scorecardresearch
Thursday, 25 April, 2024
होमराजनीतिचुनाव आयोग द्वारा नाम और चिह्न मिलने के बाद, शिंदे के शिवसेना गुट को मिला संसद भवन का कमरा

चुनाव आयोग द्वारा नाम और चिह्न मिलने के बाद, शिंदे के शिवसेना गुट को मिला संसद भवन का कमरा

चुनाव आयोग ने पिछले शुक्रवार को शिंदे गुट को 'शिवसेना' के नाम और चुनाव चिन्ह से नवाजा था, जिसके बाद ठाकरे दल ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

Text Size:

नई दिल्ली: चुनाव आयोग (ईसी) द्वारा ‘शिवसेना’ नाम और ‘धनुष और तीर’ चिन्ह आवंटित किए जाने के कुछ दिनों के बाद ही, संसद भवन में शिवसेना को आवंटित कार्यालय भी एकनाथ शिंदे गुट को दे दिया गया.

संसदीय दल के नेता राहुल शेवाले के एक पत्र के जवाब में लोकसभा सचिवालय ने इसकी पुष्टि की.

उन्होंने कहा कि संसद भवन में कमरा नंबर 128 शिवसेना संसदीय दल को आवंटित किया जाता है.

चुनाव आयोग ने पिछले शुक्रवार को शिंदे गुट को ‘शिवसेना’ के नाम और चुनाव चिन्ह से नवाजा था, जिसके बाद ठाकरे दल ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

चुनाव आयोग द्वारा मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट को ‘शिवसेना’ नाम और ‘धनुष-तीर’ पार्टी का प्रतीक दिए जाने के बाद, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया था कि उनका सब कुछ चोरी किया गया है, लेकिन ‘ठाकरे’ नाम चोरी नहीं किया जा सकता.

ठाकरे ने कहा था कि यदि ऐसे मामले सुप्रीम कोर्ट जा रहे है तो चुनाव आयोग को भंग कर देना चाहिए.

प्रतिद्वंद्वी दल नेतृत्व करने वाले पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने चुनाव आयोग पर केंद्र में भाजपा के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया और चुनाव आयोग के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया.


यह भी पढ़ें: ‘जहां भी कांग्रेस और चुनाव होंगे, वहां ED पहुंचेगा’, केसी वेणुगोपाल का BJP पर हमला


share & View comments