धमाके के बाद घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. (फोटो: एएनआई)
Text Size:
  • 21
    Shares

नई दिल्ली: पंजाब के अमृतसर जिले में रविवार को राजसांसी इलाके में एक धार्मिक सभा में मोटरसाइकिल से चेहरा ढंक कर आए दो युवकों ने ग्रेनेड फेंक दिया, जिसके चलते तीन लोग मारे गए जबकि 10 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. ग्रेनेड हमला अमृतसर से करीब 15 किलोमीटर दूर अदलिवल गांव के निरंकारी भवन के परिसर में हुआ.

घायलों को अमृतसर के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. सभी पीड़ित आसपास के गांवों के निरंकारी अनुयायी हैं, जो रविवार को साप्ताहिक धार्मिक सभा के लिए जुटे थे.

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि चेहरा ढंक कर मोटरसाइकिल से आए दो युवक गेट पर मौजूद एक महिला पर पिस्तौल तानकर जबरन निरंकारी भवन के परिसर में घुस गए.

एक शख्स ने पुलिस को बताया, ‘सबकुछ महज कुछ मिनटों में ही हो गया. वे घुसे, ग्रेनेड फेंका और फरार हो गए.’

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मारे गए लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख मुआवजा देने और घायलों का मुफ्त में इलाज कराने की घोषणा की है.

पंजाब पुलिस के आईजी सुरिंदर पाल सिंह के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया, ‘वहां पर एक धार्मिक कार्यक्रम में करीब 250 लोग मौजूद थे. इनमें से तीन की मौत हुई है, जबकि 15 से 20 लोग घायल हो गए. शुरुआती रिपोर्ट में इतना पता चल पाया है कि दो लोग वहां पर आए और ग्रेनेड फेंका.’

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस हमले को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री से बात करके जानकारी ली. उन्होंने कहा, ‘इस हमले में हुई निर्दोष लोगों की मौत से मुझे गहरा दुख पहुंचा है. हिंसा का यह कार्य बेहद निंदनीय है. जिन लोगों ने अपने परिजनों को खोया है, हम उनके प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं.

(समाचार एजेंसी आईएएनएस से इनपुट के साथ) 


  • 21
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here