Wednesday, 25 May, 2022
होमदेशअपराध'सुल्ली-बुली' के बाद अश्लील क्लब हाउस चैट में मुस्लिम महिलाओं को बनाया गया निशाना, FIR दर्ज

‘सुल्ली-बुली’ के बाद अश्लील क्लब हाउस चैट में मुस्लिम महिलाओं को बनाया गया निशाना, FIR दर्ज

ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक क्लब हाउस चैट रूम की वीडियो रिकॉर्डिंग में लगभग 18-20 प्रतिभागियों को दिखाया गया है. सोमवार को ऑडियो चैट प्लेटफॉर्म पर हुई इस भद्दी चर्चा के संबंध में अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

Text Size:

नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘क्लब हाउस’ पर सोमवार दोपहर को एक चैट रूम में इस बारे में ‘चर्चा’ की गई कि कैसे और क्यों ‘मुस्लिम लड़कियां हिंदू लड़कियों से ज्यादा खूबसूरत होती हैं’ और कैसे उनके साथ यौन संबंध बनाना ‘सनातन धर्म’ का अनुपालन करने वालों के ‘सदगूण’ और ‘पुण्य कर्मों’ में बढ़ोत्तरी करता है.

इस चैट रूम में हो रही अश्लील बातों की ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो रिकॉर्डिंग में लगभग 18-20 प्रतिभागियों को ‘मुस्लिम महिलाओं के गुलाबी निजी अंगों’, ‘बाबरी मस्जिद’, ‘घर वापसी (हिंदू धर्म में धर्मान्तरण)’,  ‘ओडिपस कॉम्प्लेक्स’ जैसे बातों के साथ-साथ इस्लामोफोबिक (इस्लाम के प्रति घृणा और पूर्वाग्रह) और सेक्सिस्ट (लिंग के आधार पर भेदभाव वाली) टिप्पणियां करते हुए दिखाया गया है.

मंगलवार को दिल्ली महिला आयोग ने इस बारे में कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए दिल्ली पुलिस को एक पत्र लिखा.

जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 153ए (धर्म, भाषा, नस्ल वगैरह के आधार पर लोगों में नफरत फैलाने की कोशिश), 295ए (धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने), 354ए (यौन उत्पीड़न) के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली है.

‘क्लबहाउस’ के सामुदायिक दिशानिर्देश इस बात पर जोर देते हैं कि, ‘आप किसी भी व्यक्ति या लोगों के समूह के खिलाफ भेदभाव नहीं कर सकते हैं, किसी घृणित आचरण में शामिल नहीं हो सकते हैं, या किसी को हिंसा या नुकसान की धमकी नहीं दे सकते हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

दिप्रिंट ने ईमेल द्वारा ‘क्लब हाउस’ से संपर्क किया लेकिन इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने तक उनकी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली थी.

‘क्लब हाउस’ चैट वाली यह घटना ‘गिटहब’ पर बनाई गई ‘सुल्ली डील्स‘ और ‘बुली बाई‘ वेबसाइट/ऐप वाले विवाद – जिसके तहत मुस्लिम महिलाओं की सहमति के बिना उनकी तस्वीरें इन ऐप्स पर अपलोड कर दी गईं थीं और उन्हें ‘नीलामी’ के लिए पेश किया गया था – के तुरंत बाद हुई है. दिल्ली पुलिस ने इन दो पोर्टलों के पीछे के कथित मास्टरमाइंड्स को गिरफ्तार किया है जबकि ‘ मुंबई पुलिस ने तीन अन्य को बुली बाई’ एप से जुड़े होने के संदेह में गिरफ्तार किया है.


यह भी पढ़े: बुल्ली बाई ऐप मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR, IT मंत्री ने कहा- यूज़र को किया ब्लॉक


ओडिपस कॉम्प्लेक्सबाबरी विध्वंस

वीडियो रिकॉर्डिंग के अनुसार, यह चर्चा इस बात पर केंद्रित थी कि कैसे मुस्लिम महिलाएं कथित तौर पर मुस्लिम हैं हीं नहीं और एक यूजर ‘हर्ष’ ने कहा कि यह विषय हीं गलत है क्योंकि ‘सभी मुस्लिम लड़कियां वास्तव में हिंदू हैं’.

इस यूजर को यह कहते हुए सुना जाता है कि ‘देखिए, जब मेरे जैसे लोग, आरएसएस के भक्त, मुल्लियों (मुस्लिम महिलाओं के लिए प्रयोग होने वाला एक अपमानजनक शब्द) से शादी करते हैं तो वो अंततः हिंदू बन जाएंगी.’  इसके साथ ही अन्य लोग तालियां बजाते हैं और ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते हैं.

एक महिला यूजर, ‘रोमा’, कहती है कि ‘70 प्रतिशत मुसलमान धर्मांतरित हैं.’ फिर उसे एक पुरुष यूजर ‘बिस्मिल्लाह’, टोकता है जो कहता है, ‘अगर हिंदू पुरुष किसी मुस्लिम महिला के साथ यौन संबंध बनाते हैं (महिलाओं के गुप्तांगों का जिक्र करते हुए) तो हमारे सारे ‘बुरे कर्म’ धुल जाते हैं. क्या आप लोगों ने पहले यह बात सुनी है?’

एक अन्य यूजर, ‘किरा एक्सडी’, पहले की किसी चर्चा के बारे में बात करता है जिसमें एक महिला प्रतिभागी ने कहा था कि किसी मुस्लिम महिला के साथ यौन संबंध (अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए) बनाना अच्छे कामों के मामले में ‘सात मंदिर बनाने’ के बराबर है. यह यूजर आगे पूछता है कि क्या इस चैट रूम में कोई मुस्लिम महिला भी मौजूद है.

एक अन्य प्रतिभागी फिर उसकी बात को ‘सही’ करते हुए कहता है – ‘सात मंदिर नहीं, बल्कि बाबरी मस्जिद को गिराने जैसा काम’. अन्य यूजर उसकी इस टिप्पणी की सराहना करते हैं.

वीडियो से पता चलता है कि इस ‘क्लब हाउस’ चैटरूम की विषयवस्तु में हिंदू महिलाओं के बारे में सेक्सिस्ट टिप्पणियां भी शामिल हैं जिसमें पुरुष उनके निजी अंगों के रंग के बारे में टिप्पणी करते हैं. एक यूजर जो खुद को एक ‘हिंदू ब्राह्मण’ के रूप में बताता है अपनी मुस्लिम मां के प्रति अपनी ‘ओडिपल फीलिंग्स’ (अपने विपरीत लिंग वाले माता-पिता के प्रति बच्चे के मन में उपजी लालसा और अपने समान लिंग वाले माता-पिता के प्रति ईर्ष्या और क्रोध की भावना) का वर्णन करता है और अन्य प्रतिभागियों से पूछता है कि वह कैसे उसका दिल जीत सकता है.

दूसरों के साथ-साथ, ‘बिस्मिल्लाह’, ‘किरा एक्सडी’ और ‘सल्लोस’ नाम के एक अन्य प्रतिभागी ने अब इस ऑडियो चैट प्लेटफॉर्म पर अपनी आईडी को बंद कर दी है.

यह कोई पहली बार नहीं है जब ‘क्लब हाउस’ पर बना कोई चैट रूम नफरत फ़ैलाने वाली, सेक्सिस्ट और भद्दी टिप्पणियों वाले एक प्लेटफॉर्म के रूप में सामने आया है.

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)


यह भी पढ़ें: सुल्ली डील्स मामले के आरोपी के पिता ने कहा- बेटे को फंसाया जा रहा, केवल एक शख्स के बयान पर गिरफ्तार किया


share & View comments