scorecardresearch
Sunday, 23 June, 2024
होमदेशदिल्ली की एक अदालत ने दी आफताब पूनावाला के नार्को टेस्ट की मंजूरी, पुलिस हिरासत भी 5 दिन के लिए बढ़ी

दिल्ली की एक अदालत ने दी आफताब पूनावाला के नार्को टेस्ट की मंजूरी, पुलिस हिरासत भी 5 दिन के लिए बढ़ी

दिल्ली पुलिस ने पूनावाला का नार्को टेस्ट कराने के लिए याचिका दायर की थी. आरोपी ने जज के सामने इस परीक्षण के लिए अपनी सहमति दे दी.

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या के आरोपी आफताब पूनावाला की पुलिस हिरासत बढ़ा दी और उसका नार्को टेस्ट कराने की भी मंजूरी दे दी. 28-वर्षीय आरोपी को अगले पांच दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

दिल्ली पुलिस ने पूनावाला का नार्को टेस्ट कराने की याचिका दायर की थी और उसने न्यायाधीश के सामने टेस्ट के लिए अपनी सहमति दे दी है.

नार्को एनालिसिस एक ऐसा परीक्षण है जिसमें एक इंजेक्शन दिया जाता है, जो सब्जेक्ट (इसे लगाने वाले) में एक तरह की हिप्नोटिक स्थिति उत्पन्न करता है. इस परिक्षण को करवाने के लिए न्यायालय से अनुमति लेना अनिवार्य होता है और कर्ता (जिस पर यह परीक्षण किया जा रहा है) की लिखित सहमति भी चाहिए होती है.

गुरुवार का घटनाक्रम पुलिस के यह कहने के बाद हुआ कि उसे पूनावाला पर उन्हें गुमराह करने का संदेह है और साथ ही यह टेस्ट इस बात का आकलन करने के लिए भी किया जा रहा है कि क्या वह सच कह रहा है. दिल्ली पुलिस ने अदालत से कहा था कि वे उसे जांच के लिए पहले हिमाचल प्रदेश की पार्वती घाटी और फिर उत्तराखंड ले जाएंगे. इस साल अप्रैल में मुंबई से निकलने के बाद और दिल्ली आने से पहले इस जोड़े ने इन दोनों जगहों की यात्रा की थी

पूनावाला को दिल्ली पुलिस ने 12 नवंबर को गिरफ्तार किया था. यह गिरफ्तारी उस घटना के छह महीने से अधिक समय के बाद हुई है, जिसके तहत उसने कथित तौर पर वालकर की गला दबाकर हत्या कर दी थी और फिर उसके शव के अंगों को ठिकाने लगाने से पहले उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया था.

वालकर के पिता ने अक्टूबर में मुंबई पुलिस से यह कहते हुए संपर्क किया था कि उनकी लंबे समय से उसके साथ कोई बात नहीं हुई है. इसके बाद मुंबई पुलिस ने दिल्ली में अपने समकक्ष अधिकारियों से संपर्क किया, जिसके बाद वालकर के पिता ने शिकायत दर्ज कराई थी.

दिल्ली के साकेत स्थित कोर्ट रूम में कुछ वकीलों को पूनावाला को फांसी देने की मांग करते हुए नारेबाजी करते सुना गया. आरोपी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया.

सूत्रों के अनुसार पूनावाला और वालकर के दिल्ली स्थित किराए के अपार्टमेंट में खून के निशान मिले हैं और इन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. पुलिस ने दिल्ली नगर निगम की उस वैन का भी पता लगा लिया है जिस पर आरोपी ने कथित तौर पर खून से सने कपड़े फेंके थे. मृतका का सिर, धड़ और हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार – एक आरी – जिसे कथित तौर पर वालकर के शरीर को काटने के लिए प्रयोग किया गया था, अभी तक बरामद नहीं किए जा सकें हैं. संभावित रूप से उसी के शरीर के अंग माने जाने वाले कुछ हिस्से बरामद किए गए हैं और उन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

(संपादनः हिना फ़ातिमा)
(अनुवादः रामलाल खन्ना)


यह भी पढ़ेंः गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, फ्री इलाज, फ्री बिजली, बेरोजगारी भत्ता समेत कई वादे


 

share & View comments