scorecardresearch
Thursday, 30 May, 2024
होमदेशकुछ इस तरह याद की जाएंगी PM मोदी की मां, राजकोट में 'हीराबा स्मृति सरोवर' रखा गया बांध का नाम

कुछ इस तरह याद की जाएंगी PM मोदी की मां, राजकोट में ‘हीराबा स्मृति सरोवर’ रखा गया बांध का नाम

‘गिर गंगा परिवार ट्रस्ट’ के अध्यक्ष दिलीप सखिया ने कहा कि राजकोट-कलावाड रोड पर वगुदाद गांव के समीप न्यारी नदी पर ट्रस्ट द्वारा 15 लाख रुपये की लागत से छोटा बांध बनाया जा रहा है.

Text Size:

राजकोट: गुजरात में राजकोट शहर के बाहरी इलाके में बनाए जा रहे एक छोटे बांध का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां दिवंगत हीराबेन के नाम पर रखा गया है. एक अधिकारी ने शुक्रवार के यह जानकारी दी.

‘गिर गंगा परिवार ट्रस्ट’ के अध्यक्ष दिलीप सखिया ने कहा कि राजकोट-कलावाड रोड पर वगुदाद गांव के समीप न्यारी नदी पर ट्रस्ट द्वारा 15 लाख रुपये की लागत से छोटा बांध बनाया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि स्थानीय विधायक दर्शिता शाह और राजकोट के महापौर प्रदीप देव की मौजूदगी में बुधवार को बांध की नींव रखी गयी.

सखिया ने कहा, ‘प्रधानमंत्री की मां को श्रद्धांजलि के तौर पर हमने छोटे बांध का नाम हीराबा स्मृति सरोवर रखने का फैसला किया है क्योंकि इसे उनकी याद में बनाया जा रहा है. इससे दूसरे लोगों को भी अपने प्रियजन के निधान के बाद कुछ करने या किसी अच्छी चीज के लिए दान देने की प्रेरणा मिलेगी.’

हीराबा का 30 दिसंबर को अहमदाबाद के एक अस्पताल में 99 वर्ष की आयु में निधन हो गया था.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सखिया ने बताया कि इस ट्रस्ट ने पिछले चार महीने में दानदाताओं की वित्तीय मदद से 75 छोटे बांध बनाए हैं. इस नए बांध का काम दो सप्ताह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा और इसमें करीब 2.5 करोड़ लीटर पानी के भंडारण की क्षमता होगी.

उन्होंने कहा, ‘यह बांध 400 फुट ऊंचा और 150 फुट चौड़ा होगा. एक बार पानी से भरने के बाद यह नौ महीने तक नहीं सूखेगा. इससे भूजल का पुन: संचय होगा और आसपास के गांवों के किसानों तथा पशुपालकों को फायदा मिलेगा.’


यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी के आलोचकों को दिया जवाब, मोदी सरकार को जारी करना चाहिए वाइट पेपर


share & View comments