news on kannada-actors on producers
(बायें से अभिनेता शिवाराज कुमार, पुनीत, यश और सुदीप)
Text Size:
  • 32
    Shares

बेंग्लुरु: आयकर विभाग (आईटी) ने बुधवार को चार बड़े कन्नड़ फिल्म कलाकारों और तीन प्रमुख निर्माताओं के आवास पर एक साथ छापे की राज्यव्यापी कार्यवाई की. कन्नड़ फिल्म उद्योग की बड़ी शख्सियतें आईटी अधिकारियों के दरवाज़ा खटखटाने पर जागीं.

कन्नड़ नाटककार स्वर्गीय राजकुमार के बेटे शिवाराज कुमार व पुनीथ और यश व सुदीप आईटी स्कैनर की शिकंजे में आए. आईटी विभाग के सूत्रों के अनुसार यह छापे अगले कुछ दिनों तक पूरे बेंग्लुरु के 28 अलग-अलग जगहों पर जारी रहेंगे.

शिकायत मिली थी

आईटी विभाग के सूत्रों ने कहा कि कन्नड़ फिल्म निर्माता ‘रॉकलाइन’ वेंकटेश, विजय किरागंधूर, जयन्ना और सीआर मनोहर के यहां भी छापेमारी हुई.

एक सूत्र ने दि प्रिंट को बताया कि इन अभिनेताओं और निर्माताओं के पास विलेन, केजीएफ जैसी हिट फिल्मों की एक श्रृंखला रही है. हमें आरोप के साथ एक शिकायत मिली थी कि इनमें से कोई निर्माता फायदा कमा रहा, जिसकी घोषणा विभाग से नहीं की गई है. हो सकता है कि इन्होंने इन फिल्मों में कालेधन का भी इस्तेमाल किया हो, जिसके बाद इन दावों के पीछे की सत्यता का पता लगाने के लिए ये छापे किए गये.

आईटी विभाग ने इस छापेमारी पर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है. कर्नाटक पुलिस जो कि छापेमारी के दौरान आईटी विभाग की मदद कर रही थी, वह भी घटनाक्रम पर चुप्पी साधे हुए है.

सुदीप, जो कि एक जाने माने कलाकार हैं, आईटी के छापे पर मीडिया को संबोधित करने वाले पहले शख्स थे. उन्होंने कहा, उनका मानना है कि छापे उनकी फिल्म विलेन और केजीएफ चैप्टर 1 और नत्सरवाभौमा से जुड़े हैं.

सुदीप का कहना है कि उन्हें विश्वास नहीं कि छापे राजनीति से प्रेरित थे. उन्होंने कहा कि आईटी के अधिकारी उन सभी के घरों की तलाशी ले रहे थे, जो भी इन फिल्मों के निर्माण में शामिल हैं.

(पीटीआई से इनपुट्स के साथ)


  • 32
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here