Wednesday, 25 May, 2022
होमलास्ट लाफमदर टेरेसा की ज्ञान की बातें और पुलिस की लाठियों के बाद भी डॉक्टर 'ठीक' क्यों होंगे

मदर टेरेसा की ज्ञान की बातें और पुलिस की लाठियों के बाद भी डॉक्टर ‘ठीक’ क्यों होंगे

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर कार्टून में संदीप अध्वर्यु ने मदर टेरेसा के मिशनरीज ऑफ चैरिटी के एफसीआरए लाइसेंस को रिन्यू ना करने के लिए केंद्र सरकार पर तंज़ कसा है जबकि वो चुनावी बांड योजना के समर्थन में रही है जिसकी पारदर्शिता की कमी के लिए काफी आलोचना की गई है.

साजिथ कुमार | Deccan Herald

साजिथ कुमार इस बात पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं कि कैसे बीजेपी नेता तेजस्वी सूर्या ने अपने उस बयान को वापस ले लिया जिसमें मुसलमानों और ईसाइयों को हिंदू धर्म में ‘दोबारा परिवर्तन’ करने का आह्वान किया गया था.

मंजुल | News9

मंजुल ने नीट पीजी काउंसलिंग में देरी का विरोध किया है और रेजिडेंट डॉक्टरों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की कार्रवाई की आलोचना की है.

आर. प्रसाद | Economic Times

आर. प्रसाद ने इस बात पर रोशनी डाली है कि कैसे पाकिस्तान ने हरिद्वार में ‘धर्म संसद’ कार्यक्रम पर चिंता जताते हुए एक भारतीय राजनयिक को तलब किया, ‘धर्म संसद’ में मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे भाषण दिए गए थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

नला पोनप्पा | Twitter/@PonnappaCartoon

नाला पोनप्पा अपने आने वाले उत्तराधिकारी के लिए साल 2021 के नाम एक माफी पत्र लिखते हुए दिखा रहे हैं.

(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments