scorecardresearch
Thursday, 29 February, 2024
होमदेशअपराधआंतों का ‘कीमा’ बनाया, फ्रिज में कोल्ड ड्रिंक के साथ रखा सिर- शेफ ने कैसे अपनी प्रेमिका के शव को ‘छिपाया’

आंतों का ‘कीमा’ बनाया, फ्रिज में कोल्ड ड्रिंक के साथ रखा सिर- शेफ ने कैसे अपनी प्रेमिका के शव को ‘छिपाया’

आफताब पूनावाला ने कथित तौर पर मई में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर की गला घोंटकर हत्या कर दी थी. पुलिस का कहना है कि वह उसके शव के टुकड़ों को महीनों अपने घर में ही छिपाए रहा.

Text Size:

नई दिल्ली: अपनी लिव-इन पार्टनर को मारकर उसके 35 टुकड़े कर देने के आरोपी युवक ने जब उसके शव के टुकड़ों को रेफ्रिजरेटर में छिपाकर रखा था, उसी दौरान वह एक अन्य महिला के साथ डेट कर रहा था. दिप्रिंट को मिली जानकारी के मुताबिक वह उस महिला को अपने फ्लैट में भी लेकर गया था.

दिल्ली पुलिस के एक सूत्र ने कहा कि श्रद्धा वाकर की हत्या के मामले में संदिग्ध आरोपी 28 वर्षीय आफताब अमीन पूनावाला एक डेटिंग ऐप के जरिए एक अन्य महिला से भी मिला और उसे उसी फ्लैट में लेकर भी आया, जहां उसने अपनी मृत प्रेमिका का सिर और धड़ फ्रिज में छिपाकर रखा था. गौरतलब है कि 27 वर्षीय श्रद्धा के साथ भी उसकी जान-पहचान एक डेटिंग ऐप के जरिये ही हुई थी.

आफताब पूनावाला को 12 नवंबर को श्रद्धा के माता-पिता की तरफ से दर्ज कराई गई गुमशुदगी की रिपोर्ट के आधार पर हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस का दावा है कि उसने 18 मई को श्रद्धा के साथ एक झगड़ा होने के बाद उसकी हत्या कर दी थी. सूत्र ने बताया कि लड़का और लड़की दोनों महाराष्ट्र के मध्यमवर्गीय परिवारों से हैं. यह कपल दिल्ली में रहने के लिए आ गया था और हत्या से कुछ दिन पहले ही उन्होंने छतरपुर में एक फ्लैट किराए पर लिया था.

पुलिस सूत्रों का दावा है कि एक पांच सितारा होटल में बतौर शेफ ली गई ट्रेनिंग आफताब के लिए शव को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटने में मददगार रही, और इस भयावह इरादे को अंजाम देने के लिए उसने एक फुट लंबी आरी का इस्तेमाल किया.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इसके बाद उसने कथित तौर पर अगले कुछ महीनों में शव के टुकड़ों को छतरपुर पहाड़ी में अपने घर के पास एक जंगली इलाके में और साथ ही महरौली में कुछ अन्य स्थानों पर और कचरे के ढेर में फेंक दिया.

पूनावाला ने कथित तौर पर उसकी आंतों का कीमा बना दिया और शव को छोटे-छोटे हिस्सों में काटकर फ्रिज में स्टोर कर दिया, जो उसने इसी उद्देश्य से खरीदा था. पुलिस सूत्र ने दावा किया कि युवक ने फ्रिज में शव के टुकड़ों के साथ आइसक्रीम और कोल्ड ड्रिंक्स भी रख रखी थी.

पुलिस सूत्र ने दिप्रिंट को बताया, ‘इस डर से कि शरीर से बदबू आएगी, उसने पहले आंतों को फेंका. फ्रिज में फिट हो जाएं इसलिए शव को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट डाला और करीब 18-20 चक्करों में घर से रात लगभग 2 बजे निकलकर उन्हें ठिकाने लगाता रहा. सिर और धड़ का मुख्य हिस्सा अगस्त तक उसके फ्लैट में ही था.’

अमेरिकी ड्रामा सीरीज डेक्सटर—जिसमें एक सीरियल किलर को दोहरा जीवन जीते दिखाया गया है—के फैन आफताब ने कथित तौर पर पूछताछ करने वाले दिल्ली पुलिसकर्मियों को बताया कि श्रद्धा के शव के टुकड़े करने के बाद उसने ‘फर्श को डिटर्जेंट से साफ किया और दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए अगरबत्ती का इस्तेमाल किया.’

आरोपी ने कथित तौर पर गूगल पर ‘खून कैसे साफ करें’ और ‘शरीर को ठिकाने कैसे लगाएं’ आदि भी सर्च किया था.

किसी को शक न हो इसलिए पूनावाला कथित तौर पर 9 जून तक श्रद्धा के दोस्तों के इंस्टाग्राम पर संपर्क में रहा.

पुलिस सूत्रों ने बताया, ‘उसने श्रद्धा के बकाये के भुगतान के लिए उसके क्रेडिट कार्ड का भी इस्तेमाल किया ताकि किसी को उसके लापता होने का संदेह न होना सुनिश्चित हो सके.’

पुलिस का कहना है कि उन्होंने अब तक संदिग्ध शव के 13 टुकड़े बरामद किए हैं.

दिल्ली पुलिस के समक्ष दर्ज कराई गई अपनी प्रथम सूचना रिपोर्ट में महिला के पिता ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी का किसी दूसरे धर्म के युवक के साथ रिश्ता मंजूर नहीं था.

यह पूछे जाने पर कि क्या यह अपराध सांप्रदायिकता से जुड़ा मामला है, पुलिस सूत्र ने कहा कि वे ‘हर एंगल से जांच की जा रही है.’


यह भी पढे़ं: गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने कहा, मैंने दिया था बरगाड़ी बेअदबी मामले के आरोपी की हत्या का आदेश


पहले रोमांस और फिर हत्या

आफताब पूनावाला होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर चुका एक ग्रेजुएट है जो फूड फोटोग्राफर था. वह अपने इंस्टाग्राम पर विभिन्न रेस्तरां को प्रोमोट करता था. उनका इंस्टा फीड तरह-तरह के फूड की तस्वीरों से भरा पड़ा है.

पुलिस सूत्रों ने दिप्रिंट को बताया कि आफताब और श्रद्धा 2019 में एक डेटिंग ऐप के जरिये मिले थे और फिर बाद में उन्होंने एक साथ ही एक कॉल सेंटर ज्वाइन किया. पुलिस ने कहा कि श्रद्धा का परिवार कथित तौर पर इस रिश्ते के खिलाफ था, लेकिन उनके विरोध के बावजूद दोनों ने साथ रहने का फैसला किया.

उत्तराखंड और हिमाचल की ट्रिप के बाद यह कपल 8 मई को दिल्ली आ गया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि 15 मई को उन्होंने हत्या से तीन दिन पहले छतरपुर में एक फ्लैट लिया था.

पुलिस सूत्र ने बताया कि श्रद्धा की हत्या के एक दिन बाद आफताब ने डीलर को 19,000 रुपये का ऑनलाइन भुगतान करके एक फ्रिज खरीदा ताकि वह शव के टुकड़ों को उसमें स्टोर कर सके और इसका सामान्य रूप से उपयोग करना जारी रखा.

सूत्र के मुताबिक, शव के टुकड़ों को ठिकाने के लगाने के लिए आफताब कम से कम 27 बार महरौली गया. वह कथित तौर पर शव के टुकड़ों को पॉलिथीन में भरकर जंगल वाले इलाकों की तरफ ले जाता और वहां की थैलियों से बाहर निकालकर फेंक देता था ताकि ‘जानवर उन्हें खा डालें.’

सूत्र के मुताबिक, ‘वह चाहता था कि जानवर शव के टुकड़ों को खा लें, इसलिए उन्हें बाहर निकालकर फेंक देता था और फिर काले पॉलीथीन बैग को कूड़ेदान में डाल देता था.’

सूत्र ने बताया कि सिर और धड़ के मुख्य हिस्से को उसने अंत तक अपने फ्लैट में ही रखा और कथित तौर पर अगस्त में उन्हें भी ठिकाने लगा दिया.

इस बीच, पूनावाला कथित तौर पर किसी और लड़की से भी मिला था और उसे डेट कर रहा था. सूत्र ने कहा, ‘वह उस लड़की को अपने फ्लैट में भी लेकर आया था.’ यही नहीं हत्या के 15 दिन बाद उसने एक कॉल सेंटर भी ज्वाइन कर लिया था.

‘बहुत ज्यादा बिगड़ चुके थे रिश्ते’

14 फरवरी को वैलेंटाइन डे पर श्रद्धा वाकर ने इंस्टाग्राम पर अपने बॉयफ्रेंड के साथ एक फोटो शेयर की थी. इस पोस्ट के साथ कैप्शन में लिखा था, ‘हैप्पी कपल.’

हालांकि, दिल्ली पुलिस का कहना है कि आफताब और श्रद्धा के बीच रिश्ते शुरू से ही थोड़े बिगड़े हुए थे.

आफताब ने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की, उस दिन कथित तौर पर इस कपल के बीच काफी झगड़ा हुआ था क्योंकि श्रद्धा शादी करने पर जोर दे रही थी. उसने उस पर धोखा देने का आरोप भी लगाया था.

सूत्र ने बताया, ‘शादी और पैसों के लेकर उनके बीच झगड़ा हुआ था और उन्हें एक-दूसरे पर भरोसा भी नहीं रह गया था. समय-समय पर वे एक-दूसरे से अपनी करंट लोकेशन साझा करने और वीडियो कॉल करने को कहते थे. विवाह एकमात्र मुद्दा नहीं था. पैसों को लेकर भी दोनों में झगड़े होते रहते थे. क्योंकि अक्सर उनके पास पैसे खत्म हो जाते थे. उन्होंने दूसरे अफेयर को लेकर एक-दूसरे पर संदेह करना भी शुरू कर दिया था.’

छतरपुर पहाड़ी क्षेत्र की गली नंबर-1 में रहने वाले पड़ोसियों ने दिप्रिंट को बताया कि उन्होंने आफताब को तो अक्सर ही देखा था, लेकिन श्रद्धा को कभी नहीं देखा. मौत से एक हफ्ते पहले की अपनी आखिरी इंस्टाग्राम पोस्ट में श्रद्धा एक किताब पढ़ते नजर आ रही है.

अक्टूबर में श्रद्धा कुछ दोस्तों ने उसके परिवार को इस बारे में अलर्ट किया क्योंकि उनका कुछ महीनों से उसके साथ कोई संपर्क नहीं हुआ था. इसके बाद ही परिवार ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए मुंबई पुलिस से संपर्क साधा.

श्रद्धा के मोबाइल की लोकेशन दिल्ली में ट्रेस होने के बाद मुंबई पुलिस ने कथित तौर पर आफताब पूनावाला को पूछताछ के लिए मुंबई बुलाया. उसने पुलिस को यही बताया कि श्रद्धा उसे छोड़कर चली गई है. सूत्रों ने कहा कि उसने अपने मकान मालिक को भी यही कहानी सुनाई थी.

कुछ दिनों बाद मामला अपने हाथ में आने पर दिल्ली पुलिस ने 10 नवंबर को श्रद्धा के पिता की शिकायत के आधार पर एक एफआईआर दर्ज की. दो दिन चली पूछताछ के बाद आफताब को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने उस फ्रिज को भी जब्त कर लिया जिसमें उसने कथित तौर पर शव के टुकड़े छिपाए थे.

अनुवाद: रावी द्विवेदी)

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़नें के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: महरौली के जंगल में मिले युवती के शव के संदिग्ध हिस्से, हत्या के आरोप में प्रेमी गिरफ्तार


share & View comments