scorecardresearch
Saturday, 13 July, 2024
होमराजनीति'कांग्रेस अपनी भूमिका तय करे', हम 2024 के चुनाव में BJP को UP की सभी 80 सीटों पर हराएंगे : अखिलेश

‘कांग्रेस अपनी भूमिका तय करे’, हम 2024 के चुनाव में BJP को UP की सभी 80 सीटों पर हराएंगे : अखिलेश

सपा प्रमुख ने कहा कि मुख्य मुद्दा महंगाई है. युवा बिना नौकरी के भटक रहे हैं. किसानों की जिंदगी बर्बाद कर दी गई है. बीजेपी सपने दिखा रही है.

Text Size:

कोलकाता : समाजवादी पार्टी प्रमुक अखिलेश यादव ने रविवार को कहा था कि भारतीय जनता पार्टी आने वाले 2024 के लोकसभा चुनाव में सभी 80 सीटें हार जाएगी.

उन्होंने आरोप लगाया कि, बीजेपी चुनाव से पहले किए अपने वदे ‘पूरे नहीं कर रही’. कोलकाता में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए सपा प्रमुख ने कहा, ‘हम बीजेपी को सभी 80 सीटों पर हराएंगे. वे वादे तब करते हैं जब उन्हें वोट की जरूरत होती है. जीवनयापन का खर्च बढ़ गया है और बेरोजगारी बढ़ी है. वे (बीजेपी) चुनाव से पहले किए एक भी वादे पूरे नहीं किए हैं.’

इससे पहले दिन में कांग्रेस को एक सलाह में यादव ने कहा, ‘बीजेपी को 2024 के चुनाव में हराया जाना चाहिए. कांग्रेस और बाकी दूसरी पार्टियां अपनी भूमिक तय करें’

यादव ने कहा, ‘कांग्रेस चुनाव को लेकर अपनी भूमिका तय करे. कई सारे राज्यों के मुख्यमंत्री एक-दूसरे के साथ काम करने के लिए गठजोड़ बनाने की कोशिश कर रहे हैं. तेलंगाना के मुख्यमंत्री कोशिश कर रहे, तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन कोशिश कर रहे, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी कोशिश में है. गठबंधन के लिए नाम पर चर्चा बाद में की जाएगी.’

2024 लोकसभा चुनाव को लेकर तीसरे मोर्चे के बारे में, यादव ने कहा कि बेरोजगारी और महंगाई मुख्य समस्याएं हैं, जिसका आम आदमी सामना कर रहा है.

उन्होंने कहा कि, ‘2024 के लिए आप इसे तीसरा मोर्चा कह सकते हैं, लेकिन सवाल ये नहीं है. मुख्य मुद्दा महंगाई है. युवा बिना नौकरी के भटक रहे हैं. किसानों की जिंदगी बर्बाद कर दी गई है. वे (बीजेपी) सपने दिखा रही है…लेकिन युवाओं को नौकरी कब मिलेगी?’ सपा प्रमुख ने ये बातें कोलकाता में दिवसीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद कही.’

बैठक के दौरान, पार्टी ने तीन हिंदी राज्यों में इस साल के अंत में और अगले साल लोकसभा चुनाव के लिए नीतियों और रणनीतियों पर चर्चा की.

बैठक में अखिलेश यादव के साथ, पार्टी के नेता शिवपाल, सांसद जया बच्चन, 20 राज्यों के पार्टी प्रमुखों, और कई सारे नेता बैठक में हिस्सा लिए.

गौरतलब है कि, समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 11 साल के अंतराल की बाद की गई है.


यह भी पढ़ें: मोदाणी सिर्फ एक चुस्त मुहावरा नहीं, राजसत्ता और पूंजी के बीच जादू की झप्पी का एक नया मॉडल है


 

share & View comments