ईवीएम का (प्रतिनिधि) फाइल फोटो | गेट्टी
Text Size:
  • 21
    Shares

भोपाल: मध्य प्रदेश के 227 विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतदान जारी है, चंबल क्षेत्र के कुछ स्थानों से मारपीट, गोलीबारी और मतदान केंद्रों में तोड़फोड़ की खबरें आ रही हैं. शुरुआती साढ़े सात घंटे में लगभग 52 प्रतिशत मतदान हुआ है. वहीं बड़ी संख्या में ईवीएम के खराब होने पर उन्हें बदला गया है.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, ‘तीन मतदान केंद्रों पसरवाड़ा, लांजी और बैहर में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और तीन बजे मतदान खत्म हो गया. शेष 227 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ. दोपहर साढ़े तीन बजे तक 52 प्रतिशत मतदान हुआ.

सीईओ कार्यालय के जनसंपर्क अधिकारी राजेश दाहिमा के अनुसार, ‘दोपहर साढ़े तीन बजे तक राज्य में 52 प्रतिशत से अधिक मतदान हो चुका था. कुल दो करोड़ 65 लाख मतदाता वोट डाल चुके थे. इनमें 1 करोड़ 44 लाख पुरुष और एक करोड़ 20 लाख महिला मतदाताओं ने मतदान किया. सबसे ज्यादा मतदान छिंदवाड़ा और शाजापुर जिले में 61 प्रतिशत, वहीं सबसे कम 40 प्रतिशत मतदान विदिशा में हुआ.’

मतदान के दौरान भिंड जिले के कुछ मतदान केंद्रों में तोड़फोड, गोलीबारी और हिंसा की खबरें आ रही है. वहीं भिंड के तीन विधानसभा क्षेत्रों भिंड, लहार, अटेर के सभी उम्मीदवारों को जिला मुख्यालय में नजरबंद किया गया है.

राज्य के प्रमुख नेताओं में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी विधानसभा क्षेत्र के जैत गांव में, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने छिंदवाड़ा जिले के सोंसर विधानसभा क्षेत्र के शिकारपुर में, कांग्रेस प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर के फूलबाग में मतदान किया.

सीईओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, ‘शुरुआत के पांच घंटों में पांच करोड़ चार लाख मतदाताओं में से एक करोड़ 26 लाख से अधिक मतदाता मतदान कर चुके थे.’

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने माना कि प्रदेश में 100 ईवीएम मशीनों को गड़बड़ी के चलते बदला गया. इन मशीनों को आधे घंटे के भीतर बदल दिया गया. इसी तरह 1545 वीवीपैट बदले गए. साथ ही उन्होंने माना कि कई स्थानों से रात में शराब, नकदी बांटने से लेकर विवादों की खबरें आईं. इस पर आयोग कार्रवाई कर रहा है.

उन्होंने कहा, ‘मतदान केंद्र पर जब तक मतदाता मौजूद रहेंगे, तब तक मतदान का क्रम जारी रहेगा.’

मतदान को लेकर आम मतदाताओं में उत्साह नजर आया. मतदान केंद्रों के बाहर मतदान शुरू होने से पहले ही मतदाताओं की कतारें लग गई थीं. मतदाताओं की लंबी-लंबी कतारें मतदाताओं के उत्साह को बता रही है. कई स्थानों पर ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी पर मतदाताओं ने नाराजगी जताई. कई स्थानों पर तो मतदाताओं को एक घंटे तक इंतजार करना पड़ा.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है. केंद्रीय सुरक्षा बलों की 650 कंपनियां तैनात की गई हैं. इसके अलावा सुरक्षा के लिए हेलीकॉप्टर भी उपयोग में लाए जा रहे है.


  • 21
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here