Thursday, 20 January, 2022
होमलास्ट लाफ'अच्छे दिन' की बाइबिल कोहली पर चिल्लाती हुई और भारत कैसे COP26 में अंक बना सकता है

‘अच्छे दिन’ की बाइबिल कोहली पर चिल्लाती हुई और भारत कैसे COP26 में अंक बना सकता है

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर कार्टून में आर प्रसाद वेटिकन सिटी में पोप फ्रांसिस के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात पर टिप्पणी कर रहे हैं. पोप ने मोदी को एक ब्रॉन्ज़ प्लाक तोहफे में दिया है, जिस पर बाइबिल से ईसा मसीह की कही बातें लिखी हैं. इस पर लिखा है कि ‘रेगिस्तान एक बगीचा बन जाएगा’. आर प्रसाद इसे मोदी के अपने ‘अच्छे दिन’ नारे का अग्रदूत बता रहे हैं.

आलोक निरंतर | Twitter/@caricatured

आलोक निरंतर भारत के आम लोगों पर तंज़ कस रहे हैं कि जब देश में पेट्रोल डीज़ल के दाम बढ़ रहे हैं तब वो सो रहे हैं लेकिन आईसीसी टी 20 विश्वकप में विराट कोहली की भारतीय टीम के खराब प्रदर्शन के लिए वो अपनी नाराज़गी ज़ाहिर करने के लिए जाग जाते हैं.

साजिथ कुमार | Deccan Herald

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

साजिथ कुमार ने मोहम्मद शमी के बचाव में विराट कोहली के हालिया बयान की सराहना की है. शमी को पिछले रविवार भारत के पाकिस्तान से हारने के बाद ऑनलाइन ट्रोल किया जा रहा था. विराट ने शमी को उनके धर्म के लिए गाली देने वाले ‘स्पाइनलेस लोगों’ की आलोचना की है. साजिथ सलाह दे रहे हैं कि राजनीतिक नेता विराट से कुछ सीख सकते हैं.

महमूद | Twitter/@cartoonist_PM

महमूद भी कोहली के बयान के लिए उनकी तारिफ कर रहे हैं. उन्होने अपने कार्टून में कोहली को मैदान में आगे बढ़ते हुए और ऑनलाइन ट्रोलर को भगाते हुए दिखाया है.

मंजुल | News9

मंजुल बता रहे हैं कि ग्लासगो में हो रहे संयुक्त राष्ट्र COP26 जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन में शामिल होने गए पीएम मोदी की यह यात्रा भारत के पुलिसकर्मियों के लिए ‘हाई अलर्ट’ पर रहने और दिशा रवि जैसे युवा क्लाइमेट एक्टिविस्ट को हिरासत में लेने का एक अच्छा मौका है.

ई.पी. उन्नी | The Indian Express

ई.पी. उन्नी सलाह दे रहे हैं कि COP26 शिखर सम्मेलन में भारत को पेट्रोल डीजल के लगातार बढ़ते दामों के कारण उसे जीवाश्म ईंधन को लुप्त करने के तरीके के रूप में पेश करना चाहिए.

(इन कार्टून्स को अंग्रेज़ी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments