scorecardresearch
Tuesday, 23 April, 2024
होमहेल्थभारत में कोरोना फैलने की दर में आई कमी, महामारी की शुरूआत से निम्नतम स्तर 0.82 पर पहुंची R वैल्यू

भारत में कोरोना फैलने की दर में आई कमी, महामारी की शुरूआत से निम्नतम स्तर 0.82 पर पहुंची R वैल्यू

महाराष्ट, कर्नाटक जैसे राज्यों में R वैल्यू में कमी की प्रवृत्ति देखी जा रही है लेकिन तमिलनाडु और ओडिशा जैसे राज्यों में मामलों में बढ़ोत्तरी देखी जा रही है.

Text Size:

नई दिल्ली: भारत में कोविड-19 महामारी शुरू होने के बाद पहली बार, प्रभावी प्रजनन संख्या या R – महामारी कितनी तेजी से फैल रही है, इसका संकेतक- घटकर 0.82 हो गया है जो कि अब तक का सबसे कम है. इस महामारी को समाप्त करने के लिए R को 1 से नीचे बनाए रखने की जरूरत है.

चेन्नई के इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमेटिकल साइंस के शोधकर्ता सीताभ्र सिन्हा के मुताबिक, राष्ट्रीय स्तर पर R की कम वैल्यू कर्नाटक और महाराष्ट्र में स्थितियां बेहतर होने की वजह से हुई हैं.

भारत का R लगातार दूसरे सप्ताह 1 से नीचे रहा है, जिसकी वजह से देश में सक्रिय मामलों में कमी देखने को मिली है.

Graphic by Ramandeep Kaur | ThePrint
ग्राफिक । रमनदीप कौर । दिप्रिंट

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि चूंकि R की गणना देश में रिपोर्टेड मामलों की संख्या के आधार पर की जाती है, इसलिए इसकी वैल्यू की सटीकता भी डेटा की सटीकता पर निर्भर करती है.

प्रमुख राज्यों में दिखी गिरावट की प्रवृत्ति

कर्नाटक और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में इस समय देश में कोविड के सक्रिय मामलों की संख्या सबसे ज्यादा है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कर्नाटक के लिए R पिछले हफ्ते के 1.04 से घटकर इस हफ्ते 0.80 पर आ गया. पिछले नवंबर से यह R की सबसे कम वैल्यू है.

Graphic by Ramandeep Kaur | ThePrint
ग्राफिक । रमनदीप कौर । दिप्रिंट

महाराष्ट्र में अब R की वैल्यू 0.76 है. प्रदेश में लॉकडाउन के चलते R की वैल्यू मई माह में 1 से नीचे रही है.

इसी तरह केरल का R भी पिछले हफ्ते 1.05 से सुधरकर 078 पर आ गया है. राज्य में वर्तमान में 2,59,559 सक्रिय मामले हैं.

Graphic by Ramandeep Kaur | ThePrint
ग्राफिक । रमनदीप कौर । दिप्रिंट

आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में R वैल्यूज़ 1 के करीब है. पिछले हफ्ते जब आंध्र प्रदेश की R 1.08 पर थी, तब पश्चिम बंगाल की R 1.04 थी.

सिन्हा ने दिप्रिंट से कहा, ‘राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, बिहार और गुजरात में भी R की वैल्यू 1 से कम है.

‘यूपी में तो अविश्वसनीय रूप से कम R की वैल्यू 0.56 है जो कि इसकी अब तक की सबसे कम R वैल्यू है. फरवरी के शुरुआती समय में R की वैल्यू एक बार इसके नजदीक 0.59 थी. वरना जब कोविड सितंबर 2020 से जनवरी 2021 में अपने निचले स्तर पर था तब इसकी वैल्यू 0.9 थी.

दिल्ली में लॉकडाउन की वजह से R की वैल्यू घटकर 0.43 हो गई है.

कुछ राज्यों में चिंताजनक रुझान

Graphic by Ramandeep Kaur | ThePrint
ग्राफिक । रमनदीप कौर । दिप्रिंट

हालांकि, कुछ राज्यों के लिए सबसे बुरा दौर अभी खत्म नहीं हुआ है. 1.22 की R वैल्यू के साथ तमिलनाडु, केरल को पीछे छोड़ते हुए अब देश में सर्वाधिक सक्रिय मामलों की दृष्टि से तीसरे स्थान पर पहुंच गया है.

हालांकि पिछले हफ्ते की तुलना में इसके R की वैल्यू में कमी आई है. पिछले हफ्ते तमिलनाडु की R वैल्यू 1.29 थी.

इसी तरह ओडिशा के लिए R पिछले सप्ताह 1.11 से घटकर 1.06 रह गया है, लेकिन यहां भी सक्रिय मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

असम में भी वृद्धि देखने को मिल रही है और इस सप्ताह इसकी R पिछले सप्ताह के 1.10 के मुकाबले बढ़कर 1.21 हो गया.

बड़े शहर

Graphic by Ramandeep Kaur | ThePrint
ग्राफिक । रमनदीप कौर । दिप्रिंट

चेन्नई वर्तमान में एकमात्र शहर है जहां R अभी भी 1 से ऊपर है. हालांकि, यह पिछले हफ्ते की तुलना में सुधार है जब इसके R की वैल्यू 1.27 थी.

सिन्हा ने कहा, ‘पुणे का R गिरकर 0.64 हो गया है. हालांकि, मुंबई का R अभी भी एक से कम है लेकिन इसमें बढ़ने की एक प्रवृत्ति देखी जा रही है.

इस बीच, कोलकाता और बेंगलुरु की R वैल्यू क्रमशः 0.93 और 0.71 है.


यह भी पढ़ेंः MP के सतना में हैं बहुत सारे कोविड हॉटस्पॉट्स, ख़ाली पड़े हैं अस्पताल, डॉक्टरों पर किसी को नहीं है भरोसा


 

share & View comments