Wednesday, 29 June, 2022
होमलास्ट लाफसपा-बसपा गठबंधन में टूट और रोजगार बढ़ाने के लिए संघर्ष करती मोदी सरकार

सपा-बसपा गठबंधन में टूट और रोजगार बढ़ाने के लिए संघर्ष करती मोदी सरकार

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- दिप्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गये दिन के सबसे अच्छे कॉर्टून  

 

संदीप अधर्व्यु | दि टाइम्स ऑफ इंडिया

द टाइम्स ऑफ इंडिया में संदीप अध्वर्यु बसपा प्रमुख मायावती द्वारा अखिलेश यादव की सपा के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद जाति-आधारित राजनीति का संदर्भ देते हैं.

कीर्तीश भट्ट | बीबीसी न्यूज़ हिंदी

कीर्तीश भट्ट बीबीसी न्यूज़ हिंदी में उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव से पहले समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के टूटे गठबंधन को दर्शाते हैं. वह मायावती को अखिलेश से नाराज़ होते हुए चित्रित करते हैं और इस घटना को क्रिकेट विश्वकप से जोड़ते हुए दिखाते हैं.

साजिथ कुमार | डेक्कन हेराल्ड

साजिथ कुमार डेक्कन हेराल्ड में नई शिक्षा नीति मसौदे में त्रिभाषीय फॉर्मूले पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय पर कटाक्ष करते हैं. इस मसौदे में हिंदी थोपने को लेकर दक्षिणी भारत के राज्यों में विवाद पैदा हो गया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सतीश आचार्य । द इंडियन एक्सप्रेस

द इंडियन एक्सप्रेस में सतीश आचार्य ने आईसीसी विश्व कप टूर्नामेंट में दक्षिण अफ्रीका के मैच से पहले नेट-गेंदबाजों को प्रेस कांफ्रेंस में संबोधित करने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम पर कटाक्ष करते हैं.

 

मंजुल । मिड – डे

मिड-डे में मंजुल ने इलीट लिबरल्स पर कटाक्ष किया है.

 

इरशाद कप्तान । फेसबुक

इरशाद कप्तान भाजपा सरकार के हिंदुत्व नैरेटिव पर तंज करते हैं. वह दर्शाते है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘जय श्रीराम’ का नारा लगा रहे हैं. मोदी सरकार रोजगार सृजन करने और जीडीपी को बढ़ाने में संघर्ष कर रही है.

 

हेमंत मोरपारिया । ट्विटर

हेमंत मोरपारिया दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा आगामी विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी के वोट आधार को सुनिश्चित करने के लिए महिलाओं को मुफ्त सार्वजनिक परिवहन की घोषणा पर कटाक्ष करते हैं. इसे लोकलुभावन रुख बताया है.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments