scorecardresearch
Sunday, 23 June, 2024
होमराजनीतिझारखंड के CM हेमंत सोरेन ED के सामने पेश नहीं हुए, दी चुनौती - 'आओ और मुझे गिरफ्तार करो'

झारखंड के CM हेमंत सोरेन ED के सामने पेश नहीं हुए, दी चुनौती – ‘आओ और मुझे गिरफ्तार करो’

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी ने जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के उल्लंघन और साहेबगंज जिले में एक अवैध खनन मामले से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जांच के लिए गुरुवार को तलब किया था.

Text Size:

नई दिल्ली: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूछताछ के लिए समन भेजने के बजाय उन्हें गिरफ्तार करने की चुनौती दी है.

सोरेन को गुरुवार को रांची में ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय में पेश होना था लेकिन वो नहीं हुए.

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आयोजित एक आदिवासी उत्सव में भाग लेने के लिए रायपुर जाने से पहले झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए, सोरेन ने उन्हें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ एक लंबी राजनीतिक लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा.

सोरेन ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के समर्थन में भारी नारेबाजी के बीच कहा, ‘मुझे ईडी ने आज तलब किया है जब मेरा पहले से ही छत्तीसगढ़ में एक कार्यक्रम है. अगर मैंने इतना बड़ा अपराध किया है, तो आओ और मुझे गिरफ्तार करो. पूछताछ क्यों? ईडी कार्यालय के पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है. क्यों, आप झारखंड के लोगों से डरते हैं?’

सोरेन ने कहा कि 2019 में ऐतिहासिक जनादेश पाने वाली उनकी सरकार को अस्थिर करने की एक बड़ी साजिश के तहत संघीय एजेंसी बाहुबल दिखाकर उन्हें डराने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘हमने राज्य में कुछ बाहरी गिरोहों की पहचान की है जो राज्य के आदिवासियों को अपने पैरों पर खड़ा नहीं होने दे रहे हैं. इस राज्य में बाहरी ताकतों के बजाय झारखंडियों का शासन होगा. आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में भाजपा का सफाया हो जाएगा.’

अपने कार्यकर्ताओं से राजनीतिक लड़ाई के लिए तैयार रहने का आग्रह करते हुए सोरेन ने कहा कि उन्हें गांवों में वापस जाने और अपनी सरकार को अस्थिर करने की ‘बीजेपी की साजिश’ का पर्दाफाश करने की जरूरत है.

उन्होंने कहा, ‘हमने अभी तक कुछ नहीं किया है. जब झारखंडी अपनी चीजो पर उतरेगा, तो वो दिन दूर नहीं जहां आप लोगों को यहां सर छुपाने का मौका भी नहीं मिलेगा.’

सोरेन ने गुजरात के आदिवासियों से यह सुनिश्चित करने का भी आह्वान किया कि आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा सभी आदिवासी सीटों को खो दे.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी ने जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के उल्लंघन और साहेबगंज जिले में एक अवैध खनन मामले से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जांच के लिए गुरुवार को तलब किया था.


यह भी पढ़ें: पाकिस्तानियों को अपने अधिकारों के लिए खड़े होने की जरूरत है: इमरान खान ने मार्च के छठे दिन कहा


share & View comments