scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमराजनीति'तीसरे मोर्चे की संभावना नहीं' - पीएम मोदी से मुलाकात के बाद नवीन पटनायक

‘तीसरे मोर्चे की संभावना नहीं’ – पीएम मोदी से मुलाकात के बाद नवीन पटनायक

नीतीश कुमार से मंगलवार को हुई मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर पटनायक ने कहा कि यह 'शिष्टाचार मुलाकात' थी. कुमार 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ एक साथ लाने के प्रयास में विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए ‘तीसरे मोर्चे’ के गठन की संभावना से गुरुवार को इनकार कर दिया है.

कुछ नेताओं द्वारा विपक्षी दलों को एक साथ लाने के प्रयासों के बीच मुख्यमंत्री पटनायक, जो दिल्ली में हैं, 2024 के लोकसभा चुनावों में तीसरे मोर्चे की संभावना के बारे में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा, “नहीं, जहां तक मेरा संबंध है. अभी नहीं.”

राष्ट्रीय राजधानी के अपने दौरे पर पटनायक ने ओडिशा से जुड़े विकास कार्यों के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी.

उन्होंने कहा, “मैं प्रधानमंत्री से मिला और हमने उड़ीसा की मांग से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की. मैंने अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए बात की थी कि हमें पुरी में स्थापित करना है, भुवनेश्वर में अब बहुत अधिक यातायात हो रहा है इसलिए हम एक विस्तार चाहते हैं. प्रधान मंत्री ने कहा कि वह निश्चित रूप से हर संभव मदद करेंगे.”

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मंगलवार को हुई मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर पटनायक ने कहा कि यह ‘शिष्टाचार मुलाकात’ थी.

नीतीश कुमार 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ उन्हें एक साथ लाने के प्रयास में विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं. कुमार ने पटनायक से मुलाकात के बाद भी कहा था कि उनकी कोई “राजनीतिक मंशा” नहीं थी.

नीतीश कुमार ने कहा था, “हमारे पुराने संबंध हैं, उनके पिता के साथ भी मेरे अच्छे संबंध थे. हमारे बीच इतना आपसी सम्मान है कि हमें राजनीति की चिंता करने की जरूरत नहीं है. कोरोना वायरस होने के बाद मैं यहां उनसे मिलने में असमर्थ था.”

पटनायक ने यह भी कहा था कि गठबंधन पर कोई चर्चा नहीं हुई.

उन्होंने कहा, “हमारी दोस्ती जानी-पहचानी है और हम कई साल पहले सहयोगी थे. आज किसी भी गठबंधन पर कोई चर्चा नहीं हुई. पुरी में बिहार सरकार को बिहार भवन बनाने के लिए मुफ्त में जमीन दी जा रही है.”


यहां पढ़ें: SC से फैसला अपने हक में आने पर बोली AAP- मोदी सरकार ने Delhi Govt को हड़प लिया था, कोर्ट ने जड़ा तमाचा


 

share & View comments