Monday, 27 June, 2022
होमराजनीतिकांग्रेस विश्लेषकों का दावा: मायावती की मदद से 200 लोक सभा सीटें जीत सकती है यूपीए

कांग्रेस विश्लेषकों का दावा: मायावती की मदद से 200 लोक सभा सीटें जीत सकती है यूपीए

Text Size:

कांग्रेस विश्लेषकों का कहना है मायावती की मदद से यूपीए लोकसभा में 200 सीटें  जीत सकती है

दोनों पार्टियों ने संभावित गठबंधन पर औपचारिक वार्ता प्रारंभ कर दी हैः बसपा ने उत्तर प्रदेश के अलावा छह राज्यों में 39 सीटों की माँग की है।

नई दिल्लीः दिप्रिंट को ज्ञात हुआ है कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने कांग्रेस से उत्तर प्रदेश के अलावा छह राज्यों में 39 सीटों की माँग की है। दोनों पार्टियों ने चार विधानसभा चुनावों और 2019 के संसदीय चुनावों से पहले संभावित राष्ट्रीय गठबंधन के लिए वार्ता प्रारंभ कर दी है।

बसपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने कांग्रेस के अनुभवी नेता अहमद पटेल से 10 अगस्त को नई दिल्ली में मुलाकात की। सूत्रों ने बताया कि बैठक में बसपा ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, पंजाब और महाराष्ट्र में सीटों की माँग की है। बसपा की माँग पर कांग्रेस ने अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया है।

लेकिन पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी पार्टी के भीतरी सूत्रों द्वारा पेश किए गए विस्तृत विश्लेषण के आधार पर बसपा के साथ गठबंधन करने पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं। पिछले महीने कांग्रेस कार्यकारिणी समिति ने 2019 और चार विधानसभा चुनावों में गठबंधन पर अंतिम फैसला लेने की जिम्मेदारी राहुल गाँधी को सौंपी थी।

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें


यह भी पढ़े : AGP will pull out of alliance if BJP goes ahead with citizenship bill: Prafulla Mahanta


बसपा कांग्रेस के लिए जरूरी

कांग्रेस के भीतरी सूत्रों ने पार्टी अध्यक्ष को बताया है कि 2019 के चुनावों के लिए बसपा पार्टी की संभावनाओं के लिए काफी अहम हो सकती है। उनके विश्लेषण के अनुसार, अगर कांग्रेस ने 2014 लोकसभा चुनावों में बसपा के साथ गठबंधन कर लिया होता तो इसको 15 और सीटें मिल जाती – मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश प्रत्येक में चार-चार सीटें, पंजाब और छत्तीसगढ़ प्रत्येक में दो-दो तथा बिहार, महाराष्ट्र और कर्नाटक प्रत्येक में एक-एक सीट।

कांग्रेस के विश्लेषकों का यह भी मानना है कि 2019 में बसपा के साथ गठबंधन करके कांग्रेस 200 सीटें तक हासिल कर सकती है।

कांग्रेस के एक सूत्र का कहना है कि “एनडीए से यूपीए के लिए 3 प्रतिशत वोटों की कमीबेशी मानते हुए, बसपा के साथ गठबंधन करने पर यूपीए को 192 तक सीटें प्राप्त हो सकती हैं। अगर हम सपा और अन्य पार्टियों, जो 2014 में यूपीए का हिस्सा नहीं थीं, के साथ गठबंधन करते हैं तो यह संख्या और भी अधिक हो सकती है।”


यह भी पढ़े : Congress leaders look at regional alliances in a bid to take on BJP


चुनाव जीतने के लिए आवश्यक वोट न हासिल कर पाने के बावजूद भी आठ से नौ राज्यों में बसपा की अच्छी पकड़ है। कांग्रेस का मानना है कि उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य छह राज्यों में बसपा के साथ गठबंधन करने से उसको बसपा के वोट भी मिल जायेंगे, जो एनडीए के साथ कड़े संघर्ष में काफी अहम हो सकते हैं।

बसपा के वरिष्ठ नेता और आधिकारिक प्रवक्ता सुधीन्द्र भदौरिया का कहना है कि “इसमें कोई संदेह नहीं है कि बसपा की पूरे देश में पहुँच है। राष्ट्रव्यापी वोट शेयर के मामले में हम भाजपा और कांग्रेस के बाद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी हैं। हमारी नेता मायावती जी ने पहले ही कहा था कि अगर पार्टी को सम्मानजनक सीटें दी जाती हैं तो हम पार्टी के साथ गठबंधन कर लेंगे। हालांकि, ऐसा कोई भी फैसला स्वयं मायावती जी द्वारा ही लिया जाएगा।”

Read in English : Congress analysts say UPA could touch 200 in Lok Sabha polls with help from Mayawati

share & View comments