scorecardresearch
Monday, 15 July, 2024
होमलास्ट लाफएक जूते को दूसरे जूते से बदलना और राजस्थान के कोटा में 'कोटा'

एक जूते को दूसरे जूते से बदलना और राजस्थान के कोटा में ‘कोटा’

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के विशेष कार्टून में, साजिथ कुमार उन मुद्दों को चित्रित कर रहे हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल की राजनीतिक रैलियों में उठाए हैं – भारत की हाल ही में संपन्न जी 20 की अध्यक्षता से लेकर सनातन प्रथाओं के खिलाफ की गई टिप्पणियों के लिए विपक्ष पर हमला करने तक.

सतीश आचार्य अपने कार्टून में इंडिया गठबंधन द्वारा कुछ समाचार और मीडिया चैनलों पर जाने से इनकार करने की हालिया घटना का जिक्र कर रहे हैं. आचार्य मज़ाकिया ढंग से इंडिया गठबंधन द्वारा ब्लैकलिस्ट किए गए समाचार एंकरों के प्रति भाजपा की तरफ सी दिखाई जा रही सहानुभूति को दर्शा रहे हैं.

इस कार्टून में, संदीप अध्वर्यु बेरोजगारी और प्रतियोगी परीक्षाओं के संबंध में राजस्थान के कोटा और ‘कोटा’ यानि आरक्षण शब्द से खेल रहे हैं. कोटा में छात्रों की आत्महत्याओं की हालिया घटनाओं के बारे में बात करते हुए, अध्वर्यु छात्रों पर दबाव के साथ-साथ समस्या को हल करने के लिए सरकार द्वारा त्वरित समाधान रूप में आरक्षण की बात को दर्शा रहे हैं.

कार्टूनिस्ट आलोक, इंडिया गठबंधन द्वारा कुछ समाचार चैनलों के बहिष्कार पर व्यंग्य करते हैं. वह अपने कार्टून में समाचार एंकरों को हास्यपूर्ण तरीके से दिखा रहे हैं, जिनकी अब इंडिया ब्लॉक के प्रतिनिधियों तक पहुंच नहीं होगी.

(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments