Friday, 21 January, 2022
होमदेशउत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी का निधन

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी का निधन

Text Size:

नारायण दत्‍त तिवारी पहली बार 1976 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे. वह तीन बार उत्तर प्रदेश और एक बार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे.

नई दिल्ली :दिग्गज कांग्रेसी नेता और उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी का गुरुवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वह 93 साल के थे. संयोग से आज ही के दिन यानी 18 अक्टूबर को उनका जन्मदिन होता है. दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. एनडी तिवारी पिछले 12 महीनों से वह बिस्तर पर थे. उन्हें ब्रेन हेमरेज हो गया था. साथ ही उनकी किडनी फेल हो गई थी.

नरायण दत्त तिवारी आजादी के बाद उत्तर प्रदेश में हुए पहले ही चुनाव में नैनीताल से प्रजा समाजवादी पार्टी के टिकट पर पहली बार विधायक बनकर विधानसभा में पहुंचे थे. वे तीन बार जनवरी 1976 से अप्रैल 1977, अगस्त 1984 से सितंबर 1985 और जून 1988 से दिसंबर 1988 तक उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और एक बार उत्तराखंड के मुख्‍यमंत्री रहे.

वे अभी तक उत्तराखंड के इकलौते मुख्‍यमंत्री थे जिन्‍होंने अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा किया था. इसके अलावा उन्‍होंने राज्‍यपाल का पद भी संभाला. वे केंद्र में राजीव गांधी कैबिनेट में वित्‍त व विदेश मंत्री भी रहे. वे 1980 में 7वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए और 1985-1988 तक वह राज्यसभा के सदस्य भी रहे.

1990 में एक समय उन्हें प्रधानमंत्री का दावेदार माना जा रहा था लेकिन पीवी नरसिम्हा राव को यह पद मिला. पीएम की कुर्सी न मिलने का एक कारण यह भी था कि वह महज 800 वोटों से लोकसभा का चुनाव हार गए थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

नारायण दत्त तिवारी की चर्चा उनके और उनके बेटे रोहित शेखर के बीच चली लंबी कानूनी लड़ाई के लिए भी होती है.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एनडी तिवारी के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘वरिष्ठ राजनेता नारायण दत्त तिवारी के निधन का दु:खद समाचार प्राप्त हुआ. उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेजों के विरुद्ध संघर्ष किया था. उनका निधन भारतीय राजनीति के लिए एक अपूर्णीय क्षति है.’

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने ट्वीट किया, ‘वरिष्ठ नेता नारायण दत्त तिवारी जी के निधन पर शोक व्यक्त करता हूं.अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में तिवारी जी राज्यपाल, मुख्यमंत्री, एवम् केंन्द्रीय मंत्री के रूप में जनसेवा से संबद्ध रहे.’

तिवारी के निधन पर उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने संवेदना जताई है. यूपी सीएम के टि्वटर अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘ #UPCM श्री #YogiAdityanath ने श्री नारायण दत्त तिवारी के शोक संतप्त परिजनों के प्रति भी संवेदना व्यक्त की है.’

share & View comments