scorecardresearch
Tuesday, 25 June, 2024
होमराजनीति'हमारी आंखें खुल गईं'- जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्र की रैगिंग से मौत के बाद ममता बनर्जी

‘हमारी आंखें खुल गईं’- जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्र की रैगिंग से मौत के बाद ममता बनर्जी

19 साल के स्वप्नदीप कुंडू की 9 अगस्त को कथित तौर पर रैगिंग के बाद यूनिवर्सिटी के मैन हॉस्टल की तीसरी मंजिल से गिरकर मौत हो गई थी.

Text Size:

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि कोलकाता की प्रतिष्ठित जादवपुर यूनिवर्सिटी में कथित रैगिंग के कारण एक छात्र की मौत ने सरकार की आंखें खोल दीं.

बनर्जी ने कहा कि राज्य शिक्षा संस्थानों में रैगिंग से निपटने के लिए जल्द ही एक हेल्पलाइन शुरू की जाएगी.

इसके अलावा, सरकार ने उन परिस्थितियों पर गौर करने के लिए चार सदस्यीय समिति का भी गठन किया है, जिनके कारण 9 अगस्त को प्रथम वर्ष के छात्र स्वप्नदीप कुंडू की मौत हुई, जिसमें “प्रशासनिक और बुनियादी ढांचे की खामियां” शामिल थीं.

कथित तौर पर रैगिंग और यौन उत्पीड़न के बाद कुंडू की उस रात यूनिवर्सिटी के मैन हॉस्टल की तीसरी मंजिल की बालकनी से गिरने के बाद मौत हो गई थी.

मरने से दो घंटे पहले, कुंडू ने कथित तौर पर नादिया के बगुला में अपनी मां को फोन किया था और कहा था कि वह “बहुत डरा हुआ” है और घर जाना चाहता है.

पुलिस ने मौत के सिलसिले में बारह लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें वे छात्र भी शामिल हैं जो स्नातक हो चुके थे लेकिन अभी भी छात्रावास में रह रहे थे.

इस बीच, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने मामले पर विश्वविद्यालय प्रशासन से तीसरी रिपोर्ट मांगी है, उसने पहली को “सामान्य” और दूसरी को “असंतोषजनक” के रूप में खारिज कर दिया था.

यूजीसी के अध्यक्ष एम. जगदीश कुमार ने सोमवार को कहा कि वैधानिक निकाय की गई कार्रवाई के विवरण पर तीसरा स्पष्टीकरण मांगेगा.

कुमार ने कहा, “रैगिंग एक गंभीर मुद्दा है और जादवपुर यूनिवर्सिटी को छात्रों को सुरक्षित वातावरण देने के लिए यूजीसी नियमों का पालन करना चाहिए.”

यूजीसी ने कहा कि यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट में उत्पीड़न और रैगिंग के मामलों को रोकने के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा उठाए गए कदमों पर “विशिष्ट विवरण” का अभाव है.


यह भी पढ़ें: ‘मामा’ ने किया बलात्कार, दीं गर्भपात की गोलियां – दिल्ली के अधिकारी ने नाबालिग के साथ बार बार किया रेप


 

share & View comments