Saturday, 13 August, 2022
होमएजुकेशनIIT प्लेसमेंट सीजन का शानदार आगाज, छात्रों को मिल रहीं अधिक नौकरियां और सैलरी पैकेज भी है बेहतरीन

IIT प्लेसमेंट सीजन का शानदार आगाज, छात्रों को मिल रहीं अधिक नौकरियां और सैलरी पैकेज भी है बेहतरीन

आईआईटी-रुड़की का कहना है कि 11 छात्रों को 1 करोड़ रुपये से अधिक के वेतन पैकेज पर नौकरियां मिली हैं जिसमें सबसे बड़ी पेशकश एक इंटरनेशनल फर्म में 2.15 करोड़ रुपये के पैकेज की है.

Text Size:

नई दिल्ली: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में बुधवार को प्लेसमेंट सीजन 2021 की शुरुआत काफी शानदार रही. इनमें कई संस्थानों ने पिछले साल की तुलना में उच्च वेतन पैकेज और ज्यादा छात्रों को प्लेसमेंट मिलने की जानकारी दी है.

आईआईटी संस्थानों के मुताबिक, माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन, एक्सेंटर, क्वालकॉम, बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप, जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी, मैकेंजी और गोल्डमैन सैक्स जैसी कंपनियों ने इस प्लेसमेंट सीजन में अच्छे ऑफर दिए हैं.

पिछले साल की तरह, अधिकांश आईआईटी ने इस साल भी महामारी के कारण अपना प्लेसमेंट प्रोसेस ऑनलाइन ही आयोजित करने का फैसला किया है. प्लेसमेंट का यह चरण दिसंबर के मध्य तक चलने की उम्मीद है.

जहां आईआईटी-मद्रास ने बताया कि उसे पिछले साल की तुलना में पहले दिन 43 प्रतिशत अधिक प्रस्ताव मिले, आईआईटी-मंडी ने अपने छात्रों को मिलने वाले औसत वेतन पैकेज में 16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की. रुड़की और गुवाहाटी स्थित आईआईटी से भी इसी तरह के रुझान सामने आए हैं.

आईआईटी-दिल्ली से संबंधी डेटा अभी उपलब्ध नहीं हो पाया है. जानकारी उपलब्ध होने पर इस रिपोर्ट को अपडेट किया जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें


यह भी पढ़ें: US-स्थित सॉफ्टवेयर उद्यमी अनंत यार्डी ने अपनी मातृ संस्था IIT दिल्ली को दान किए 1 करोड़ डॉलर


आईआईटी-मद्रास

आईआईटी-मद्रास की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि संस्थान को प्लेसमेंट के पहले दिन के पहले चरण में 34 कंपनियों से रिकॉर्ड 176 ऑफर मिले थे, जो पिछले साल पहले दिन की तुलना में 43 प्रतिशत अधिक है.

बयान के मुताबिक, ‘यह पिछले किसी भी शैक्षणिक सत्र की तुलना में सबसे अधिक है. 2020-21 के शैक्षणिक सत्र के दौरान प्लेसमेंट सीजन के पहले दिन 22 कंपनियों ने 123 प्रस्ताव दिए गए थे.’

इस शैक्षणिक सत्र में पहले दिन मिले 176 प्रस्तावों में से 11 इंटरनेशनल फर्म की तरफ से थे. इसके अलावा, छात्रों को 231 प्री-प्लेसमेंट ऑफर भी मिले हैं, जिससे अब तक नौकरी के कुल प्रस्तावों की संख्या 407 हो गई है.

इस साल प्रस्ताव देने वाली प्रमुख कंपनियों में माइक्रोसॉफ्ट, टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स, बजाज ऑटो, बेन एंड कंपनी, गोल्डमैन सैक्स, क्वालकॉम, बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप, जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी और मैकेंजी शामिल हैं. प्लेसमेंट का पहला चरण 10 दिसंबर तक चलने की उम्मीद है.

आईआईटी-मंडी

आईआईटी-मंडी के अधिकारियों ने कहा कि उनके छात्रों को मिलने वाले औसत वेतन पैकेज में 16 प्रतिशत की वृद्धि दिखी है और पिछले वर्ष की तुलना में अधिकतम वेतन 9 प्रतिशत बढ़ा है.

संस्थान का कहना है, ‘आईआईटी-मंडी की प्लेसमेंट प्रक्रिया पूरी तरह वर्चुअल मोड में शुरू हुई है, जिसमें 1 दिसंबर तक रिक्रूटर्स की 166 प्रस्ताव दिए गए और 137 छात्रों को प्लेसमेंट मिल गया. प्लेसमेंट का पहला चरण अक्टूबर मध्य से शुरू हुआ था और दिसंबर मध्य तक चलेगा, जिसमें (अब तक) 102 कंपनियां हिस्सा ले चुकी है.’

संस्थान के प्लेसमेंट प्रोसेस में गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, सैमसंग बेंगलुरु, एडोब, वॉलमार्ट, स्प्रिंकलर, पेटीएम, अमेजन, इंडीड, कैशफ्री, नेफरेंस, फ्लिपकार्ट, माइंडटिकल, टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स, एनवीडिया, क्वालकॉम, सेरेमॉर्फिक, एडवर्ब, एलएंडटी, जेडएस, डेलॉइट, विस्काडिया, कैपजेमिनी, केपीएमजी, टीसीएस, रिलायंस जियो और एलटीई जैसी शीर्ष कंपनियों ने हिस्सा लिया है.

आईआईटी-मंडी के करियर एंड प्लेसमेंट सेल में सलाहकार तुषार जैन ने कहा, ‘आईआईटी-मंडी की मौजूदा प्लेसमेंट ड्राइव को पिछले वर्षों की तुलना में एक बेंचमार्क ड्राइव माना जा सकता है. इस दौरान संस्थान ने प्लेसमेंट के प्रस्तावों के साथ-साथ विविध कंपनियों की भागीदारी में भी खासी वृद्धि देखी है, जो प्रैक्टिकल-बेस्ड और उद्योग-आधारित पाठ्यक्रम के कारण ही संभव हो पाया है.’

संस्थान को इस साल एक्सेंटर, एन्जॉय एलएलसी और वेदर न्यूज और जापान के कुछ रिक्रूटर्स सहित विभिन्न कंपनियों से 51 प्री-प्लेसमेंट ऑफर और सात इंटरनेशनल ऑफर मिले हैं.

आईआईटी-रुड़की

आईआईटी-रुड़की में पिछले साल सबसे बड़ा घरेलू पैकेज 80 लाख रुपये था, जो इस साल 1.8 करोड़ रुपये हो गया है. सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय पैकेज की पेशकश इस साल 69.05 लाख रुपये से बढ़कर 2.15 करोड़ रुपये प्रति वर्ष हो गई है.

संस्थान ने बताया कि उनके 11 छात्रों को एक करोड़ रुपये से अधिक का वेतन पैकेज मिला है और पहले दिन 13 छात्रों को इंटरनेशनल प्लेसमेंट मिला.

आईआईटी-रुड़की में प्लेसमेंट एंड इंटर्नशिप सेल के प्रभारी प्रोफेसर विनय शर्मा ने बताया कि संस्थान ने कोविड के बाद बाजार की नई स्थिति को ध्यान में रखते हुए अपने प्लेसमेंट सीजन की रणनीति को बदल दिया है.

उन्होंने कहा, ‘महामारी ने प्लेसमेंट का परिदृश्य ही पूरी तरह बदल दिया है. इसे ध्यान में रखकर ही हमने इस प्लेसमेंट सीजन के लिए अपनी रणनीति बनाई, जिसमें हमने एआई, सॉफ्टवेयर, नेटवर्किंग, एनालिटिक्स, ई-कॉमर्स, एफएमसीजी, क्वांट्स, फाइनेंस, मैन्युफैक्चरिंग और अन्य संबंधित क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ कंपनियों के साथ समझौता किया, जिसमें कोर सेक्टर पर ज्यादा गंभीरता से ध्यान दिया गया.’

उन्होंने कहा, ‘हमने दुनियाभर में आर्थिक विकास का गहराई से विश्लेषण किया और हमारी टीम की तरफ से लगाए गए पूर्वानुमान के आधार पर तेजी से बढ़ती स्थापित फर्मों के साथ संपर्क स्थापित किया. ऐसी ही रणनीतियों के साथ हम अंतरराष्ट्रीय के साथ-साथ घरेलू प्रस्तावों के मामले में भी अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम रहे.’

आईआईटी-गुवाहाटी

आईआईटी-गुवाहाटी ने बताया कि, पिछले साल प्लेसमेंट सीजन के पहले दिन मिले कुल 158 प्रस्तावों की तुलना में इस बार पहले दिन के फर्स्ट हाफ में ही 200 छात्रों को नौकरी के प्रस्ताव मिले.

संस्थान की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, ‘सीजन-1 के अंत में 1.1 करोड़ रुपये से अधिक के कई घरेलू प्रस्ताव और 2 करोड़ रुपये का एक अंतरराष्ट्रीय प्रस्ताव मिला. इस साल पहले दिन के सत्र के बड़े नियोक्ताओं में उबर, जेपी मॉर्गन चेस, शुल्मबागा, ग्रेविटन, माइक्रोसॉफ्ट, एप्पल, गूगल, टेक्सास इंस्ट्रूमेंट, बजाज, क्वालकॉम, गोल्डमैन सैक्स आदि शामिल हैं.’

इसके अलावा, आईआईटी-गुवाहाटी के छात्रों को इस शैक्षणिक सत्र में पहले ही 179 प्री-प्लेसमेंट ऑफर मिल चुके हैं, जो पिछले तीन वर्षों में सबसे अधिक है. अधिकांश प्रस्ताव सूचना प्रौद्योगिकी/सॉफ्टवेयर, वित्त, और विश्लेषक और उत्पाद प्रोफाइल के क्षेत्रों से जुड़े थे.

देश में मौजूदा समय में 23 आईआईटी हैं, जिनमें से आठ मानव संसाधन विकास मंत्रालय की राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) 2021 रैंकिंग के ‘शीर्ष 10’ में शामिल हैं.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: एंट्रेंस एग्जाम में 12वीं के अंकों को सिर्फ 50% वेटेज? डीयू में 2022 से बदल सकते हैं एडमिशन के नियम


 

share & View comments