Saturday, 20 August, 2022
होमलास्ट लाफविपक्ष के पास केवल 2 विकल्प, और अक्षय कुमार की नई फिल्म क्यों हो सकती है महंगाई का जवाब

विपक्ष के पास केवल 2 विकल्प, और अक्षय कुमार की नई फिल्म क्यों हो सकती है महंगाई का जवाब

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के विशेष रूप से प्रदर्शित कार्टून में, आर. प्रसाद ने कांग्रेस नेताओं सोनिया और राहुल गांधी को कथित मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा सम्मन किए जाने पर टिप्पणी की है, ऐसे समय में जब उनकी पार्टी के कम से कम दो प्रमुख नेता – हार्दिक पटेल और सुनील जाखड़ – भाजपा में शामिल हो गए हैं.

कांग्रेस ने बुधवार को सोनिया और राहुल को तलब करने के केंद्रीय एजेंसी के कदम की आलोचना करते हुए कहा था कि यह ‘प्रतिशोध, क्षुद्रता, भय, राजनीतिक घटियापन’ का प्रतीक है.

संदीप अध्वर्यु ने सोनिया और राहुल गांधी को भेजे गए ईडी के सम्मन के संदर्भ में भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर ‘प्रतिशोध की राजनीति’ का आरोप लगाते हुए कांग्रेस पर कटाक्ष किया है, क्योंकि उस पर भी विपक्ष को डराने के लिए 2013 में सत्ता में जांच एजेंसियों का दुरुपयोग का आरोप लगाया गया था.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कीर्तिश भट ने गुजरात कांग्रेस के पूर्व नेता हार्दिक पटेल के भाजपा में शामिल होने पर कटाक्ष किया, जिनके नेताओं को उन्होंने एक से अधिक मौकों पर सार्वजनिक रूप से फटकार लगाई थी.

साजिथ कुमार ने अभिनेता अक्षय कुमार की नई फिल्म सम्राट पृथ्वीराज को कर-मुक्त घोषित करने के लिए विभिन्न राज्य सरकारों का मजाक उड़ाया, जबकि टमाटर सहित आवश्यक वस्तुओं की बढ़ती कीमतों पर आंखें मूंद लीं.

सब्जी का प्रति किलोग्राम औसत खुदरा मूल्य – हर भारतीय घर में एक प्रमुख – एक महीने पहले की तुलना में 70 प्रतिशत उछल गया है, जिससे आम आदमी की जेब फटेहाल हो गई है.

ई.पी. उन्नी ने राज्य में जाति आधारित जनगणना कराने के बिहार सरकार के फैसले पर टिप्पणी की, जबकि मस्जिद-मंदिर विवाद सुर्खियों में बना हुआ है.

(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments