scorecardresearch
Thursday, 13 June, 2024
होम50 शब्दों में मतयूनिकॉर्न और स्टार्ट-अप की तरह भारतीय ई-कॉमर्स कंपनियों को आगे बढ़ने देना चाहिए, विवादित ड्राफ्ट क्लॉज को संशोधित करें

यूनिकॉर्न और स्टार्ट-अप की तरह भारतीय ई-कॉमर्स कंपनियों को आगे बढ़ने देना चाहिए, विवादित ड्राफ्ट क्लॉज को संशोधित करें

दिप्रिंट का 50 शब्दों में सबसे तेज़ नज़रिया.

Text Size:

भारतीय यूनिकॉर्न और टेक स्टार्ट-अप आगे बढ़ रहे हैं, आईपीओ ला रहे हैं, प्राइवेट इक्विटी निवेशकों को आकर्षित कर रहे हैं और यहां तक कि कंपनियों का भी अधिग्रहण कर रहे हैं. उनके उदय के पीछे सरकारी नीतियों का हाथ रहा है. ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए भी यही होना चाहिए. सरकार को उद्योग जगत की बात सुननी चाहिए और और ई-कॉमर्स नियमों के मसौदे में विवादास्पद क्लॉज को संशोधित करना चाहिए.

share & View comments