Thursday, 30 June, 2022
होमलास्ट लाफमोदी की यूरोप यात्रा में है भारत के ऊर्जा संकट का हल, और महात्मा की राह पर पीके

मोदी की यूरोप यात्रा में है भारत के ऊर्जा संकट का हल, और महात्मा की राह पर पीके

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के प्रदर्शित कार्टून में, ई.पी. उन्नी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यूरोप यात्रा, जो की अक्षय ऊर्जा के लिए जाने जाते हैं पर तंज कसा है, ऐसे समय में जब राज्य बिजली संकट और कोयले की कमी से जूझ रहे हैं.

Satish Acharya | Twitter/@satishacharya

सतीश आचार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यूरोप यात्रा और विदेशों में प्रवासी भारतीयों से प्राप्त स्वागत का उल्लेख करते हैं, जबकि कई समस्याओं घर वापस जमावड़ा हो जाता है.

Sajith Kumar | Deccan Herald

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

साजिथ कुमार बर्लिन में पीएम मोदी के भाषण को संदर्भित करते हैं, जहां उन्होंने भारत में अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया, और भारतीय प्रवासियों की अनभिज्ञता के बारे में आश्चर्य व्यक्त किया जिन्होंने उनका अभिवादन किया और उनका उत्साह बढ़ाया.

R Prasad | The Economic Times

दि इकोनॉमिक्स टाइम्स में आर. प्रसाद महात्मा गांधी के दांडी मार्च का इस्तेमाल प्रशांत किशोर के उस ट्वीट का मज़ाक उड़ाने के लिए करते हैं, जिसमें कांग्रेस के साथ समझौता न होने के बाद उन्होंने एक नई पार्टी की शुरुआत का संकेत दिया था.

Sandeep Adhwaryu | The Times of India

दि टाइम्स ऑफ इंडिया में संदीप अध्वर्यु ने महाराष्ट्र की राजनीति में चल रहे ड्रामे को दिखाते हैं क्योंकि शिवसेना और भाजपा बाबरी मस्जिद के विध्वंस पर ‘क्रेडिट’ के लिए लड़ रही हैं, एक एक्ट जिसे सुप्रीम कोर्ट ने ‘अपराध’ कहा था, और पुलिस इसके बारे में कुछ नहीं करती है.

share & View comments