Monday, 24 January, 2022
होमदिप्रिंट वैल्यूऐड इनीशिएटिवKIIT के पांच छात्रों को मिला 52 लाख रुपए की एनुअल सैलरी का ऑफर, विश्वविद्यालय में आईं 4200 से अधिक नौकरियां

KIIT के पांच छात्रों को मिला 52 लाख रुपए की एनुअल सैलरी का ऑफर, विश्वविद्यालय में आईं 4200 से अधिक नौकरियां

केआईआईटी की स्थापना 1997 में उच्च शिक्षा संस्थान के रूप में हुई थी. इसे सरकार द्वारा 'प्रतिष्ठित संस्थान' के रूप में मान्यता मिली है. भारत के टाइम्स हायर एजुकेशन (टीएचई), क्यूएस, और एनआईआरएफ जैसे विश्वविद्यालयों की विभिन्न राष्ट्रीय और वैश्विक रैंकिंग में केआईआईटी को प्रभावशाली स्थान मिला है.

Text Size:

भुवनेश्वरः कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी (केआईआईटी) में इस बार 270 से अधिक बड़ी और टॉप मोस्ट कंपनियां प्लेसमेंट के लिए पहुंची और 4200 से अधिक छात्रों का नौकरियों के लिए सेलेक्शन हुआ. ये ऑफर बी.टेक छात्रों के 2022 बैच के 3500 उम्मीदवारों को दिया गया है. इस साल 50 नई कंपनियों ने प्लेसमेंट प्रक्रिया में हिस्सा लिया.

केआईआईटी की कुलपति प्रो. सस्मिता सामंत ने कहा कि ‘2022 के ग्रेजुएशन बैच के लिए कैंपस प्लेसमेंट सीजन की शुरुआत मई 2021 से हो गई थी. साथ ही केआईआईटी दोबारा शत-प्रतिशत कैंपस प्लेसमेंट हासिल करने के लिए तैयार है. यह एक ऐसी कामयाबी है जिसमें 3000 से अधिक छात्रों को सिंगल प्लेसमेंट ऑफर मिला है जबकि 1500 छात्रों की ‘ड्रीम कंपनियों’ में नियुक्ति हुई है जिनकी औसत सालाना सैलरी 8 से 10 लाख रुपए प्रति वर्ष होगी. वहीं, 35 कंपनियों ने 10 लाख रुपए से अधिक प्रति वर्ष की सीटीसी वाले ऑफर दिए हैं. वहीं, 130 से अधिक कंपनियों ने 5 लाख रुपए की एनुअल सैलरी का ऑफर दिया.’

उधर, केआईआईटी के प्रो-वाइस चांसलर प्रो. सरनजीत सिंह ने कहा कि ‘पांच छात्रों को सबसे ज्यादा सीटीसी 52 लाख रुपए प्रति वर्ष के साथ प्लेसमेंट ऑफर मिला है. औसत सीटीसी 6.05 लाख रुपए है जो पिछले वर्ष की तुलना में 30 प्रतिशत अधिक है. 3000 से अधिक छात्रों को पहले ही नियुक्त किया जा चुका है और 1200 से अधिक छात्रों को कई अलग अलग नौकरी के ऑफर मिले हैं.’

केआईआईटी विश्वविद्यालय उद्योग में कई जानी-मानी कंपनियों के साथ जुड़ा हुआ है. कई राष्ट्रीय और बहुराष्ट्रीय कंपनियों में केआईआईटी के छात्रों को नियुक्ति दी गई है.

बता दें कि, फिनटेक कंपनी हाई-रेडियस ने केआईआईटी के सहयोग से उसके कैंपस में एक फिनटेक लैब की स्थापना की है जिसमें 2000 से अधिक छात्रों को 15,000 प्रति माह के साथ एक साल की इंटर्नशिप करने का मौका मिलता है. हाई-रेडियस ने केआईआईटी के 710 से अधिक छात्रों को 8 लाख रुपए का पैकेज का प्लेसमेंट दिया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इस साल, ‘डे ज़ीरो’ ड्रीम कैंपस ड्राइव के जरिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा लगभग 1500 छात्रों को 8.10 लाख प्रति वर्ष औसत सीटीसी का ऑफर मिला है. वहीं, ‘डे-वन’ कैंपस रिक्रूटमेंट ड्राइव में चार कंपनियों से लगभग 2000 जॉब ऑफर दिए गए है.

गौरतलब है कि केआईआईटी की स्थापना 1997 में उच्च शिक्षा संस्थान के रूप में हुई थी. इसे सरकार द्वारा ‘प्रतिष्ठित संस्थान’ के रूप में मान्यता मिली है. भारत के टाइम्स हायर एजुकेशन (टीएचई), क्यूएस, और एनआईआरएफ जैसे विश्वविद्यालयों की विभिन्न राष्ट्रीय और वैश्विक रैंकिंग में केआईआईटी को प्रभावशाली स्थान मिला है.

केआईआईटी ने कोविड महामारी के बावजूद साल 2020 में बीटेक, एमबीए और बायोटेक में शत-प्रतिशत प्लेसमेंट हासिल किया है जबकि लॉ में 50 प्रतिशत से अधिक प्लेसमेंट दिया गया है. केआईआईटी ने 2021 में भी रिकॉर्ड प्लेसमेंट हासिल किया था.

दिप्रिंट वैल्यूऐड इनीशिएटिव कंटेंट पेड और स्पॉन्सर्ड आर्टिकिल है. दिप्रिंट के पत्रकारों की इसे लिखने या इसकी रिपोर्टिंग करने में कोई भूमिका नहीं है.


यह भी पढ़ें: CAG की रिपोर्ट में खुलासा, साल 2008-09 में बनाए गए आठ IIT में हुआ टारगेट का सिर्फ एक तिहाई एडमिशन


share & View comments