Sunday, 26 June, 2022
होमएजुकेशनबायजूस में अब ट्यूशंस, एडटेक दिग्गज ने चौथी से 10वीं के बच्चों के लिए शुरू कीं निजी कोचिंग क्लासेज

बायजूस में अब ट्यूशंस, एडटेक दिग्गज ने चौथी से 10वीं के बच्चों के लिए शुरू कीं निजी कोचिंग क्लासेज

करीब 200 शहरों में 500 केंद्रों के जरिये स्कूली बच्चों के लिए गणित, विज्ञान की ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने की घोषणा की गई हैं. हालांकि, ये कक्षाएं ऑनलाइन क्लास के साथ केवल हाइब्रिड मोड में उपलब्ध है.

Text Size:

नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े एडटेक प्लेटफॉर्म में से एक बायजूस ने बृहस्पतिवार को स्कूली बच्चों के लिए ऑफलाइन कोचिंग क्लासेज शुरू करने की घोषणा की. 2015 में अपना ऐप लॉन्च किए जाने के बाद से यह प्लेटफॉर्म विशेष तौर पर ऑनलाइन ही ऑपरेट करता रहा है.

एडटेक दिग्गज की तरफ से गुरुवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक कक्षा 4 से 10वीं तक के छात्रों के लिए ऑफलाइन क्लासेज उपलब्ध होंगी. फिलहाल, 200 शहरों में 500 ऑफलाइन कोचिंग सेंटर होंगे. इन सेंटर्स को पायलट प्रोजेक्ट का हिस्सा रहे 80 केंद्रों पर मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया के बाद शुरू किया गया है.

बायजूस प्रवक्ता ने दिप्रिंट से बातचीत में कहा कि कोचिंग—जिनमें नामांकन पहले ही शुरू हो चुका है—को हाइब्रिड मोड में चलाया जाएगा, जिसमें छात्र ऑनलाइन पढ़ाई करेंगे और हफ्ते में कुछ दिन ऑफलाइन कक्षाओं में हिस्सा लेंगे. फिलहाल ये कक्षाएं केवल गणित और विज्ञान विषयों के लिए होंगी.

उन्होंने कहा कि केवल वही छात्र ऑफलाइन सेशन में शामिल हो पाएंगे जिन्होंने ऑनलाइन कक्षाओं के लिए नामांकन कराया होगा. अलग से निजी कोचिंग कक्षाओं की कोई व्यवस्था नहीं होगी.’

प्रवक्ता ने बताया कि यह फैसला अच्छी तरह सोच-विचार के बाद लिया गया है क्योंकि ज्यादातर अभिभावक बच्चों की ऑफलाइन पढ़ाई के इच्छुक थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों कक्षाओं वाले इन पैकेजों की फीस 3,000 रुपये से 3,500 रुपये प्रति माह तक होगी. पूरी तरह ऑनलाइन चलने वाले अन्य स्टडी पैकेज का शुल्क लगभग 15,000 रुपये सालाना है. यह शुल्क इस पर निर्भर करता है कि किसी छात्र ने कितने विषय चुने हैं.

प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘बायजूस ट्यूशन सेंटर’ ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के सीखने का बेहतरीन अनुभव प्रदान करने वाला ‘अपनी तरह का पहला व्यापक कार्यक्रम’ है.’ साथ ही बताया गया कि इसके तहत अगले दो सालों में इस कार्यक्रम के तहत 10 लाख छात्रों को नामांकित करने का लक्ष्य है.


यह भी पढ़ें: IEC का दावा- एडटेक ने 5 सालों में 75 हजार से ज्यादा नौकरियां पैदा कीं, Covid के दौरान रोज़गार संकट कम किया


‘फिजिकल एलिमेंट’ के जरिये शिक्षकों-छात्रों के बीच बेहतर कनेक्ट की कोशिश

प्रेस विज्ञप्ति में बायजूस के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर मृणाल मोहित के हवाले से कहा गया है, ‘बायजूस के ट्यूशन सेंटर माता-पिता और छात्रों के एक बड़े वर्ग की जरूरतों को पूरा करते हैं जो ऑनलाइन शिक्षा के साथ कुछ फिजिकल एलिमेंट भी चाहते हैं.’

प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि बायजूस के ट्यूशन सेंटर की पेशकश छात्रों के सीखने-समझने की क्षमता में कोई कमी न रहने देने, कांसेप्ट ठीक से समझने में मदद करने और नियमित तौर पर होने वाले अभ्यास और टेस्ट के जरिये उन्हें परीक्षाओं के लिए सही ढंग से तैयार करने को ध्यान में रखकर की गई है.

छात्रों के पास उनकी ऑफलाइन और ऑनलाइन क्लासेज के लिए एक ही शिक्षक होगा जो उनके ‘व्यक्तिगत स्तर पर सीखने के दौरान’ पूरी तरह उनका साथ देगा.

लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए बायजूस के ट्यूशन सेंटर के प्रमुख हिमांशु बजाज ने कहा, ‘इसमें छात्रों को तीन तरह की सुविधाएं मिलेंगी—टेक्नो-इनेबल फिजिकल सेंटर में दो टीचर मॉडल, प्रोग्रेस और परफॉर्मेंस के विश्लेषण के आधार पर शिक्षक-छात्रों के बीच व्यापक जुड़ाव और बायजूस के ऑनलाइन इकोसिस्टम तक पहुंच.’

उन्होंने कहा, ‘छात्रों की जरूरतों को देखते हुए हम उम्मीद करते हैं कि यह नई पेशकश एक उदाहरण बनेगी और व्यापक स्तर पर सफलता भी हासिल करेगी, जिससे भविष्य की जरूरतों के हिसाब से छात्रों को तैयार किया जा सकेगा और एक दूरदर्शी और अद्वितीय शैक्षणिक माहौल बनेगा.’

(इस ख़बर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments