scorecardresearch
Saturday, 25 May, 2024
होमराजनीतिकाले कपड़े पहन सदन में पहुंची सोनिया, खड़गे और सभी कांग्रेसी, बोले- लोकतंत्र के लिए लड़ते रहेंगे

काले कपड़े पहन सदन में पहुंची सोनिया, खड़गे और सभी कांग्रेसी, बोले- लोकतंत्र के लिए लड़ते रहेंगे

पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस उन तमाम पार्टियों को धन्यवाद करती है जिन्होंने उनके साथ समर्थन दिखाया. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी लोकतंत्र और देश के लिए लड़ती रहेगी.

Text Size:

नई दिल्ली: लोकसभा की सदस्यता से राहुल गांधी को अयोग्य साबित करने को लेकर कांग्रेस नेताओं का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है. आज तमाम कांग्रेसी सांसद संसद काले कपड़े पहनकर पहुंचे और महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे भी काले कपड़े पहनकर संसद पहुंचे. राहुल गांधी के समर्थन में आज तमाम कांग्रेसी सांसद संसद का घेराव भी करेंगे. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने एक बैठक की, जिसमें कांग्रेस के सांसद समेत तृणमूल कांग्रेस के दो सांसद ने भी भाग लिया.

पत्रकारों से बात करते हुए, खड़गे ने राहुल गांधी को लोकसभा से सांसद के रूप में अयोग्य घोषित किए जाने के बाद कांग्रेस के समर्थन में आए विपक्षी दलों को धन्यवाद दिया. अडाणी मुद्दे और राहुल गांधी की अयोग्यता के विरोध में काला कपड़ा पहनकर संसद पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी का भी स्वागत करती है जो ‘लोकतंत्र की रक्षा’ के लिए आगे आता है.

उन्होंने कहा, ‘मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने हमारा समर्थन किया. इसलिए, मैंने कल सभी को धन्यवाद दिया और मैं आज भी उन्हें धन्यवाद देता हूं. हम लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए और लोगों की रक्षा के लिए आगे आने वाले किसी भी व्यक्ति का स्वागत करते हैं. हम उन लोगों का दिल से आभार व्यक्त करते हैं जो हमारा समर्थन करते हैं.’

टीएमसी और आम आदमी पार्टी, राजद, डीएमके सहित कई विपक्षी दलों ने राहुल गांधी की अयोग्यता के बाद कांग्रेस का समर्थन किया था.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि सच्चाई सामने आए. अगर अडाणी की संपत्ति सिर्फ ढाई साल में बढ़ी है, तो इसके पीछे क्या कारण हो सकता है? अगर उसके पास जादू है जो ऐसा कर सकता है, तो हम नागरिकों को भी यह पता चलना चाहिए. अगर जेपीसी का गठन होता है, तो हमें जादू के बारे में पता चलेगा और लोगों को भी सच का पता चलेगा.‘

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इस बीच, कांग्रेस नेता अडानी मुद्दे और लोकसभा सांसद के रूप में राहुल गांधी को अयोग्य ठहराए जाने को लेकर अपना विरोध प्रदर्शन तेज कर दिया. पार्टी सूत्रों के मुताबिक विरोध आगे भी जारी रहेगा.

वहीं कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने आरोप लगाया कि सरकार सदन नहीं चलने देती.

उन्होंने कहा, ‘जब हम संसद में बोलते हैं, तो वे सदन को चलने नहीं देते हैं. जब हम बाहर बोलते हैं, तो वे ऐसा निर्णय लेते हैं जो अयोग्यता की ओर ले जाता है. जब हम लोकतंत्र की हत्या करने वाले इन काले दिल वाले लोगों के सामने काले कपड़े में विरोध में बैठते हैं, मैं उन्हें अपनी काली घड़ी दिखाऊंगा और उन्हें बताऊंगा कि आपका समय समाप्त हो गया है और 2024 के बाद देश में लोकतंत्र आएगा. विपक्ष तीन चौथाई बहुमत से सरकार बनाएगा.’

वहीं कांग्रेसी सांसद मनीष तिवारी ने कहा, ‘जिस तरह से राहुल गांधी की सदस्यता छीनी गई वह पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है. उन्हें अदालत में अपील करने का अधिकार है. कोर्ट ने उन्हें अपील करने के लिए 30 दिन का समय भी दिया था. फिर उनकी सदस्यता लेने की इतनी जल्दी क्या थी? हमारे देश के इतिहास में यह एक काला दिन है. जो हुआ वह अन्यायपूर्ण था. हम इसका विरोध करेंगे.’


यह भी पढ़ें: ‘ताकि वे आपकी बात मानें’, इमरान खान ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से तालिबान को मान्यता देने की अपील की


share & View comments