news on politics
Text Size:
  • 1.6K
    Shares

नई दिल्ली: बिहार के अररिया जिले में गाय चोरी के शक में एक 55 बुजुर्ग की पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है. सोशल मीडिया पर 29 दिसंबर का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसके आधार पर इस घटना की पुष्टि हुई है. घटना सिकटी थाना क्षेत्र के सिमरबनी गांव की है. इसके पहले बुधवार को बिहार के नालंदा में ​ही एक नाबालिग समेत दो लोगों की पीट कर हत्या कर दी गई थी. यानी बीते दो दिनों में बिहार में तीन लोगों को भीड़ द्वारा पीटकर मार डालने की घटनाएं सामने आई हैं.

एनडीटीवी की वेबसाइट पर प्रकाशित एक खबर के मुताबिक, ‘रात में करीब 300 लोगों की भीड़ ने पशु चोरी के शक में 55 साल के बुजुर्ग काबुल की पीट-पीटकर हत्या कर दी. भीड़ द्वारा काबुल को मारे जाने का वीडियो भी वायरल हुआ है. इसमें काबुल भीड़ से जान की भीख मांग रहा है. लेकिन भीड़ उसे तब तक मारती रही, जब तक उसकी जान नहीं चली गई.’

भीड़ बुजुर्ग को डंडे से पीट रही थी और उसे चोर कह रही थी. खबर के मुताबिक, वीडियो में मुस्लिम मियां नाम का युवक हमलावरों का नेतृत्व करता दिख रहा है. वह हंसते हुए भीड़ को हमले के लिए उकसा रहा है. वीडियो में कई हमलावरों के चेहरे साफ नजर आ रहे हैं, लेकिन पुलिस ने उनमें से अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया है. काबुल रोते हुए भीड़ से कहता रहा कि उसने कोई पशु चोरी नहीं की है लेकिन उसकी बात नहीं सुनी गई.

टाइम्स आफ इंडिया अखबार के मुताबिक, पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है. हालांकि, अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

राजद अध्यक्ष तेजस्वी यादव ने बुधवार को ट्वीट किया, ‘बिहार में भीड़तंत्र हावी है. पिछले 24 घंटे में भीड़ द्वारा पीटने के चलते तीन लोगों की मौत हुई है. नीतीश कुमार के नेतृत्व में जनादेश के लुटेरों ने बिहार को ‘लिंच-बिहार’ में बदल डाला है. पिछले 24 घंटों में 7 हत्याएं हुई हैं. बिहार में कानून व्यवस्था नियंत्रण से बाहर है क्योंकि नीतीश सरकार अपराधियों के साथ मिलकर काम कर रही है.’

इसके पहले बुधवार को बिहार के नालंदा जिले में एक नाबालिग समेत दो लोगों की पीटकर हत्या कर दी गई थी. अंग्रेज़ी अख़बार ‘द हिंदू’ के मुताबिक, ‘बुधवार को नालंदा में भीड़ ने नाबालिग समेत दो लोगों की पीटकर हत्या कर दी. भीड़ को शक था कि वे दोनों राष्ट्रीय जनता दल के एक नेता की हत्या में शामिल हैं.

मंगलवार की रात को एक राजद नेता इंदल पासवान की नालंदा में हत्या हो गई थी. इंदल पासवान राजद की एससीएसटी सेल के सदस्य थे. उनके समर्थकों ने पहले प्रदर्शन किया, बाद में 40 वर्षीय राजकुमार मालाकर और 15 वर्षीय रंजन कुमार के घर पर हमला कर दिया. रंजन कुमार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजकुमार की अस्पताल में मौत हो गई. भीड़ ने दो और घरों में आग लगा दी.


  • 1.6K
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here