Monday, 23 May, 2022
होमविदेशUS उपराष्ट्रपति हैरिस ने पाकिस्तानी आतंकवाद की ओर किया इशारा, इस पर नज़र रखने को लेकर जताई सहमति

US उपराष्ट्रपति हैरिस ने पाकिस्तानी आतंकवाद की ओर किया इशारा, इस पर नज़र रखने को लेकर जताई सहमति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच कई मुद्दों पर बात हुई.

Text Size:

वॉशिंगटनः पीएम मोदी से मुलाकात के दौरान अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने ‘स्वतः संज्ञान’ लेते हुए आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान की भूमिका की ओर इशारा किया और कहा इस्लामाबाद द्वारा आंतकवादी गुटों के समर्थन किया जाता है जिस पर लगाम लगाने की जरूरत है. भारत के विदेश सचिव हर्ष वी श्रृंगला ने इस बात की जानकारी दी.

विदेश सचिव ने कहा, ‘हैरिस ने पाकिस्तान में आतंकी गुटों के उपस्थित होने की बात को स्वीकार किया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकी गुट काम कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान इस पर कार्रवाई करे ताकि ये भारत और अमेरिका की सुरक्षा को प्रभावित नहीं करे.’

उन्होंने कहा, ‘हैरिस ने प्रधानमंत्री की सीमापार आतंकवाद की बात को स्वीकार किया और यह भी माना कि भारत दशकों से इसका शिकार रहा है.’

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की. इस दौरान दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने पर जोर दिया और पारस्परिक एवं वैश्विक हित वाले मुद्दों पर चर्चा की.

दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात है. इससे पहले हैरिस ने भारत में कोविड-19 संकट के दौरान मोदी से फोन पर बात की थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

हैरिस ने भारत को अमेरिका का ‘बेहद अहम भागीदार’ करार दिया. साथ ही नयी दिल्ली की उस घोषणा का स्वागत किया जिसमें भारत ने जल्द ही कोविड-19 टीके का निर्यात फिर से शुरू करने की बात कही है.


यह भी पढ़ेंः PM मोदी ने प्रमुख अमेरिकी कंपनियों के CEO से की मुलाकात, भविष्य की निवेश की योजनाओं पर चर्चा


 

share & View comments