Saturday, 4 December, 2021
होमराजनीतिUP विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर साथ आए अखिलेश और जयंत, सीट बंटवारे का ऐलान बाकी

UP विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर साथ आए अखिलेश और जयंत, सीट बंटवारे का ऐलान बाकी

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, 'श्री जयंत चौधरी जी के साथ बदलाव की ओर'

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर समाजवादी पार्टी-राष्ट्रीय लोकदल (सपा-आरएलडी) साथ आ गए हैं. मंगलवार को दोनों पार्टियों के प्रमुखों अखिलेश यादव और जयंत चौधरी ने लखनऊ में सीट बंटवारे को लेकर मुलाकात की और दोनों नेताओं ने इस मुलाकात की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की हैं. हालांकि सीटों के बंटवारे ऐलान अभी नहीं किया गया है.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘श्री जयंत चौधरी जी के साथ बदलाव की ओर.’

वहीं आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी ने इस मुलाकात के बाद अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘बढ़ते कदम!’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इस मुलाकात और ट्विटर पर लिखे संदेशों से साफ है कि दोनों पार्टियां यूपी विधानसभा चुनाव 2022 साथ मिलकर लड़ेंगी और अब औपचारिक घोषणा ही बाकी है.

गौरतलब है कि दोनों पार्टियों के अभी तक गठबंधन की घोषणा न होने से मीडिया में खबरें आ रही थीं कि इनका गठबंधन खटाई में पड़ सकता है, जिसके बाद इनकी मुलाकात अहम है.

वहीं इससे पहले लखीमपुर मामले के दौरान जयंत चौधरी की मुलाकात लखनऊ हवाई अड्डे पर प्रियंका गांधी से हुई थी. इसको लेकर भी तमाम अटकलें लगाई गई थीं.

फिलहाल, मुलाकात के बाद देखना है कि दोनों दलों के बीच सीटों के बंटवारे की घोषणा कब होती है.

शिवपाल ने उतर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिये अखिलेश से सौ सीटें मांगीं

वहीं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने सोमवार को कहा था कि उनकी पहली प्राथमिकता समाजवादी पार्टी के साथ एकजुट होकर 2022 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ना है और इसके लिये उन्होंने 100 सीटों की मांग की है.

यादव ने आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) से 403 में से 100 सीटों की मांग की है.

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन के अवसर पर आयोजित एक ‘दंगल’ में सभा को संबोधित करते हुए, शिवपाल ने कहा था, ‘2022 में हमें सत्ता में रहना है. पूरा राज्य चाहता है कि दोनों पार्टियां (प्रसपा और सपा) एक साथ मिलकर चुनाव लड़ें. राज्य के लोगों को इस दिन (मुलायम का जन्मदिन) उम्मीद थी, आज के दिन की आस लगाए बैठे थे लेकिन नतीजा शून्य रहा.’

शिवपाल ने कहा था, ‘हम पहले तो आपस में एका चाहते हैं. एकता में काफी शक्ति होती है. हमने शुरू में ही कहा था कि गठबंधन कर लो, हमारी प्राथमिकता सपा के साथ है. हम चाहते हैं कि जो भी फैसला लेना हो जल्दी किया जाये क्योंकि समय कम रह गया है. जल्दी बात हो जाए .’

 

share & View comments