Sunday, 26 June, 2022
होमराजनीतिसिंगला के खिलाफ भगवंत की कार्रवाई पर केजरीवाल ने कहा- तुम्हारी कार्रवाई से मेरी आंखों में आंसू आ गए

सिंगला के खिलाफ भगवंत की कार्रवाई पर केजरीवाल ने कहा- तुम्हारी कार्रवाई से मेरी आंखों में आंसू आ गए

पंजाब के सीएमओ ने कहा, 'इससे पहले साल 2015 में दिल्ली के सीएम ने अपने मंत्री को भ्रष्टाचार के मामले में अपने एक मंत्री को बर्खास्त कर दिया था.'

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि वो पंजाब के मंत्री विजय संघला को करप्शन के आरोप में बर्खास्त करने के लिए राज्य के सीएम भगवंत मान पर गर्व करते हैं.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘तुम पर गर्व है भगवंत. तुम्हारी कार्रवाई से मेरी आंखों में आंसू आ गए. आज पूरा देश आप पर गर्व महसूस कर रहा है.’

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी की करप्शन के खिलाफ जीरो टॉलेरेंस की पॉलिसी है. भगवंत ने कहा कि उन्होंने सिंगला को कैबिनेट से बर्खासत कर दिया और पुलिस को उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है.

पंजाब सीएमओ के मुताबिक सिंगला ने कॉन्ट्रेक्ट के लिए एक अधिकारी से 1 प्रतिशत कमीशन की मांग की थी जिसके बारे में उन्होंने स्वीकार भी किया.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

भगवंत ने कहा, ‘मैं मंत्री के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए, कैबिनेट से बर्खास्त कर रहा हूं और पुलिस को उनके खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दे रही हूं. वह मंत्री विजय सिंगला हैं. वह अपने डिपार्टमेंट में भ्रष्टाचार में लिप्त पाए गए हैं और उन्होंने यह स्वीकार किया है. आप की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलेरेंस पॉलिसी है.’

पंजाब के सीएम ने कहा, ‘मेरी जानकारी में मामला आया था, मेरी सरकार में मंत्री हर टेंडर पर एक प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहे थे. मैंने इसे बहुत गंभीरता से लिए है. किसी को यह नहीं पता था, अगर मैं चाहता तो इसे कालीन के नीचे दबा सकता था लेकिन जिन लोगों ने मुझ पर भरोसा किया, उनका भरोसा तो मैंने तोड़ दिया होता.’

पंजाब के एंटी करप्शन ब्रांच ने विजय सिंगला को भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

सीएमओ ने दावा किया, ‘देश के इतिहास में दूसरी बार, मुख्यमंत्री ने अपने मंत्री के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है.’

पंजाब के सीएमओ ने कहा, ‘इससे पहले साल 2015 में दिल्ली के सीएम ने अपने मंत्री को भ्रष्टाचार के मामले में अपने एक मंत्री को बर्खास्त कर दिया था.’


यह भी पढ़ें: कैसे सरकार बिजली संकट के लिए खुद जिम्मेदार, क्यों मानसून में एक और संकट का सामना करने के लिए रहना होगा तैयार


share & View comments