scorecardresearch
Thursday, 30 May, 2024
होमदेशभारतीय राजनयिक बोले- भारत ने कभी भी पाकिस्तान के साथ व्यापारिक संबंध नहीं तोड़े हैं

भारतीय राजनयिक बोले- भारत ने कभी भी पाकिस्तान के साथ व्यापारिक संबंध नहीं तोड़े हैं

नई दिल्ली के 2019 में जम्मू और कश्मीर की विशेष स्थिति को रद्द करने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार को निलंबित कर दिया था. साथ ही इस्लामाबाद में भारत के उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया गया था.

Text Size:

इस्लामाबाद: भारत ने पाकिस्तान के साथ व्यापारिक संबंध कभी भी नहीं तोड़े हैं और देश व्यापारिक संबंधों को सामान्य बनाने की दिशा में आगे बढ़ना चाहता है.

समाचार पत्र डॉन की खबर के मुताबिक, पाकिस्तान में भारत के उप उच्चायुक्त सुरेश कुमार ने शुक्रवार को लाहौर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एलसीसीआई) के एक कार्यक्रम में यह बात कही.

उन्होंने कहा, ”भारत हमेशा पाकिस्तान के साथ बेहतर संबंध चाहता है, क्योंकि हम अपना भूगोल नहीं बदल सकते.”

उन्होंने कहा, ”हम पाकिस्तान के साथ सामान्य संबंधों की ओर बढ़ना चाहते हैं. हमने पाकिस्तान के साथ व्यापार भी नहीं रोका. पाकिस्तान ने ही ऐसा किया था.”

कुमार ने कहा, ”हमें यह सोचना चाहिए कि हम अपनी समस्याओं और स्थितियों को कैसे बदल सकते हैं.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

नई दिल्ली के 2019 में जम्मू और कश्मीर की विशेष स्थिति को रद्द करने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार को निलंबित कर दिया था. साथ ही इस्लामाबाद में भारत के उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया गया था.

उन्होंने कहा कि भारत, पाकिस्तान के साथ सामान्य पड़ोसी संबंधों की इच्छा रखता है और इस बात पर ज़ोर देता है कि इस तरह के जुड़ाव के लिए आतंकवाद और शत्रुता से मुक्त वातावरण बनाने की जिम्मेदारी इस्लामाबाद की है.

पाकिस्तान के साथ भारत का व्यापार 2020-21 में 32.92 करोड़ अमेरिकी डॉलर और 2019-20 में 83.05 करोड़ अमेरिकी डॉलर का था.

उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान भारतीय दूतावास द्वारा पाकिस्तानियों को जारी किए जाने वाले वीजा की संख्या में कमी आई थी, लेकिन अब यह संख्या अब बढ़ गई है.

कुमार ने कहा कि भारत सरकार पाकिस्तानियों को चिकित्सा और खेल वीज़ा जारी कर रही है.

उन्होंने कहा कि आज कूटनीति पर्यटन, व्यापार और प्रौद्योगिकी से प्रभावित हो रही है.

उन्होंने जोर देकर कहा कि आयात ”हमेशा गलत नहीं होते हैं और इसके फायदे भी होते हैं.” गौरतलब है कि भारत इस समय चीन के साथ 120 अरब अमेरिकी डॉलर का व्यापार कर रहा है, जिसमें व्यापार संतुलन चीन की ओर है.

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.


यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान ब्रह्मोस मिसाइल मामले में IAF अधिकारी ने रक्षा मंत्रालय के खिलाफ दिल्ली HC में याचिका दायर की


 

share & View comments