scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमराजनीति'बेटे को सेट, दामाद को भेंट, सोनिया जी का यही काम'- BJP नेता निशिकांत का कांग्रेस पर पलटवार

‘बेटे को सेट, दामाद को भेंट, सोनिया जी का यही काम’- BJP नेता निशिकांत का कांग्रेस पर पलटवार

मणिपुर मुद्दे पर दुबे ने कहा कि मैं खुद मणिपुर के इतिहास का भुक्तभोगी हूं. मेरे रिश्तेदार जो सुरक्षाबल में उच्च पद पर थे, वह उग्रवादी हमले में अपना पैर गंवा दिया था."

Text Size:

नई दिल्ली: मोदी सरकार के खिलाफ लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस जारी है. कांग्रेस पार्टी के सांसद गौरव गोगोई ने जहां अविश्वास प्रस्ताव को मजबूरी बताते हुए पीएम मोदी की चुप्पी पर तीन सवाल दागे वहीं भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने सीधा हमला राहुल गांधी, गठबंधन I.N.D.I.A और सोनिया गांधी को आड़े हाथों लिया और पर जमकर हमला किया, इस दौरान उन्होंने सोनिया गांधी पर हमला करते हुए कहा, “यह अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है. यह क्यों लाया गया है? सोनिया जी यहां बैठी हैं…मुझे लगता है कि उन्हें दो चीजें करनी होंगी – बेटे को सेट करना है और दामाद को भेंट करना है…वह इस प्रस्ताव का आधार है.”

उन्होंने राहुल पर हमला करते हुए कहा, “मोदी’ सरनेम टिप्पणी मामले में राहुल गांधी की सजा पर रोक लगाने का मुद्दा भी उठाया, जिसके बाद उनकी सदस्यता बहाल की गई.”. ”सुप्रीम कोर्ट ने कोई फैसला नहीं दिया है, स्थगन आदेश दिया है…”

दुबे ने एक एक कर राहुल गांधी के दावों और उनके बयानों पर सदन का ध्यान केंद्रित कर रहे थे. उन्होंने कहा, “राहुल कहते हैं वे माफी नहीं मांगेंगे”…दूसरी बात, वे कहते हैं ”मैं सावरकर नहीं हूं”- अरे राहुल जी आप कभी सावरकर नहीं हो सकते. सावरकर ने 28 साल जेल में बिताए, आप कभी सावरकर नहीं बन सकते.”

INDIA का फुल फॉर्म नहीं पता

दुबे ने विपक्षी एकता पर निशाना साधते हुए कहा कि, “विपक्ष में बैठे कुछ ही लोग INDIA की फुल फॉर्म बता पाएंगे. दुबे ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां एक दूसरे से लड़ रही हैं लेकिन इसके बावजूद केंद्र में गठबंधन कर रही हैं. उन्होंने कांग्रेस के शासन काल में विपक्षी पार्टियों के नेताओं के साथ उठाए गए कदमों को याद कराते हुए कहा, “लालू यादव को हमने जेल नहीं भेजा, कांग्रेस ने जेल भेजा.” शरद पवार को किसने बर्खास्त किया? जदयू को सबसे ज्यादा फंड मैंने दिलवाया.”

निशिकांत दुबे आगे बोले कि हमें लगा था कि, “राहुल गांधी चर्चा की शुरुआत करेंगे लेकिन लगता है वो बोलने के लिए तैयार नहीं थे, हो सकता है कि वह देर से सोकर उठे होंगे. मणिपुर मुद्दे पर दुबे ने कहा कि मैं खुद मणिपुर के इतिहास का भुक्तभोगी हूं. मेरे रिश्तेदार जो सुरक्षाबल में उच्च पद पर थे, वह उग्रवादी हमले में अपना पैर गंवा दिया था.”

निशिकांत दुबे से पहले अविश्वास प्रस्ताव कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा कि मणिपुर मुद्दे को दहकते हुए अविश्वास प्रस्ताव लाना हमारी मजबूरी है.

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा, “हम अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए मजबूर हैं. यह कभी भी संख्या के बारे में नहीं था बल्कि मणिपुर के लिए न्याय के बारे में था. मैं प्रस्ताव पेश करता हूं कि यह सदन सरकार में अविश्वास व्यक्त करता है. I.N.D.I.A. मणिपुर के लिए यह प्रस्ताव लाया है. मणिपुर न्याय चाहता है .”

लोकसभा में सरकार के खिलाफ लाए गए विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर मंगलवार को हुई चर्चा में विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर कई सवाल दागे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बृहस्पतिवार 10 अगस्त को चर्चा पर जवाब दे सकते हैं.


यह भी पढ़ें: मणिपुर हिंसा के बाद मोदी की चुप्पी पर बोले कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई- अविश्वास प्रस्ताव लाना हमारी मजबूरी


share & View comments