scorecardresearch
Tuesday, 18 June, 2024
होमदेशPM मोदी और शेख हसीना ने डीजल की आपूर्ति के लिए पाइपलाइन का उद्घाटन किया, कहा- नए अध्याय की शुरुआत

PM मोदी और शेख हसीना ने डीजल की आपूर्ति के लिए पाइपलाइन का उद्घाटन किया, कहा- नए अध्याय की शुरुआत

पाइपलाइन परियोजना का निर्माण 2018 में शुरू हुआ था. दोनों देशों के बीच यह पहली सीमापार ऊर्जा पाइपलाइन है. इसे लगभग 377 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है.

Text Size:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बांग्लादेश की उनकी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तरी बांग्लादेश में डीजल की आपूर्ति करने के लिए 377 करोड़ रुपये के परिव्यय से तैयार पाइपलाइन परियोजना का उद्घाटन किया.

इस परियोजना से खर्च कम होगा और कार्बन उत्सर्जन भी घटेगा.

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि इस पाइपलाइन से भारत-बांग्लादेश के संबंधों का नया अध्याय शुरू होगा.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस समय, भारत से बांग्लादेश को डीजल आपूर्ति 512 किलोमीटर लंबे रेलमार्ग से की जाती है. 131.5 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन से असम में नुमालीगढ़ से बांग्लादेश तक हर साल 10 लाख टन डीजल की आपूर्ति की जाएगी.

उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ परिवहन व्यय कम होगा, बल्कि कार्बन उत्सर्जन में भी कमी आएगी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पाइपलाइन परियोजना का निर्माण 2018 में शुरू हुआ था. दोनों देशों के बीच यह पहली सीमापार ऊर्जा पाइपलाइन है. इसे लगभग 377 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है, जिसमें से 285 करोड़ रुपये बांग्लादेश में पाइपलाइन बिछाने में खर्च हुए हैं. यह राशि भारत ने अनुदान सहायता के तहत खर्च की है.

इसके माध्यम से शुरुआत में उत्तरी बांग्लादेश के सात जिलों में हाई-स्पीड डीजल भेजा जाएगा.


यह भी पढ़ेंः ‘हम मराठी मानुस हैं’ – कर्नाटक के सीमावर्ती गांवों में पीढ़ियों से चल रहा है पहचान का संघर्ष


share & View comments