scorecardresearch
Tuesday, 27 February, 2024
होमBudgetBudget 2023: पर्यटन मंत्रालय को 2400 करोड़ का आवंटन, 'मिशन मोड' के तहत पर्यटन को बढ़ावा

Budget 2023: पर्यटन मंत्रालय को 2400 करोड़ का आवंटन, ‘मिशन मोड’ के तहत पर्यटन को बढ़ावा

राज्य 'एक जिला, एक उत्पाद', जीआई और हस्तशिल्प के प्रचार और बिक्री के उद्देश्य से यूनिटी मॉल स्थापित करेंगे. पर्यटन मंत्रालय को आवंटित राशि 2022-23 के समान ही 2,400 करोड़ रुपये है.

Text Size:

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को 2023-24 के बजट भाषण में पर्यटन क्षेत्र की क्षमता को स्वीकार करते हुए कहा, ‘राज्यों की सक्रिय भागीदारी, सरकारी कार्यक्रमों के अभिसरण और सार्वजनिक-निजी भागीदारी के साथ मिशन मोड पर पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा. इस क्षेत्र में विशेष रूप से युवाओं के लिए नौकरियों और उद्यमिता के बड़े अवसर हैं.’

उन्होंने देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उपायों की स्थापना की घोषणा की. इनमें घरेलू और विदेशी पर्यटकों के लिए एक संपूर्ण पैकेज के रूप में कम से कम 50 स्थलों का चयन और विकास शामिल है.

इन गंतव्यों को एक एकीकृत और इनोवेटिव दृष्टिकोण का उपयोग करके चैलेंज मोड के माध्यम से चुना जाएगा.

इसके अलावा, राज्यों को एकता मॉल स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा जो ‘एक जिला, एक उत्पाद’ (ओडीओपी), जीआई और हस्तशिल्प उत्पादों के प्रचार और बिक्री के उद्देश्य से स्थापित किया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘राज्यों को उनकी राजधानी शहर या सबसे प्रमुख पर्यटन केंद्र या वित्तीय राजधानी में एक यूनिटी मॉल को स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा और ओडीओपी एवं जीआई उत्पादों के लिए जगह भी प्रदान की जाएगी.’

पर्यटन मंत्रालय को आवंटित राशि 2022-23 के समान ही 2,400 करोड़ रुपये है. इसमें से 1,644 करोड़ रुपये पर्यटन अवसंरचना के विकास के लिए रखे गए हैं, जिसमें स्वदेश दर्शन योजना के लिए 1,181.30 करोड़ रुपये का परिव्यय शामिल है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

स्वदेश दर्शन योजना मंत्रालय की एक प्रमुख योजना है जिसके तहत 13 विषयगत सर्किटों में 76 परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है.

बजट के बारे में बात करते हुए, पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी का ‘आत्मनिर्भर भारत का बजट’ के लिए आभारी हूं. जैसा कि भारत आजादी के 75 साल आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मना रहा है, हम अमृत काल में प्रवेश कर रहे हैं और यह बजट 100 पर भारत के लिए एक खाका प्रस्तुत करता है. विकास और विरासत साथ-साथ चलते हैं और यह इस तथ्य से स्पष्ट है कि इस वर्ष पर्यटन और संस्कृति मंत्रालयों के लिए बजटीय आवंटन काफी अधिक रहा है.’

पर्यटन ऐप, गाइडों को किया जाएगा प्रशिक्षित

वित्त मंत्री ने एक ऐप की भी घोषणा की, जो पर्यटकों के अनुभव को बढ़ाने के लिए भौतिक कनेक्टिविटी, वर्चुअल कनेक्टिविटी, टूरिस्ट गाइड, फूड स्ट्रीट और पर्यटकों की सुरक्षा जैसे पहलुओं के अलावा पर्यटन स्थलों की वास्तविक समय की जानकारी प्रदान करेगा.

देश में घरेलू पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई ‘देखो अपना देश’ पहल के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए क्षेत्र-विशिष्ट कौशल और उद्यमिता विकास का तालमेल बिठाया जाएगा.

थीम आधारित पर्यटन पथों के एकीकृत विकास के लिए ‘स्वदेश दर्शन योजना’ भी शुरू की गई. वाइब्रेंट विलेज प्रोग्राम के तहत सीमावर्ती गांवों में पर्यटन के बुनियादी ढांचे और सुविधाओं को भी सुगम बनाया जाएगा.

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़नें के लिए यहां क्लिक करें)

(अनुवाद | संपादन: अलमिना खातून)


यह भी पढ़ें: Budget 2023: स्वास्थ्य पर जीडीपी का 2% से अधिक धन खर्च करेगी सरकार, रिसर्च पर रहेगा फोकस


share & View comments