scorecardresearch
Friday, 12 July, 2024
होमBudgetBudget 2023 Live: अमृतकाल के बजट में सप्तऋषि की तरह सात प्राथमिकताएं, बोलीं निर्मला सीतारमण

Budget 2023 Live: अमृतकाल के बजट में सप्तऋषि की तरह सात प्राथमिकताएं, बोलीं निर्मला सीतारमण

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अमृतकाल के पहले बजट के भाषण में निर्मला सीतारमण ने युवाओं, महिलाओं, और विद्यार्थियों का विशेष ध्यान रखा है. बजट 2023 के दौरान कई महत्वपूर्ण घोषणाओं में, छात्रों के लिए लाइब्रेरी, युवाओं के लिए कौशल विकास और महिलाओं के लिए बचत पत्र जैसी घोषणाएं की गईं.

Text Size:

नई दिल्लीः आज वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय #Budget2023 पेश किया. बतौर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पांचवा आम बजट पेश कर रहीं थी.

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अमृतकाल के पहले बजट के भाषण में निर्मला सीतारमण ने युवाओं, महिलाओं, और विद्यार्थियों का विशेष ध्यान रखा है. बजट 2023 के दौरान कई महत्वपूर्ण घोषणाओं में, छात्रों के लिए लाइब्रेरी, युवाओं के लिए कौशल विकास और महिलाओं के लिए बचत पत्र जैसी घोषणाएं की गईं.


Budget 2023 का Live Update:


4:51 PM: सीतारमण आगे बोली, बजट, पूंजी निवेश को एक बड़ा कदम देता है, यह MSME में भी शामिल होता है क्योंकि वे विकास के इंजन हैं. यह पूंजी निवेश को बनाए रखता है और निजी क्षेत्र को भी आगे बढ़ाता है जबकि व्यक्तियों और मध्यम वर्ग को कर राहत भी देता है.


4:46 PM: निर्मला सीतारमण ने आगे कहा, परियोजनाएं चल रही हैं और धन का उपयोग हो रहा है, जो बजट विवरण से आ रहा है. व्यक्ति के बिना परियोजनाएँ कैसे पूरी हो सकती हैं. मानव हस्तक्षेप के बिना 1 प्रतिशत परियोजना भी पूरा नहीं किया जा सकता है. तो जाहिर तौर पर जमीन पर नौकरियां मिल रही हैं.


4:34 PM: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया बोलें, ‘स्वास्थ्य मंत्रालय के लिए इस बजट में महत्वपूर्ण घोषणा हुई. स्वास्थ्य क्षेत्र में अनुसंधान करने वालों के लिए सरकारी लैब खोल जाएगी। देश जब आजादी की शताब्दी मना रहा हो तब सिकलसेल एनीमिया से मुक्त हो.


4:33 PM: निर्मला आगे बोलीं, कृषि ऋण के लिए 20 लाख रुपए उपलब्ध कराए जा रहे हैं. साथ ही, पीएम मत्स्य संपदा योजना के तहत एक उप-योजना यह सुनिश्चित करती है कि तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोग इससे लाभान्वित होने जा रहे हैं.


4:19 PM: उन्होंने आगे कहा, “बजट में महिला सशक्तिकरण,पर्यटन पर जोर दिया गया. हम फिनटेक, औद्योगीकरण,डिजिटल अर्थव्यवस्था को भारत की डिजिटल शक्ति के रूप में देख रहे हैं. कृषि ऋण में काफी वृद्धि हुई है, व्यक्तिगत आय कर सुनिश्चित करना जिसमें बदलाव देखा गया है और यह लंबे समय बाद हुआ है”.


4:18 PM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं, “हमने बजट में MSME को राहत दी है”.


3:37: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, ‘मोदी सरकार द्वारा 3-4 राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए बजट पेश किया गया था. बजट में गरीब लोगों के लिए और महंगाई को नियंत्रित करने के लिए कुछ भी नहीं है. सरकारी रिक्तियों और मनरेगा को भरने के लिए नौकरियों के लिए कोई कदम नहीं.’


3:30 PM: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘यह बजट देश के हर क्षेत्र और हर राज्य के कल्याण के लिए है. यह कमजोर वर्गों और युवाओं को सशक्त बनाने के साथ-साथ गरीबों, महिलाओं और मध्यम वर्ग के लोगों के लाभ के लिए है.’


3:07 PM: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, ‘यह देश की जनता के साथ विश्व की उम्मीदों को भी पूरा करने वाला बजट है. ये गरीबों का बजट है, नए भारत का संकल्प इस बजट में दिखाई देता है. भारत की अर्थव्यवस्था आज 5वें नंबर की अर्थव्यवस्था बनी है.’


2:57 PM: BJP अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने कहा, अमृत काल का पहला बजट लोक कल्याणकारी है, यह गरीब किसानों, आदिवासियों, दलितों, पिछड़ों, वंचितों, आर्थिक रूप से पिछड़े तथा मध्यम वर्ग को सशक्त और सक्षम बनाने वाला बजट है. यह बजट बच्चों की पढ़ाई, मध्यम वर्ग की कमाई और बुजुर्गों की भलाई पर बल देने वाला है.


2:39 PM: बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा, ‘ये बजट निल बट्टा सन्नाटा है, बिहार के लिए कुछ नहीं है. केंद्र में बिहार के जितने सांसद हैं उन्हें शर्म से डूब जाना चाहिए. किसानों के लिए, रेलवे के लिए कुछ नहीं है. UPA की सरकार में बिहार को जितना दिया जाता था क्या इस सरकार ने दिया?


यह भी पढ़ें: ‘अमृत काल का पहला बजट’ विकसित भारत के निर्माण के लिए एक मजबूत नींव रखेगा : PM मोदी


 


2:20 PM: प्रधानमंत्री बोले, वर्ष 2014 की तुलना में इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश पर 400% से ज्यादा की वृद्धि की गई है. इस बार इंफ्रास्ट्रक्चर पर 10 लाख करोड़ रुपये का अभूतपूर्व निवेश होगा. यह निवेश युवाओं के लिए रोजगार और एक बड़ी आबादी को आय के नए अवसर पैदा करेगा.


2:18 PM: मोदी आगे बोले, PM-विकास से हमारे करोड़ों ‘विश्वकर्माओं’ के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव आएगा.

गांव से लेकर शहर तक में रहने वाली हमारी महिलाओं के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए कई बड़े कदम उठाए गए हैं, उन्हें अब और ताकत के साथ आगे बढ़ाया जाएगा.


2:17 PM: मोदी आगे बोले, आज जब मिलेट्स पूरे विश्व में लोकप्रिय हो रहा है तो उसका सर्वाधिक लाभ भारत के छोटे किसानों के नसीब में है. अब इस ‘सुपर फूड’ को ‘श्री अन्न’ के नाम से एक नई पहचान दी गई है. ‘श्री अन्न’ से हमारे छोटे किसानों और किसानी करने वाले आदिवासी भाई-बहनों को आर्थिक सबल मिलेगा.


2:15 PM: प्रधानमंत्री बोले, महिलाओं के लिए एक विशेष बचत योजना भी इस बजट में शुरू की जा रही है. यह बजट सहकारिता को ग्रामीण अर्थव्यवस्था की धुरी बनाएगा. नए प्राइमरी कॉपरेटिव्स बनाने के लिए एक महत्वकांक्षी योजना का भी ऐलान इस बजट में किया गया है.


2:13 PM: मोदी ने आगे कहा, ‘अमृत ​​काल का पहला बजट विकसित भारत के निर्माण की मजबूत नींव रखेगा, मध्यम वर्ग के लोगों, किसानों सहित समाज के सपनों को पूरा करेगा.


2:00 PM: प्रधानमंत्री ने बजट को ऐतिहासिक कहा.


1:55 PM: रक्षामंत्री सिंह ने कहा कि बजट के प्रस्तावों से देश को कुछ वर्षों के भीतर ही पांच ट्रिलियन (पांच हजार अरब) डॉलर की अर्थव्यवस्था और विश्व की ‘शीर्ष तीन’ अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनने के लक्ष्य को पूरा करने में मदद मिलेगी.


1:53 PM: सपा सांसद डिंपल यादव ने बजट पर कहा, ‘ये चुनावी बजट है, किसानों के लिए कुछ नहीं है. किसानों की एमएसपी की बात नहीं की है. रेलवे को पूरी तरह नज़रअंदाज़ किया गया है. आधी से ज्यादा आबादी गांव में बसती है लेकिन उनके लिए कुछ नहीं किया है.


1:37 PM: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली, ‘इस बजट से महिला का सम्मान बढ़ा, बच्चों और किशोरों के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की घोषणा से ज़िला स्तर पर बच्चे कैसे पढ़ेंगे और बढ़ेंगे इसका उल्लेख किया गया है. नारी शक्ति एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण कैसे कर सकती है इसका प्रतिबिंब आज के बजट में दिखता है.


1:22 PM: कांग्रेस सांसद शशि थरूर बजट पर बोले, ‘बजट में कुछ चीजें अच्छी थी मैं इसे पूरी तरह नकारात्मक नहीं कहूंगा, लेकिन अभी भी कई सवाल उठते हैं. बजट में मनरेगा का कोई जिक्र नहीं था. सरकार मजदूरों के लिए क्या करने जा रही है.


1:21 PM: केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू बोले, हम बहुत खुश हैं कि इतना अच्छा बजट पेश किया गया हैं.


1:16 PM भाजपा सांसद गौतम गंभीर बोले, ‘आम आदमी के लिए ये बजट बहुत अच्छा है, ये एक ऐतिहासिक कदम है. मध्यम वर्ग को इस बजट से बहुत राहत मिलेगी.


1:09 PM: कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम बोले, ‘बजट का एक बड़ा हिस्सा राष्ट्रपति के अभिभाषण और आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट की पुनरावृत्ति है. लोगों के हाथ में पैसा देना अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा तरीका है.


1:06 PM: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘बजट में मध्यम वर्ग को मदद दी गई है, सबको कुछ न कुछ दिया गया है. डेढ़ घंटे तक हमने बजट सुना अब हम इसपर बात करेंगे जब मौका आएगा.


12:50 PM:निर्मला सीतारमण ने इसबार रक्षा बजट के पूंजी परिव्यय को 1.5 लाख करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1,62,600 करोड़ रुपये कर दिया है.

कुल मिलाकर, रक्षा बजट बढ़कर 6.2 लाख करोड़ रुपये हो गया, जो पिछले साल से 16 प्रतिशत अधिक है.


12:47 PM: बजट पेश के दौरान सेंसेक्स सूचकांक अभी 980 अंक की बढ़ोतरी के साथ 60,534 पर कारोबार कर रहा है.  निफ्टी 17,919 पर है.


12:32 PM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं, ‘सिगरेट पर आकस्मिकता शुल्क को 16 फीसदी बढ़ाया गया’


12:30 PM: निर्मला सीतारमण आगे बोलीं 2023-24 के लिए नए टैक्स स्लैब
0-3 – शून्य
3-6 लाख – 5%
6-9 लाख – 10%
9-12 लाख – 15%
12-15 लाख – 20%
15 लाख से ऊपर – 30%


12:24 PM: निर्मला सीतारमण ने निजी टैक्स पर 5 नए एलान, 7 लाख तक सालाना कमाने वालो को कोई टैक्स नहीं देना होगा.


12:16 PM: निर्मला सीतारमण ने कहा क्षेत्रीय हवाई संपर्क में सुधार के लिए 50 अतिरिक्त हवाई अड्डों, हेलीपॉड्स, वाटर एयरोड्रोम और उन्नत लैंडिंग ग्राउंड का पुनरुत्थान किया जाएगा


12:15 PM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का महिलाओं को बड़ा उपहार दिया, महिला सम्मान बचत पत्र योजना शुरू होगी. इसमें महिलाओं को 2 लाख की बचत पर 7.5% का ब्याज़ मिलेगा.


12:10 PM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि निर्मला सीतारमण ने कहा कि 2022-2023 के लिए संशोधित राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद का 6.4% है. 2023-2024 के लिए राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद का 5.9% रहने का अनुमान है.


12:07 PM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आगे कहा कि, ‘वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा 4.5 लाख से 9 लाख की जाएगी.’


यह भी पढ़ें: Budget 2023 में कृषि ऋण लक्ष्य को बढ़ाकर 20 लाख करोड़ रुपये किया गया, कृषि-स्टार्टअप को भी मिला बढ़ावा


12:00 PM: 740 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों के लिए अगले 3 वर्षों में 38,000 शिक्षकों और सहायक कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी


11:55 AM: निर्मला सीतारमण ने कहा कि अगले 3 वर्षों में एक करोड़ किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए सहायता मिलेगी. 10,000 जैव इनपुट संसाधन केंद्र स्थापित किए जाएंगे.


11:53 AM: वित्तमंत्री ने कहा कि युवाओं को अंतरराष्ट्रीय अवसरों के लिए कुशल बनाने के लिए विभिन्न राज्यों में 30 स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर स्थापित किए जाएंगे.


11:50 AM: वित्त मंत्री आगे बोलीं अगले 3 वर्षों में एक करोड़ किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए सहायता मिलेगी. 10,000 जैव इनपुट संसाधन केंद्र स्थापित किए जाएंगे


11:47 AM: सीतारमण बोली ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्र में 35 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा. नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में 20,700 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा.


11:45 AM: सीतारमण बोली क्षेत्रीय हवाई संपर्क में सुधार के लिए 50 अतिरिक्त हवाई अड्डे, हेलीपोर्ट, वाटर-एयरो ड्रोन, उन्नत लैंडिंग ग्राउंड को पुनर्जीवित किया जाएगा


11:42 AM: सीतारमण आगे बोली100 महत्वपूर्ण परिवहन अवसंरचना परियोजनाओं और बंदरगाहों, कोयला, इस्पात और उर्वरक और खाद्यान्न क्षेत्र के लिए प्रथम मील कनेक्टिविटी की पहचान की गई है और निजी स्रोतों से 15000 करोड़ सहित 75000 करोड़ का निवेश किया जाएगा.


11:40 AM: पूंजी निवेश परिव्यय 33% बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपये किया जा रहा है, जो कि सकल घरेलू उत्पाद का 3.3% होगा.


11:36 AM: पीएम आवास योजना के परिव्यय को 66% बढ़ाकर 79,000 करोड़ किया जा रहा है.


11:35 AM: बजट में रेलवे के लिए 2.40 लाख करोड़ रुपए के पूंजीगत परिव्यय का प्रावधान किया गया है.


11:32 AM: सीतारमण आगे बोली बच्चों और किशोरों के लिए राष्ट्रीय डिजिटल पुस्तकालय स्थापित किया जाएगा. अगले 3 साल में 740 एकलव्य स्कूलों के लिए 38 हजार 800 टीचर्स और सपोर्ट स्टाफ नियुक्त किए जाएंगे.


11:30 AM: विशेष रूप से जनजातीय समूहों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए PMPBTG विकास मिशन शुरू किया जाएगा, ताकि PBTG बस्तियों को मूलभूत सुविधाएं दी जा सके. अगले 3 साल में योजना को लागू करने के लिए 15,000 करोड़ उपलब्ध कराए जाएंगे.


11:27 AM: 7 प्राथमिकताएं समावेशी विकास, अंतिम छोर तक पहुंचना, बुनियादी ढांचा और निवेश, क्षमता को उजागर करना, ग्रीन ग्रोथ, युवा शक्ति और वित्तीय क्षेत्र हैं


11:24 AM: बच्चों और किशोरों के लिए राष्ट्रीय डिजिटल पुस्तकालय स्थापित किया जाएगा.


11:23 AM: वित्त मंत्री आगे बोलीं पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन पर ध्यान देते हुए कृषि ऋण लक्ष्य को बढ़ाकर 20 लाख करोड़ रुपये किया जाएगा.


11:21 AM: कृषि से जुड़े स्टार्ट अप को प्राथमिकता दी जाएगी. युवा उद्यमियों द्वारा कृषि-स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के लिए कृषि त्वरक कोष की स्थापना की जाएगी.


11:20 AM: 2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है. प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गई है. इन 9 वर्षों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है.


11:19 AM: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 2 लाख करोड़ रुपये केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है. अंत्योदय योजना के तहत गरीबों के लिए मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति को एक वर्ष के लिए बढ़ा दिया गया है.


11:18 AM: हमारा आर्थिक एजेंडा नागरिकों के लिए अवसरों को सुविधाजनक बनाने, विकास और रोज़गार सृजन को तेज़ गति प्रदान करने और व्यापक आर्थिक स्थिरता को मज़बूत करने पर केंद्रित है


11:17 AM: हमारा आर्थिक एजेंडा नागरिकों के लिए अवसरों को सुविधाजनक बनाने, विकास और रोज़गार सृजन को तेज़ गति प्रदान करने और व्यापक आर्थिक स्थिरता को मज़बूत करने पर केंद्रित है.


11:10 AM: हम ऊर्जा के कुशल उपयोग के लिए हरित गतिशीलता, उपकरण और नीतियों के लिए कई कार्यक्रम लागू कर रहे हैं. सबका साथ और सबका विकास ने लोगों के सभी समूहों को विशेष रूप से वंचितों को समायोजित किया है.


11:09 AM:पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मिशन मोड में सार्वजनिक-निजी भागीदारी की जाएगी.


11:07 AM: वित्त मंत्री बोली, महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण – दीनदयाल अंत्योदय राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन ने उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की है.


11:04 AM: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया बजट


10:46AM: प्रह्लाद जोशी बोले, ‘यह सबसे अच्छा बजट होगा। यह गरीब समर्थक, मध्यम वर्ग समर्थक बजट होगा’


10:36 AM: कैबिनेट से आम बजट को मिली मंजूरी.


10:34 AM: केंद्रीय बजट 2023 की प्रतियां संसद में पहुंच गई हैं.


10:20 AM: पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक संसद में शुरू हुई. कैबिनेट द्वारा बजट 2023 को मंजूरी दिए जाने के बाद, इसे सीतारमण द्वारा संसद में पेश किया जाएगा.


यह भी पढ़ें: घट रहा ड्रॉपआउट रेट, जेंडर गैप हो रहा कमः शिक्षा के बारे में क्या कहता है आर्थिक सर्वेक्षण


10:10 AM: केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और जी किशन रेड्डी संसद पहुंचे.


10:08 AM प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे संसद भवन, थोड़ी देर में होगी कैबिनेट बैठक.


9:56 AM: संसद भवन पहुंची केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण.


9:30 AM: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने केंद्रीय बजट 2023 को औपचारिक मंजूरी दी.


9:28 AM: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने केंद्रीय बजट 2023-24 पेश करने से पहले राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की.


9:03 AM: निर्मला सीतारमण वित्तमंत्रालय से हुई रवाना. राष्ट्रपति भवन जाकर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से करेंगी मुलाकात.


8:50 AM: बजट पेश होने से पहले शेयर बाज़ार में तेज़ी. सेंसेक्स में 250 अंकों से ज्यादा की बढ़त. निफ्टी में 200 से ज्यादा अंकों की तेज़ी. डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे मजबूती से खुला.


8:37 AM: बजट पेश होने से पहले वित्त मंत्रालय पहुंचीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण.


8:31 AM: वित्त राज्य मंत्री डॉ भागवत किशनराव कराड ने कहा, आम जनता को क्या मिलेगा ये आपको सुबह 11 बजे पता चल जाएगा.


8:21 AM: आम बजट से पहले डॉ भागवत किशनराव कराड ने पूजा पाठ किया


8:13 AM: वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा, ‘समाज के हर वर्ग की उम्मीदों पर खरा उतरेगा ये आम बजट। मोदी सरकार ने हमेशा देश की जनता के हित में काम किया है


7:45 AM: हर किसी की नज़र है वित्त मंत्री की तिजोरी पर, कुछ न कुछ सभी को चाहिए. यहां पढ़ें पूरा लेख 


इससे पहले मंगलवार को वित्त मंत्री ने आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 पेश किया. इस सर्वे में विकास दर के कम रहने का अनुमान जताया गया है. हालांकि, भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बना रहेगा.

सर्वे में कहा गया है कि अगले वित्त वर्ष यानी 2023-2024 में भारत की आर्थिक विकास दर 6.5 प्रतिशत बनी रहेगी. हालांकि, भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष (अप्रैल 2022 से मार्च 2023) में सात प्रतिशत रहने का अनुमान है. यह पिछले साल 2021-22 के 8.7 प्रतिशत के आंकड़े से कम है.

सर्वे में कहा गया, ‘‘अर्थव्यवस्था ने जो कुछ खोया था, उसे लगभग फिर से पा लिया है. जो रुका हुआ था, उसे नया कर दिया है, और महामारी के दौरान तथा यूरोप में संघर्ष के बाद जो गति धीमी हो गई थी, उसे फिर से सक्रिय कर दिया है.’’

इसमें ये भी कहा गया है कि ‘‘महंगाई को काबू करने के लिए कर्ज़ लंबे समय तक महंगा रह सकता है.’’

इस बार के बजट में क्या-क्या खास रह सकता है. इसकी झलक हमें राष्ट्रपति के पहले अभिभाषण में देखने को मिली.

मंगलवार को संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने कहा था कि अमृतकाल का यह 25 वर्ष का कालखंड, स्वतंत्रता की स्वर्णिम शताब्दी का और विकसित भारत के निर्माण का कालखंड है. ये 25 वर्ष हम सबके लिए और देश के प्रत्येक नागरिक के लिए कर्तव्यों की पराकाष्ठा करके दिखाने का है.

राष्ट्रपति ने कहा था, ‘‘हमें 2047 तक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करना है जो अतीत के गौरव से जुड़ा हो और जिसमें आधुनिकता का हर स्वर्णिम अध्याय हो.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें ऐसे भारत का निर्माण करना है, जिसमें गरीबी न हो, जिसका मध्यम वर्ग भी वैभव से युक्त रहे.’’

अब इस मध्यम वर्ग के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री के पिटारे में क्या कुछ खास रहेगा….उसके लिए जुड़े रहिए दिप्रिंट के लाइव ब्लॉग से.


यह भी पढ़ें: Budget 2023: 2022 पूंजीगत खर्च के वादों की राह पर मोदी सरकार, राज्य पिछड़े; पंजाब-बिहार काफी पीछे


 

share & View comments