Monday, 23 May, 2022
होमलास्ट लाफभारत के मध्यम वर्ग के लिए उज्ज्वला एक 'अवसर' और 'अज्ञात' डर

भारत के मध्यम वर्ग के लिए उज्ज्वला एक ‘अवसर’ और ‘अज्ञात’ डर

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने दिन के सबसे अच्छे कार्टून

आज के चुनिंदा कार्टून में, आलोक निरंतर  प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के दूसरे चरण, उज्ज्वला 2.0 के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लांच किए जाने को चित्रित किया है.  पीएमयूवाई का उद्देश्य परिवारों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है. ग्रामीण क्षेत्रों और गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों पर ध्यान देना है.

 

E.P. Unny | The Indian Express
E.P. Unny | The Indian Express

 

ई.पी. उन्नी ने नवीनतम इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की रिपोर्ट पर विचार लोगों का ध्यान केंद्रित करना चाह रहे हैं. जिसमें अगले 20 वर्षों में जलवायु में 1.5 डिग्री सेल्सियस वृद्धि की चेतावनी देते हुए राष्ट्रों को उत्सर्जन में कटौती करने का आह्वान किया गया था.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

Sandeep Adhwaryu | The Times of India
Sandeep Adhwaryu | The Times of India

राष्ट्रीय राजधानी के जंतर-मंतर पर ‘औपनिवेशिक-युग के कानूनों’ के विरोध में कथित रूप से मुस्लिम विरोधी नारे लगाने के एक दिन बाद संदीप अध्वर्यु ने ‘अज्ञात व्यक्तियों’ के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए दिल्ली पुलिस पर ताना मारा है.

Sajith Kumar | Deccan Herald
Sajith Kumar | Deccan Herald

साजिथ कुमार ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को महिला हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया को राज्य के महिला अधिकारिता और बाल विकास विभाग का ब्रांड एंबेसडर बनाने पर प्रकाश डाला. भारत की महिला हॉकी टीम टोक्यो ओलंपिक में सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से हारने के बाद कटारिया के परिवार को जातिवादी गालियों का शिकार होना पड़ा.

Manjul | Twitter @MANJULtoons
Manjul | Twitter @MANJULtoons

मंजुल इस तथ्य पर ताना कसा है कि पूर्व आपराधिक रिकॉर्ड या विवादास्पद इतिहास वाले राजनेताओं को अकसर राजनीतिक दलों को लिया जाता है.

share & View comments