scorecardresearch
Thursday, 11 July, 2024
होमचुनाव'निराशाजनक', खरगे बोले- पार्टी खुद को मजबूत करेगी, JDU का पलटवार- कांग्रेस अकेले जीतने में सक्षम नहीं

‘निराशाजनक’, खरगे बोले- पार्टी खुद को मजबूत करेगी, JDU का पलटवार- कांग्रेस अकेले जीतने में सक्षम नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार पर निराशा जताते हुए कहा कि उनका दल इन राज्यों में खुद को मजबूत करेगा तथा विपक्षी गठबंधन ‘INDIA’ के घटक दलों के साथ मिलकर अगले लोकसभा चुनाव के लिए अपने आपको तैयार करेगा.

Text Size:

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार पर निराशा जताते हुए रविवार को कहा कि उनका दल इन राज्यों में खुद को मजबूत करेगा तथा विपक्षी गठबंधन ‘INDIA’ के घटक दलों के साथ मिलकर अगले लोकसभा चुनाव के लिए अपने आपको तैयार करेगा.

उन्होंने तेलंगाना में कांग्रेस की जीत के लिए मतदाताओं का आभार जताया.

खरगे ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पर विश्वास और भरोसा जताने के लिए मैं तेलंगाना के मतदाताओं का धन्यवाद करता हूं. मैं उन सभी का भी धन्यवाद करता हूं जिन्होंने हमें छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान में वोट दिया. ये चुनाव परिणाम हमारी अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं रहे हैं, परंतु हमें विश्वास है कि हम मेहनत एवं दृढ़ निश्चय से मज़बूती से वापसी करेंगे.’’

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी ने पूरे दम-ख़म के साथ इन चार राज्यों के चुनाव में भाग लिया. मैं अपने अनगिनत कार्यकर्ताओं के प्रति आभार व्यक्त करता हूं.’’

खरगे ने कहा, ‘‘हमें इस हार से हताश हुए बग़ैर ‘INDIA’ के घटक दलों के साथ दोगुने जोश से लोकसभा चुनाव की तैयारी में लग जाना है.’’

कांग्रेस अपने दम पर जीतने में सक्षम नहीं, ‘INDIA’ को मजबूत करना होगा: जदयू

वहीं दूसरी तरफ जनता दल (यूनाइटेड) ने रविवार को हिंदी पट्टी के तीन राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर उसे आड़े हाथ लेते हुए कहा कि मुख्य विपक्षी दल अपने दम पर जीतने में सक्षम नहीं है.

जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव के परिणाम कांग्रेस की पराजय और भाजपा की विजय का संकेत देते हैं . उन्होंने कहा कि चुनावों में विपक्षी ‘INDIA’ गठबंधन गायब था.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इन राज्यों के चुनाव में ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ ‘INDIA’ के अपने एक भी सहयोगी दल को न कभी आमंत्रित किया और ना ही उससे सलाह-मशविरा किया.

त्यागी ने कहा कि समाजवाद की विचाराधारा वाले दलों से भी परामर्श नहीं किया गया जिनकी इन राज्यों में ऐतिहासिक रूप से मौजूदगी रही है.

वह चुनाव से पहले भोपाल में विपक्षी गठबंधन की एक प्रस्तावित रैली को निरस्त किये जाने के लिए एक तरह से कांग्रेस नेतृत्व पर प्रहार कर रहे थे.

‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक छह दिसंबर को बुलाई गई है.

त्यागी ने कहा, ‘‘इस समय सभी के लिए बहुत जरूरी है कि ‘INDIA’ गठजोड़ को मजबूत किया जाए. यदि कुछ महीने पहले गठबंधन की बैठक बुलाई गई होती तो कारगर होती.’’


यह भी पढ़ें: CM का चेहरा कौन? BJP में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर चर्चा शुरू, बंपर जीत के साथ शिवराज की दावेदारी मजबूत


 

share & View comments