scorecardresearch
Tuesday, 28 May, 2024
होमदेशदिल्ली सहित उत्तर भारत में अगले दो दिनों तक शीतलहर का प्रकोप, खराब मौसम के साथ छाया रहेगा घना कोहरा

दिल्ली सहित उत्तर भारत में अगले दो दिनों तक शीतलहर का प्रकोप, खराब मौसम के साथ छाया रहेगा घना कोहरा

मौसम विभाग ने शनिवार को अगले पांच दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार में घने कोहरे की भविष्यवाणी की थी.

Text Size:

नई दिल्ली: मौसम विभाग ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी सहित उत्तर भारत के कई हिस्सों में बुधवार तक भीषण शीतलहर का प्रकोप रहने की संभावना है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में आज और कल पारा 3 डिग्री सेल्सियस पर बना रहेगा. वहीं 18 जनवरी को तापमान 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जाएगा, जो दिल्लीवासियों को शीत लहर की स्थिति से राहत देने वाला नहीं है.

दिल्ली के साथ ही राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में 17 और 18 जनवरी को शीतलहर की संभावना है.

मौसम विभाग ने शनिवार को अगले पांच दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार में घने कोहरे की भविष्यवाणी की थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कड़ाके की ठंड को देखते हुए, उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में जिला प्रशासन ने 17 जनवरी तक स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया और मेरठ में जिला प्रशासन ने कक्षा 8 तक स्कूल बंद रखने का आदेश पारित किया है.

केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ ने भी कड़ाके की ठंड और कोहरे को ध्यान में रखते हुए आठवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए शीतकालीन अवकाश बढ़ा दिया गया है.

विशेष रूप से, आईएमडी ने अगले पांच दिनों के लिए देश के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में घने कोहरे और कम दृश्यता की भविष्यवाणी की है.

आईएमडी ने भविष्यवाणी की कि उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में हिमालय से आने वाली उत्तर-पश्चिमी हवाओं के कारण, अगले दो दिनों के दौरान उत्तर-पश्चिम और आसपास के मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है.

भारतीय रेलवे ने सोमवार को जानकारी दी कि कोहरे के कारण उत्तर रेलवे क्षेत्र में 13 ट्रेनें देरी से चल रही हैं.


यह भी पढ़ें: भारत का ग्रीन GDP सुधर रहा है मगर पर्यावरण की सुरक्षा के लिए कड़े कदम जरूरी हैं


 

share & View comments