scorecardresearch
Saturday, 20 July, 2024
होमदेशअर्थजगत‘UPA ने पूरा एक दशक बर्बाद किया’, सदन में बोलीं वित्तमंत्री- बनेगा, मिलेगा जैसे शब्द हमारी सरकार में गायब

‘UPA ने पूरा एक दशक बर्बाद किया’, सदन में बोलीं वित्तमंत्री- बनेगा, मिलेगा जैसे शब्द हमारी सरकार में गायब

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बात रखते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी सरकार की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकार काम को अटकाती है जबकि हमारी सरकार ने तुरंत फैसले लेकर लोगों के जीवन को आसान बनाया.

Text Size:

नई दिल्ली: लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई और विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A पर जमकर हमला बोला. केंद्रीय मंत्री ने लोकसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी गठबंधन की सरकार ने देश में अभूतपूर्व परिवर्तन लाए हैं. उन्होंने कहा कि जब पूरी दुनिया में मंदी चल रही है तो भारत आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है.

वित्तमंत्री ने कहा, “2013 में मॉर्गन स्टेनली ने भारत को दुनिया की पांच नाजुक अर्थव्यवस्थाओं की सूची में शामिल किया था. भारत को नाजुक अर्थव्यवस्था घोषित कर दिया गया था लेकिन आज उसी मॉर्गन स्टैनली ने भारत को अपग्रेड कर ऊंची रेटिंग दी है. केवल 9 साल में हमारी सरकार की नीतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हुई और आर्थिक विकास तेजी से हुआ. यह सब कोरोना महमारी के बावजूद संभव हुआ. आज हम दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था हैं.”

DBT पूरी दुनिया के लिए उदाहरण

सदन को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि भारत सरकार की योजना DBT आज पूरी दुनिया में चर्चा में है. उन्होंने कहा, “हमारी DBT की कहानी दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए एक उदाहरण है. मैं यूपीए द्वारा DBT के संचालन को मान्यता देता हूं लेकिन 2013-14 में इस माध्यम से केवल 7,367 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए थे. जबकि DBT ट्रांसफर 2014-15 में ही पांच गुना बढ़ गया. पिछले वित्तीय वर्ष में 7.16 लाख करोड़ रुपये DBT के जरिए ट्रांसफर किए गए हैं.”

उन्होंने कहा, “हमने महसूस किया है अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए बैंकिंग क्षेत्र को स्वस्थ रहने की जरूरत है और इसलिए हमने कई कदम उठाए हैं. बैंक राजनीतिक हस्तक्षेप के बिना काम करने में सक्षम हैं और वे पेशेवर ईमानदारी के साथ काम कर रहे हैं. बैंक को लेकर आपकी गलत नीतियों ने रायता फैलाया, जिसे हम साफ कर रहे हैं.”

‘आएगा, बनेगा, चलेगा’ जैसे शब्द हमारी सरकार में गायब

वित्त मंत्री ने पहले के यूपीए सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले की सरकार में कोई योजना को लेकर आएगा, बनेगा, चलेगा, मिलेगा ही चलता था लेकिन हमारी सरकार ने इसे खत्म कर दिया है. उन्होंने कहा, “अब ‘बनेगा, मिलेगा’ जैसे शब्द अब उपयोग में नहीं हैं. आजकल लोग क्या उपयोग कर रहे हैं? ‘बन गए, मिल गए, आ गए’. यूपीए के दौरान लोग कहते थे ‘बिजली आएगी’, अब लोग कहते हैं ‘बिजली आ गई’. पहले लोग कहते थे कि ‘गैस कनेक्शन मिलेगा’, अब कहते हैं ‘गैस कनेक्शन मिल गया’. लोग कहते थे कि एयरपोर्ट ‘बनेगा’, अब एयरपोर्ट ‘बन गया’ है.

इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A. पर भी हमला करते हुए कहा कि “कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली में यहां के मोहल्ला क्लीनिक देखने आए थे. जब वह यहां से मोहल्ला क्लीनिक देखकर वापस चले गए तो कहा कि इसमें कुछ भी खास नहीं है और हम निराश हैं. यह उनकी आपसी लड़ाई का एक उदाहरण है.”

उन्होंने कहा, “यूपीए ने पूरा एक दशक बर्बाद कर दिया क्योंकि वहां बहुत भ्रष्टाचार और भाईचारा था. आज हर संकट का जल्द से जल्द सुधार करने पर बल दिया जाता है.“

UPA के खिलाफ लोगों का अविश्वास प्रस्ताव

वित्तमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि लोगों ने कांग्रेस और विपक्ष को हराकर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया. उन्होंने कहा, “लोगों ने 2014 और 2019 में यूपीए के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया और उन्हें हरा दिया. 2024 में भी विपक्षी गठबंधन की स्थिति वैसी ही होने वाली है. आपने अपना नाम बदला. मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि यूपीए का नाम बदलने की क्या जरूरत थी? आपके अंदर अलग ही एकता है. यह बिल्कुल अद्भुत किस्म का है. यहां यह समझना मुश्किल है कि वे मिलकर हमसे लड़ रहे हैं या फिर एक-दूसरे के ख़िलाफ़ लड़ रहे हैं.”


यह भी पढ़ें: ‘सदस्यता खत्म करने की साजिश’, फर्जी हस्ताक्षर के आरोप पर राघव चड्ढा का BJP पर पलटवार, बोले- चुनौती देता हूं


 

share & View comments