Friday, 27 May, 2022
होमराजनीतिपश्चिमी UP के जाटों को मनाने में जुटे अमित शाह, दिल्ली में प्रवेश वर्मा के घर पर 200 जाट नेताओं का लगा जमावड़ा

पश्चिमी UP के जाटों को मनाने में जुटे अमित शाह, दिल्ली में प्रवेश वर्मा के घर पर 200 जाट नेताओं का लगा जमावड़ा

7 चरणों में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण की शुरुआत पश्चिम यूपी से होगी. यहां 10 फरवरी को मतदान होगा. लिहाजा जाट नेताओं की अमित शाह के साथ आज की मीटिंग काफी मायने रखती है.

Text Size:

नई दिल्ली: भाजपा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाटों की नाराजगी दूर करने की कवायद में लगी है. बुधवार को अमित शाह दिल्ली के जाट नेता सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा के आवास पर पहुंचे, जहां जाट नेताओं ने उन्हें पगड़ी पहनाकर और प्रतीकात्मक तौर पर हल देकर सम्मानित किया.

इस दौरान पश्चिमी यूपी के जाट नेता संजीव बाल्यान, बीजेपी एमपी सत्यपाल मलिक सिंह और प्रवीन वर्मा मौजूद थे. पश्चिम यूपी के बीजेपी नेता मोहित बेनीवाल और कैप्टन अभिमन्यु भी मौजूद थे. कुल 200 से ज्यादा जाट नेताओं को अमित शाह से मुलाकात के लिए बुलाया गया था.

भारतीय जनता पार्टी इससे पहले 2014 और 2017 के चुनाव से पहले इसी तरह जाट नेताओंं की बैठक बुलाई थी.

गौरतलब है कि 7 चरणों में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण की शुरुआत पश्चिम यूपी से होगी. जहां 10 फरवरी को मतदान होगा. लिहाजा, आज की अमित शाह के साथ इन नेताओं की मीटिंग काफी मायने रखती है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पश्चिमी यूपी में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के बीच गठबंधन से बीजेपी के लिए चुनौती बढ़ गई है. आज के मीटिंग में पश्चिमी यूपी के अलग-अलग हिस्सों के जाट नेता बैठक में मौजूद थे.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी अब तक 204 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है. इनमें करीब 80 ओबीसी नेता और डेढ़ दर्जन से ज्यादा जाट उम्मीदवार शामिल हैं. इसी तरह रालोद ने अपने 33 उम्मीदवारों की सूची में 10 से अधिक जाट नेताओं को मैदान में उतारा है.

आज की बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि 13 महीने से चल रहे किसान आंदोलन के बाद माना जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाट समुदाय मौजूदा भाजपा सरकार से नाराज है. इस बैठक को जाट समुदाय में भाजपा के खिलाफ नाराजगी को शांत करने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है. हालांकि, भाजपा नेता इस बात से साफ इनकार कर रहे हैं कि जाट नेता पार्टी के खिलाफ नाराज हैं.

दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक करने के बाद बीजेपी सांसद परवेश साहिब सिंह वर्मा ने कहा कि आज यहां पर सभी पश्चिमी उ.प्र. जाट समाज के प्रमुख व्यक्ति आए थे, सभी ने गृहमंत्री के सामने अपनी तकलीफें रखीं और गृहमंत्री ने सबकी तकलीफें सुनी.

वर्मा ने इस दौरान कहा कि, जयंत चौधरी जी ने एक गलत रास्ता चुना है. यहां के समाज के लोग उनसे बात करेंगे और उनको समझाएंगे. हमारा दरवाज़ा उनके लिए खुला है. हम तो चाहते थे कि वो हमारे घर में आए लेकिन उन्होंने दूसरा घर चुना है.

प्रवेश वर्मा ने कहा कि उन्होंने सबके सामने ये बात भी रखी कि उनके समाज और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए अभी तक क्या-क्या काम किए हैं और क्या-क्या काम करने जा रहे हैं. बहुत ही अच्छी बैठक हुई है और सभी ने गृहमंत्री को विश्वास दिलाया कि वो इस बार भी बीजेपी का समर्थन करेंगे.

(एएनआई के इनपुट्स के साथ)

share & View comments