Monday, 23 May, 2022
होमदेशकांग्रेस ने कहा- लोकतंत्र बचाने के लिए गंभीर हैं PM, तो अजय मिश्रा को 24 घंटों में बर्खास्त करें

कांग्रेस ने कहा- लोकतंत्र बचाने के लिए गंभीर हैं PM, तो अजय मिश्रा को 24 घंटों में बर्खास्त करें

पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस समय ‘राजधर्म’ का पालन करना चाहिए.

Text Size:

नई दिल्ली : कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर शनिवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए गंभीर हैं तो उन्हें आरोपी आशीष मिश्रा के पिता अजय मिश्रा को गृह राज्य मंत्री के पद से 24 घंटों के भीतर बर्खास्त करना चाहिए.

पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस समय ‘राजधर्म’ का पालन करना चाहिए.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘गोरखपुर से लखीमपुर तक के सफर से स्पष्ट है कि भाजपा का शासन शक्तिशाली व्यक्तियों के सामने झुक जाता है…इस समय न सिर्फ मोदी जी, बल्कि उत्तर प्रद्रेश के मुख्यमंत्री को भी राजधर्म याद आना चाहिए और उसका पालन करना चाहिए.’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘सुना है कि गृह राज्य मंत्री के पुत्र की गिरफ्तारी हुई है. उच्चतम न्यायालय ने कल सवाल किया था कि धारा 302 के सभी आरोपियों के साथ ऐसे ही व्यवहार किया जाता है. ऐसी स्थिति क्यों आई कि न्यायालय को यह टिप्पणी करनी पड़ी?’

उन्होंने कहा, ‘गृह राज्य मंत्री अपने पद पर बने हुए है. कांग्रेस की सरकार के समय किसी पर आरोप लगा, बाद में भले न साबित हुआ, लेकिन हमने इस्तीफा लिया। हमारी मांग है कि अजय को बर्खास्त किया जाए.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

खेड़ा ने जोर देकर कहा, ‘अगर प्रधानमंत्री लोकतंत्र की रक्षा करने में गंभीर हैं और खुद को सक्षम मानते हैं तो अगले 24 घंटों में गृह राज्य मंत्री का इस्तीफा होना चाहिए या उनको बर्खास्त किया जाना चाहिए.’

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध करने के दौरान हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी. इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

share & View comments