Wednesday, 29 June, 2022
होमएजुकेशनCBSE ने जारी किए दसवीं कक्षा के पहले टर्म की परीक्षा के नतीजे

CBSE ने जारी किए दसवीं कक्षा के पहले टर्म की परीक्षा के नतीजे

बोर्ड ने पहले चरण की परीक्षा को लेकर किसी विवाद की सुनवाई के लिए ऑनलाइन विवाद निपटारा तंत्र की व्यवस्था की है और यह तत्काल उपलब्ध हो गया है.

Text Size:

नयी दिल्लीः केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं कक्षा की पहले चरण की परीक्षा के नतीजों की जानकारी स्कूलों को दे दी है. यह जानकारी बोर्ड द्वारा जारी आदेश में दी गई है.

उल्लेखनीय है कि पिछले साल सीबीएसई ने घोषणा की थी कि वर्ष 2022 में बोर्ड की परीक्षा दो चरण में होगी. पहले चरण में मुख्य विषयों की परीक्षा पिछले साल 30 नवंबर से 11 दिसंबर के बीच हुई थी.

बोर्ड ने बताया कि पहले चरण और दूसरे चरण की परीक्षा के भारांक का निर्णय दूसरे चरण की परीक्षा के नतीजे घोषित करने के दौरान किया जाएगा और उसी के अनुरूप अंतिम प्रदर्शन की गणना की जाएगी.

सीबीएसई द्वारा 11 मार्च को जारी परिपत्र में कहा गया, ‘बोर्ड, स्कूलों को 10वीं कक्षा के उनके विद्यार्थियों के सैद्धांतिक प्रदर्शन के बारे में सामूहिक रूप से अवगत करा रहा है. इसलिए विद्यार्थियों के प्रदर्शन की व्यक्तिगत जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है.

बोर्ड ने कहा कि केवल ‘थ्योरी’ के अंक भेजे गए हैं क्योंकि आंतरिक मूल्यांकन और प्रायोगिक परीक्षाओं के नतीजे पहले ही स्कूलों के पास हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

बोर्ड ने कहा कि चूंकि ये पहले चरण की ही परीक्षा है, इसलिए कोई अंकपत्र या पास होने का प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया है और वे दूसरे चरण की परीक्षा के उपरांत ही जारी किए जाएंगे.

बोर्ड ने पहले चरण की परीक्षा को लेकर किसी विवाद की सुनवाई के लिए ऑनलाइन विवाद निपटारा तंत्र की व्यवस्था की है और यह तत्काल उपलब्ध हो गया है.

परिपत्र के मुताबिक, ‘शिकायत के लिये ऑनलाइन लिंक 26 मार्च तक कार्य करेगा लेकिन विवाद का निराकरण दूसरे चरण की परीक्षा के बाद ही होगा.’

बोर्ड ने कहा कि उन विद्यार्थियों के प्रदर्शन को साझा नहीं किया गया है, जो कोविड या किसी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय परीक्षा या खेल में शामिल होने की वजह से पहले चरण की परीक्षा नहीं दे पाए हैं.

बोर्ड ने कहा कि ऐसे विद्यार्थियों का अंतिम मूल्यांकन दूसरे चरण की परीक्षा में उनके प्रदर्शन के आधार पर होगा. परिपत्र में कहा, ‘पहले चरण की परीक्षा में प्रश्न प्रत्रों के दो सेट के बीच कठिनाई के स्तर को दूर करने के लिए जरूरी कदम अंतिम नतीजे तैयार करने के वक्त उठाए जाएंगे.’

परिपत्र के मुताबिक जिन विद्यार्थियों को रिपीट/कम्पार्टमेंट/ उत्तीर्ण श्रेणी में रखा गया है उनके नतीजे दूसरे चरण की परीक्षा के बाद ही घोषित किए जाएंगे. कम्पार्टमेंट परीक्षा दूसरे चरण की परीक्षा के पाठ्यक्रम के आधार पर ली जाएगी.

बोर्ड ने इसके साथ ही स्पष्ट किया है कि वह दूसरे चरण की परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र बदलने का विकल्प नहीं देगा.

सीबीएसई ने कहा कि पत्राचार या प्राइवेट उम्मीदवार चूंकि दूसरे चरण की परीक्षा में ही शामिल होंगे उनकी प्रायोगिक और सैद्धांतिक परीक्षा के अंक यथानुपात के आधार पर दिए जाएंगे.

भाषा धीरज दिलीप

दिलीप

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments