scorecardresearch
Saturday, 24 February, 2024
होमदेशकेरल के कोचीन यूनिवर्सिटी भगदड़ में 4 छात्रों की मौत, 60 से अधिक घायल- राहुल गांधी ने जताया दुख

केरल के कोचीन यूनिवर्सिटी भगदड़ में 4 छात्रों की मौत, 60 से अधिक घायल- राहुल गांधी ने जताया दुख

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) एम. आर. अजित कुमार ने कहा कि अचानक भारी बारिश होने पर सभी इधर-उधर भागने लगे जिस कारण और यह घटना हुई. 

Text Size:

नई दिल्ली: केरल सरकार ने कोच्चि में शनिवार रात कोचीन विश्वविद्यालय के वार्षिकोत्सव के दौरान मची भगदड़ के मामले में जांच के आदेश दिए हैं. इस घटना में चार विद्यार्थियों की मौत हो गई और 60 से अधिक घायल हो गए.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री आर बिंदू ने उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव और कोचीन विश्वविद्यालय के कुलपति व रजिस्ट्रार समेत तीन सदस्यीय टीम को भगदड़ की घटना की जांच करने का निर्देश दिया है.

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मंत्री ने अधिकारियों को गहन जांच करने और एक रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है.

अधिकारियों ने बताया कि भगदड़ मशहूर गायिका निकिता गांधी के यहां कोचीन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (सीयूएसएटी) में आयोजित म्यूजिक फेस्टिवल में परफॉरमेंस करने से पहले हुई.

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज के अनुसार, दो छात्र और दो छात्राओं की मौत हो गई, जबकि 60 से अधिक लोगों का कलामसेरी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल और कुछ अन्य अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (सीयूएसएटी) में भगदड़ में चार छात्रों की मौत पर दुख व्यक्त किया है.

केरल के पीआरओ राजभवन के एक बयान में कहा गया, “कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में भगदड़ में चार छात्रों की दुखद मौत के बारे में जानकर गहरा सदमा और दुख हुआ. हम घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना करते हैं.”

बता दें कि बाद में गायिका ने निकिता गांधी फेसबुक पर एक पोस्ट में घटना पर दुख व्यक्त किया. गांधी ने कहा कि परफॉरमेंस के लिए कार्यक्रम स्थल रवाना होने से पहले ही यह घटना हो गई.

अचानक आई बारिश

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) एम. आर. अजित कुमार ने कहा कि अचानक भारी बारिश होने पर सभी इधर-उधर भागने लगे जिस कारण यह घटना हुई.

उन्होंने कहा, “यह एक वार्षिकोत्सव था, और विवरण पुस्तिका से हमें पता चला कि इसका आयोजन 24 से 26 नवंबर तक किया गया था. संगीत कार्यक्रम 1,000 से 1,500 लोगों की क्षमता वाले एक ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया था.”

कुमार ने यहां पत्रकारों से कहा, “सभागार आंशिक रूप से भरा हुआ था. लेकिन जब अचानक बारिश हुई तो छात्र सीढ़ियों से होते हुए भागने लगे, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ.”

इस बीच, मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने घटना के मद्देनजर कोझिकोड के एक सरकारी अतिथि गृह में आपात बैठक की और विद्यार्थियों की मौत पर शोक व्यक्त किया.

मुख्यमंत्री ने एक बयान में, सभी घायलों का इलाज सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया और कहा कि जॉर्ज इस घटना से संबंधित कार्यों में समन्वय करेंगी.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.

केरल के वायनाड से सांसद गांधी ने फेसबुक पर लिखा, “कोच्चि के सीयूएसएटी विश्वविद्यालय में भगदड़ की दुखद घटना में चार छात्रों की मौत और कई अन्य के घायल होने से बहुत स्तब्ध और दुखी हूं.”

उन्होंने लिखा, “शोक संतप्त परिवारों के संवेदना व्यक्त करता हूं. इस कठिन समय में उन्हें (दुख सहन करने की) शक्ति मिले. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं और केरल सरकार से उन्हें बेहतर इलाज प्रदान करने का आग्रह करता हूं.”


यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी सुरंग हादसा: ऑगर मशीन खराब होने के कारण बचाव अभियान रुका, अब सारा ध्यान वर्टिकल ड्रिलिंग पर


 

share & View comments