Saturday, 2 July, 2022
होमएजुकेशनछत्तीसगढ़ में घर बैठे होगी 12वीं की बोर्ड परीक्षा, छात्र पांच दिनों में देंगे प्रश्नों का जवाब

छत्तीसगढ़ में घर बैठे होगी 12वीं की बोर्ड परीक्षा, छात्र पांच दिनों में देंगे प्रश्नों का जवाब

सरकार द्वारा जारी एक प्रकार से इस अघोषित 'ओपन बुक मेथड' परीक्षा पद्वति में छात्रों को प्रश्रपत्र हल करने के तरीकों पर पूरी छूट रहेगी.

Text Size:

रायपुर : छत्तीसगढ़ में 12वीं की बोर्ड परीक्षा अब घर बैठे होगी. एक जून से शुरू होने वाली इस परीक्षा के सभी प्रश्नपत्र और उत्तर पुस्तिकाएं छात्रों को घर लेकर जाने की आजादी होगी. परीक्षार्थी 5 दिनों के भीतर प्रश्नों को हल करके उत्तर पुस्तिका निर्धारित परीक्षा केंद्र में जमा करेंगे.

इस संबंध में सरकार द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीजीबीएसई) की हायर सेकण्डरी परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र छात्राओं को उनके विषयों से सबंधित प्रश्नपत्र और उत्तर पुस्तिकाएं 1 जून 2021 और 5 जून 2021 के बीच दिए जाएंगे जिन्हें वे घर से लिखकर पांच दिनों के भीतर जमा करेंगे. छात्रों को प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिकाएं उनके निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर ही दिए जाएंगे.

आदेश में कहा गया है कि, ‘परीक्षार्थी ये प्रश्नपत्र हल करने के बाद अपनी उत्तर पुस्तिकाएं 5 दिन की समय सीमा के भीतर निर्धारित परीक्षा केंद्रों में जमा करेंगे. इस समय सीमा के अंदर उत्तर पुस्तिकाएं जमा नहीं करने पर छात्रों को अनुपस्थित माना जाएगा.’ आदेश में यह भी है कि उत्तर पुस्तिकाएं लेने और जमा करने के लिए परीक्षा केंद्रों के कार्यालय छुट्टी के दिन भी खुले रहेंगे.

माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों ने दिप्रिंट से माना कि इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों का मूल्यांकन करना नहीं बल्कि इस शिक्षा सत्र की प्रकिया को पूरा करना है जिससे आने वाले सत्र की शुरुआत समय से हो सके.

स्कूल शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा है कि ‘सरकार द्वारा जारी एक प्रकार से इस अघोषित ‘ओपन बुक मेथड’ परीक्षा पद्वति में छात्रों को प्रश्रपत्र हल करने के तरीकों पर पूरी छूट रहेगी. उन्हें उत्तर पुस्तिकाओं में अपने रोलनंबर, परीक्षा केंद्र, विषय, विषय कोड, अटेंडेंस रजिस्टर में हस्ताक्षर सहित अन्य आवश्यक जानकारी के साथ प्रश्नों का जवाब लिखकर निर्धारित समय के भीतर इन्हें जमा करने की अनिवार्यता होगी.’इस अधिकारी के अनुसार ‘यह परीक्षा नहींcबल्कि एक खानापूर्ती होगी.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें


यह भी पढ़ें : केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा- 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा को लेकर जल्द कोई फैसला किया जायेगा


परीक्षा के लिए 22 मई को जारी इस आदेश में कहा गया है कि विद्यार्थी द्वारा केंद्र से ली गई सभी उत्तर पुस्तिकाएं स्वयं जमा करना होगा चाहे वे इनमें कुछ भी ना लिखें. किसी दूसरे माध्यम से जमा की जाने वाली उत्तर पुस्तिकाएं अमान्य कर दी जाएंगी. इसके साथ ही विद्यार्थियों को प्रश्रपत्र लेने और उत्तर पुस्तिकाएं जमा करते समय मास्क लगाते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन पूरी तरह से लड़ना होगा.

10वीं बोर्ड परीक्षा में आंतरिक मूल्यांकन, नतीजा 100%

सीजीबीएसई द्वारा 19 मई को जारी 10 की बोर्ड परीक्षा 2021 के नतीजे भी स्कूलों द्वारा विद्यार्थियों के आंतरिक मुल्यांकन के आधार पर तैयार किए गए थे. यह आंतरिक मूल्यांकन छात्रों को दिए जाने वाले असाइनमेंट के आधार पर किया.

बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते सीजीबीएसई द्वारा परीक्षा की सामान्य प्रक्रिया नहीं अपनाई गई जिससे राज्य का परीक्षा परिणाम भी 100 प्रतिशत रहा.

राज्य में करीब 96 प्रतिशत छात्र प्रथम श्रेणी में पास हुए वहीं असाइनमेंट जमा नहीं करने वाले छात्रों को न्यूनतम अंक देकर पास कर दिया गया है. बता दें कि बोर्ड द्वारा अपनायी गई इस परीक्षा पद्वति में ऐसे विद्यार्थियों की चांदी हो गई जिन्होंने साल भर कोई पढ़ाई नहीं की.

share & View comments