिले में पहुंचे, जिसका जिक्र उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान अपने भाषण में किया था.

हुड्डा ने कहा, ‘हमारे लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि क्या दिल्ली की कोई महिला थी जिसने अपना संदेश राहुल गांधी तक पहुंचाया, यह एक गंभीर मामला है. इसमें नाबालिगों के भी शामिल होने की संभावना हो सकती है.’

हुड्डा ने कहा, ‘इससे ​​पहले 15 मार्च को भी हम राहुल गांधी से मिलने आए थे लेकिन उनसे मुलाकात नहीं हो पाई थी. फिर 16 तारीख को हम राहुल गांधी के आवास पर आए और नोटिस दिया कि हम आज आएंगे.’

उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए राहुल गांधी का पक्ष जानना महत्वपूर्ण है ताकि पीड़ितों को न्याय मिल सके.’

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली पुलिस को घंटों इंतजार कराया जब वे वायनाड के सांसद को यौन उत्पीड़न पीड़ितों के बारे में जानकारी मांगने के लिए एक नोटिस सौंपने गए, जिसका जिक्र उन्होंने जनवरी में कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान अपने भाषण में किया था.

’15 मार्च को, दिल्ली पुलिस की एक टीम ने महिलाओं के साथ कथित यौन उत्पीड़न के संबंध में श्रीनगर में दिए अपने बयान पर राहुल गांधी को नोटिस देने के लिए तीन घंटे तक इंतजार किया. तीन घंटे के इंतजार के बाद भी राहुल गांधी पुलिस टीम से नहीं मिले.’

उन्होंने कहा, ‘दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी उन्हें नोटिस देने के लिए 16 मार्च को फिर से उनके आवास पर गए, जो उन्हें व्यक्तिगत रूप से डेढ़ घंटे के बाद प्राप्त हुआ.’

राहुल गांधी के आवास के बाहर मौजूद कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा, ‘पुलिस किस नियम के तहत 45 दिन पहले हुई भारत जोड़ो यात्रा का ब्यौरा लेने के लिए राहुल गांधी के आवास पर आ रही है. सरकार सोचती है कि वे जब चाहें हमारे घरों पर पुलिस भेज सकते हैं?’

‘हम भारत जोड़ो यात्रा के दौरान उल्लेखित घटनाओं से संबंधित सवालों के जवाब नियमानुसार देंगे.वे महिलाओं के लिए बात करना चाहते हैं… हाथरस, कठुआ में उन्होंने क्या कार्रवाई की? पुलिस के पीछे सरकार है और हम सरकार से नहीं डरते.’

‘वे संसद को चलने नहीं दे रहे हैं. ये सरकार डरी हुई है. राहुल गांधी की टिप्पणी को हर बार हटा दिया जाता है. यह अस्वीकार्य है. उन्होंने मुझे रोकने की कोशिश की और कहा कि तुम्हें अंदर जाने की अनुमति नहीं है. क्या कोई कर्फ्यू है? क्या धारा 144 लागू है?’


यह भी पढ़ेंः इंडिया को पहले भी मिल चुका है ऑस्कर, लेकिन इस बार बात कुछ और है


share & View comments