Saturday, 4 December, 2021
होमराजनीतिअब संजय सिंह अखिलेश से मिले, कहा- UP को भाजपा के कुशासन से मुक्त कराने के लिए रणनीतिक चर्चा हुई

अब संजय सिंह अखिलेश से मिले, कहा- UP को भाजपा के कुशासन से मुक्त कराने के लिए रणनीतिक चर्चा हुई

सिंह ने मुलाकात को लेकर कहा कि हमारी अखिलेश यादव से मुलाकात हुई है लेकिन गठबंधन और रणनीति को लेकर अभी बातचीत होनी है, जैसे ही इसको लेकर स्पष्टता होगी बताएंगे.

Text Size:

नई दिल्ली: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत जारी है. एक दिन पहले जहां राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) नेता जयंत चौधरी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी वहीं आज आम आदमी पार्टी के नेता और यूपी प्रभारी संजय सिंह अखिलेश से लखनऊ स्थित लोहिया ट्रस्ट के दफ्तर में मिले. उन्होंने कहा सपा प्रमुख से रणनीतिक चर्चा हुई.

गौरतलब है कि एक दिन पहले संजय सिंह मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर उन्हें बधाई देने उनके आवास पर पहुंचे थे. सिंह मंगलवार को ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के मौके पर सपा महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव की किताब ‘राजनीति के उस पार’ के विमोचन पर यहां आयोजित कार्यक्रम में मौजूद थे.

आप नेता संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलकात की तस्वीर ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा है, ‘उत्तर प्रदेश को भाजपा के कुशासन से मुक्त कराने के लिए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. अखिलेश यादव जी से सार्थक मुलाकात हुई. समान मुद्दों पर रणनीतिक चर्चा हुई.’

सिंह ने एक दूसरी तस्वीर अपनी पार्टी के नेता दिलीप पांडेय और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ साझा करते हुए लिखा है, ‘उत्तर प्रदेश को भाजपा की तानाशाही से मुक्त कराना है.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इससे पहले भी संजय सिंह अखिलेश यादव से मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन तब गठबंधन को लेकर कोई बात नहीं बनी थी. इसके बाद सिंह ने कहा था कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लड़ेगी. उन्होंने पार्टी के सभी 403 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी थी. लेकिन देखना है कि अभी की मुलाकात के बाद सामने निकलकर क्या आता है.

उन्होंने मुलाकात में क्या बात हुई और क्या रणनीति बनी इसको लेकर एक चैनल से बात करते हुए कहा, ‘हमारी अखिलेश यादव से मुलाकात हुई है लेकिन गठबंधन और रणनीति को लेकर अभी बातचीत होनी है, जैसे ही इसको लेकर स्पष्टता होगी बताएंगे.’

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश को भाजपा के कुशासन से मुक्त कराना है. युवा योगी सरकार से रोजगार मांगने आते हैं तो उन्हें लाठी से मारा जाता है. महिलाओं के साथ अपराध हो रहे हैं, जिन्हें न्याय नहीं मिल रहा. व्यापारी मनीष गुप्ता का मामला है, ऐसे तमाम मुद्दों को लेकर चुनाव में जाएंगे.

जबसे उनसे पूछा गया कि आम आदमी पार्टी केवल पश्चिमी यूपी के लिए सीटें मांगेगी या पूरे यूपी के किसी हिस्से में सपा के साथ गठबंधन करेगी, तो इस पर संजय सिंह ने कहा कि निश्चित रूप से पश्चिमी यूपी खासकर गाजियाबाद, नोएडा और बाकी जिलों के लोग दिल्ली आते-जाते रहते हैं, जिन्हें आम आदमी पार्टी के काम की जानकारी है. वे हमारे शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में किए गये कामों से प्रभावित हैं. लेकिन गठबंधन और सीटों को लेकर अभी स्पष्टता होने दीजिए फिर इसके बारे हम जरूर जानकारी देंगे.

वहीं एक दिन पहले अखिलेश ने आगामी चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे पर चर्चा के लिए मंगलवार को रालोद प्रमुख से मुलाकात की थी. उसके बाद जयंत ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से अखिलेश यादव के साथ फोटो के साथ ट्वीट किया, ‘बढ़ते कदम.’ वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जयंत चौधरी के साथ अपनी फोटो ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘जयंत चौधरी के साथ बदलाव की ओर.’ अखिलेश ने अपने बयानों में बार-बार कहा था कि उनकी पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन के लिए तैयार है.

share & View comments