scorecardresearch
Wednesday, 29 May, 2024
होमराजनीतिभाजपा नेताओं ने तबलीग़ी जमात से देशभर में फैले संक्रमण को 'कोरोना जिहाद- मानव बम' कहा, उद्धव बोले- मज़हबी रंग न दें

भाजपा नेताओं ने तबलीग़ी जमात से देशभर में फैले संक्रमण को ‘कोरोना जिहाद- मानव बम’ कहा, उद्धव बोले- मज़हबी रंग न दें

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने देश में कोरोनावायरस को लेकर मज़हबी रंग दिये जाने को लेकर ऐसा न करने की अपील की है. बता दें कि कर्नाटक से लेकर हिमाचल प्रदेश तक भाजपा नेताओं ने तबलीगी जमात से फैले संक्रमण को मानव बम और कोरोना जिहाद का नाम दिया है.

Text Size:

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज के आयोजन के बाद देशभर कोरोनावायरस संक्रमण के मामले बढ़ गए है. तबलीगी जमात के इस आयोजन में शामिल होने से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के नेता इसे जिहादी योजना और मानव बम तक का नाम दे दिया है. हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राजीव बिंदल ने शनिवार को आरोप लगाया कि तबलीगी जमात के सदस्यों ने ‘मानव बम’ की तरह घूम-घूमकर देश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए किए गए प्रयासों पर पानी फेर दिया.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘केंद्र और राज्य सरकारों ने कोरोना वायरस से निपटने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी. लेकिन तबलीगी जमात के सदस्य सहित कुछ लोग मानव बम की तरह घूमकर सारे प्रयासों पर पानी फेर रहे हैं.’

राजीव बिंदल ने दावा किया कि देश में करीब 130 करोड़ भारतीय लॉकडाउन के निर्देशों का पालन कर रहे हैं लेकिन ‘कुछ अमानवीय’ लोग महामारी को रोकने के सारे प्रयासों को व्यर्थ साबित कर रहे हैं. वहीं कर्नाटक के चिकमंगलूर में भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे ने भी निजामुद्दीन मरकज में किए गए आयोजन को ‘जिहादी योजना’ करार दिया है. भाजपा सांसद शोभा ने कहा कि निजामुद्दीन मरकज के जरिए तबलीग़ी जमात ने पूरे देश में कोरोनावायरस फैलाने का काम किया है. उस समय निजामुद्दीन मरकज में मौजूद कुछ लोग अभी भी न तो सामने आए हैं और न ही उनकी खोज हो पाई है. ऐसा लगता है कि आयोजन के पीछे कोरोना जिहादी योजना शामिल हो.

पिछले दिनों निजामुद्दीन के तबलीगी जमात में देश-विदेश के 2100 से अधिक लोगों ने भाग लिया था. धार्मिक आयोजन में किसी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने के कारण यह बड़ी संख्या में फैल गया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि 3000 संक्रमितों में एक हजार से अधिक तबलीगी जमात में शामिल लोग हैं. जिनमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि की गई है. बता दें कि इस जमात में शामिल लोगों के संपर्क में आए देशभर में 22 हजार से अधिक लोगों को अलग-अलग राज्यों में क्वारंटाइन किया गया है. कई राज्यों में पुलिस और प्रशासन अभी भी जमातियों की खोज में लगी हुई है.

कोरोनावायरस फैलने को मजहबी रंग नहीं देने की अपील

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने देश में कोरोनावायरस को लेकर मज़हबी रंग दिये जाने को लेकर ऐसा न करने की अपील की है. उद्धव ठाकरे ने कोरोनावायरस को ‘बांटने वाला’ एक वायरस भी कहा है. ठाकरे और तमिलनाडु के उनके समकक्ष के पलानीस्वामी ने देश में वायरस के फैलने को मजहबी रंग नहीं देने की अपील की.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

ठाकरे ने कहा, ‘कोरोना वायरस के अलावा बांटने वाला भी एक वायरस है. मैं ऐसे लोगों को चेतावनी देता हूं कि मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि कोई कानून आपको न बचा पाए.’

ठाकरे और पलानीस्वामी की अपील ऐसे दिन आयी जब उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया कि लॉकडाउन के बावजूद जानबूझकर सामाजिक दूरी बरतने के नियमों का उल्लंघन किया गया और अराजकता फैलायी गयी. यह उन लोगों की सोची समझी साजिश का हिस्सा है जिन्होंने पिछले महीने दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था.

हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राजीव बिंदल ने आरोप लगाया कि तबलीगी जमात के सदस्यों ने ‘मानव बम’ की तरह घूमते हुए कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश के प्रयासों पर पानी फेर दिया.

पलानीस्वामी ने कोरोना वायरस के प्रसार को मजहबी रंग नहीं देने की अपील की और लोगों से धार्मिक जमावड़ा से परहेज करने और सामजिक मेल मिलाप से दूरी बनाए रखने की अपील की .

share & View comments