scorecardresearch
Thursday, 25 April, 2024
होमहेल्थCBSE की परीक्षा रद्द होनी चाहिए, कोरोना की इस लहर में 65% मरीज 45 साल से कम के: केजरीवाल

CBSE की परीक्षा रद्द होनी चाहिए, कोरोना की इस लहर में 65% मरीज 45 साल से कम के: केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि इस बार की कोरोना लहर बहुत ज्यादा खतरनाक है. इस लहर में युवा और बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का केंद्र सरकार से अनुरोध किया है.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि अभी सीबीएसई की परीक्षाएं आने वाली हैं. दिल्ली के 6 लाख बच्चे सीबीएसई की परीक्षा में बैठेंगे. एक लाख के करीब अध्यापक इसमें शामिल होंगे. इससे बड़े स्तर पर कोरोना फैल सकता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार से निवेदन है कि सीबीएसई की परीक्षाएं रद्द की जाए.

उन्होंने कहा कि कुछ वैकल्पिक तरीकों पर सोचना होगा. छात्रों को या तो ऑनलाइन तरीके या इंटरनल एसेसमेंट के जरिए अगली कक्षा में प्रमोट किया जा सकता है लेकिन सीबीएसई की परीक्षाएं रद्द होनी चाहिए.

केजरीवाल ने बताया कि बीते 24 घंटे में 13,500 कोविड के मामले सामने आए हैं. नवंबर में जब कोविड पीक पर था तब 8500 मामले दर्ज किए गए थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

केजरीवाल ने कहा कि इस बार की कोरोना लहर बहुत ज्यादा खतरनाक है. इस लहर में युवा और बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं. इस बार 65 प्रतिशत मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं.

उन्होंने कहा, ‘मेरा युवाओं से निवेदन है कि जब भी आप घर से बाहर निकले कोविड दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करें.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम लॉकडाउन लगाना नहीं चाहते और इस संकट से निपटने के लिए सभी संभव तरीकों पर काम कर रहे हैं.

अस्पतालों में बेड की स्थिति पर उन्होंने कहा, ‘मांग बढ़ते ही हमने अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ा दी है और कुछ अस्पतालों को कोविड के लिए ही निर्धारित कर दिया गया है.’

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि अस्पतालों में प्लाजमा का स्टॉक काफी कम है लेकिन इसी के साथ इसकी मांग हर दिन बढ़ रही है. उन्होंने लोगों से अपील की कि जो प्लाजमा दान कर सकते हैं वो इसे जरूर करें.

उन्होंने लोगों से ये भी अपील कर कहा कि जिन लोगों की सर्जरी पहले से निर्धारित हैं वो इसे रद्द कर दें.


यह भी पढ़ें: भारत में स्पुतनिक V की हर साल 85 करोड़ खुराक तैयार होंगी: RDIF


 

share & View comments