आतंकी हमले के बाद चीनी वाणिज्य दूतावास के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी. (फोटो: गेटी इमेजेज)
Text Size:
  • 24
    Shares

इस्लामाबाद/नई दिल्ली: पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में शुक्रवार को बम विस्फोट में कम से कम 30 लोग मारे गए और 40 से ज्यादा घायल हो गए. ‘डॉन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह विस्फोट ओरकजई जनजातीय जिले के कलाया बाजार में इमामबाड़े के पास हुआ. जियो न्यूज ने सुरक्षा सूत्रों के हवाले से कहा, ‘रिमोट कंट्रोल बम एक मोटरसाइकिल से जुड़ा था.’

दूसरी तरफ, पाकिस्तान के शहर कराची में चीन के वाणिज्यिक दूतावास के पास आतंकवादी हमले में शुक्रवार को दो पुलिसकर्मियों सहित कम से कम पांच लोग मारे गए. भारत ने इस हमले की निंदा की है. चीन ने कहा है कि पाकिस्तान में आतंकी हमले में हमारे स्टाफ सुरक्षित हैं.

कलाया बाजार में जिस समय विस्फोट हुआ, उस दौरान बाजार में काफी लोग थे. विस्फोट के बारे में अभी कोई विस्तृत जानकारी नहीं मिली है. सुरक्षा सूत्रों ने कहा कि क्षेत्र में बचाव और तलाशी अभियान चल रहा था.

प्रधानमंत्री इमरान खान ने विस्फोट की निंदा की और लोगों का मूल्यवान जीवन खत्म होने पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ‘हम शहीदों के सर्वोच्च सम्मान के लिए प्रार्थना करते हैं और उनके परिवारों के लिए सहानुभूति व्यक्त करते हैं.’

उन्होंने कहा कि घायलों के लिए बेहतरीन चिकित्सा सुविधाओं के आदेश दिए गए हैं. मुख्यमंत्री महमूद खान ने हमले के बाद कहा, ‘हमारे दुश्मन प्रांत में शांति से खुश नहीं हैं.’ मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने इस हमले को ‘अफगानिस्तान में अमेरिका की नाकामी का नतीजा’ बताया.

चीनी दूतावास के पास पांच मौतें

पाकिस्तान के कराची में चीन के वाणिज्यिक दूतावास के पास आतंकवादी हमले में शुक्रवार को दो पुलिसकर्मियों सहित कम से कम पांच लोग मारे गए. कराची दक्षिण क्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक जावेद आलम ने बताया कि अज्ञात आतंकवादियों के एक समूह ने कूटनीतिक क्षेत्र में वाणिज्यिक दूतावास के पास गोली चलानी शुरू कर दी. इस दौरान दो पुलिसकर्मी और तीन अन्य लोग मारे गए. हमला कराची के क्लिफ्टन क्षेत्र में हुआ जहां कई अन्य विदेशी मिशन भी हैं.

करीब तीन से चार आतंकवादी इस इलाके में पहुंचे और यहां तैनात पुलिसकर्मियों पर गोलीबारी की व ग्रेनेड दागने शुरू कर दिए. कराची के जिन्ना अस्पताल की निदेशक सीमी जमाली ने मीडिया से कहा कि अस्पताल में पांच शव और एक घायल को लाया गया है.

अस्पताल चिकित्सक ने कहा कि मारे गए लोगों में दो की पहचान पुलिसकर्मियों के रूप में हुई है जबकि तीन अन्य की पहचान नहीं हो पाई है. कराची के पुलिस प्रमुख अमीर शेख ने कहा कि सुरक्षा बलों के साथ गोलीबारी में कम से कम तीन आतंकवादी मारे गए हैं. पुलिस प्रमुख ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों में दो के पास से आत्मघाती विस्फोट वाली जैकेट भी बरामद की गईं.

पुलिस प्रमुख ने कहा कि गोलीबारी बंद हो गई है और सुरक्षा बल व पुलिस इलाके में खोज अभियान चला रहे हैं. बम निष्क्रिय करने वाला दस्ता भी इलाके में आतंकवादियों द्वारा लगाए बमों को निष्क्रिय कर रहा है. राजनयिक परिसर की ओर जाने वाले सभी रास्तों पर लोगों और मीडिया के लिए प्रतिबंध लगा दिया है. शहर के सभी अस्पतालों में आपातकाल घोषित कर दिया गया है.

बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने कथित तौर पर हमले की जिम्मेदारी ली है लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने घटना की निंदा की और इसे पाकिस्तान और चीन के आर्थिक व सामरिक सहयोग के खिलाफ साजिश करार दिया. इमरान ने कहा, ‘इस तरह की घटनाएं पाकिस्तान-चीन संबंध को कमजोर नहीं कर सकती हैं जो हिमालय से अधिक शक्तिशाली और अरब सागर से गहरा है.’

हमारा स्टाफ सुरक्षित : चीन

चीन ने कहा है कि पाकिस्तान के कराची स्थित वाणिज्य दूतावास के पास शुक्रवार को हुए आतंकवादी हमले में उसके कर्मचारी सुरक्षित हैं. चीन के विदेश मंत्रालय प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि हमलावर वाणिज्य दूतावास परिसर में घुसने में नाकाम रहे. सभी तीन हमलावर मारे गए हैं. गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी की भी मौत हो गई.

भारत ने निंदा की

भारत ने शुक्रवार को पाकिस्तान के कराची स्थित चीन के वाणिज्यिक दूतावास पर हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की है. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘भारत आज कराची स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास पर आतंकवादी हमले की सख्ती से निंदा करता है.’

बयान में कहा गया है, ‘हम इस कायराना हमले में जान गंवाने वाले लोगों के लिए शोक प्रकट करते हैं… इस जघन्य हमले के अपराधियों को शीघ्रता से दंडित किया जाना चाहिए. ऐसे आतंकवादी हमले अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सभी रूपों में आतंकवाद का मुकाबला करने के संकल्प को मजबूती प्रदान करते हैं.’

(समाचार एजेंसी आईएएनएस से इनपुट के साथ)


  • 24
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here